Top

मुख्यमंत्री ने हरी झंडी दिखकर 'संकल्प बस सेवा' का किया शुभारंभ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि वर्तमान प्रदेश सरकार लोगों को बेहतर परिवहन सुविधा देने के लिए प्रतिबद्ध है। प्रदेश और समाज की प्रगति के लिए बेहतर परिवहन सेवाएं आवश्यक हैं। 'लोक कल्याण संकल्प पत्र 2017' के संकल्प को मूर्त रूप देने के लिए प्रदेश सरकार प्रत्येक असेवित गांव को बस परिवहन की सुविधा से जोड़ेगी। उन्होंने कहा कि गांव देश की प्राथमिक इकाई है, जिसका वास्तविक विकास कर ही हम एक समर्थ भारत बना सकते हैं।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज यहां अपने सरकारी आवास पर उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की 'संकल्प सेवा' की 50 बसों के शुभारम्भ कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने संकल्प सेवा की बसों को झण्डी दिखाकर रवाना किया। अपने सम्बोधन में में योगी जी ने कहा कि आमजन को बेहतर सुविधाएं मिलें इसके लिए प्रदेश के सभी असेवित गांवों को संकल्प बस सेवा के माध्यम से जोड़ा जा रहा है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारा देश गांवों में बसता है और हर गांव से कोई न कोई सैनिक हमारी सीमा रक्षा के लिए जाता है। इसलिए सरकार ने निर्णय लिया है शहीद सैनिकों के गांव में एक गौरव पथ बनाया जाएगा, जिस पर तोरण द्वार व शहीद की मूर्ति स्थापित की जाएगी।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि परिवहन विभाग और परिवहन निगम के सामने आज यह चुनौती है कि वे अपने को आत्मनिर्भर बनाएं व यात्रियों को सुरक्षित यात्रा भी उपलब्ध करायें। आमजन को बेहतर सुविधाएं देने के लिए परिवहन निगम को निजी परिवहन सेवाओं से भी सम्बन्ध स्थापित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि परिवहन विभाग को बस स्टेशनों को अच्छा बनाने के लिए नगर निगम व प्राधिकरण से समन्वय स्थापित कर लोगों को बेहतर सुविधाएं देने का प्रयास करना चाहिए, इससे परिवहन विभाग की आय में वृद्धि भी होगी।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बस सेवा प्रदेश की 22 करोड़ जनता तक सीधे पहुंच बनाती है, जिससे सरकार की योजनाएं भी गांव के कोने-कोने तक पहुंच सकेंगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने रक्षा बन्धन के पर्व पर महिलाओं के लिए परिवहन निगम की बसों में मुफ्त यात्रा की व्यवस्था की थी।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए परिवहन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि वर्तमान सरकार का लक्ष्य है कि प्रदेश की जनता को बेहतर परिवहन सुविधाएं उपलब्ध हों। इसके लिए परिवहन विभाग को तकनीक से जोड़ने का कार्य किया जा रहा है।
इस अवसर पर राज्य सरकार के मंत्री डाॅ0 महेन्द्र सिंह, उपेन्द्र तिवारी, गिरीश यादव सहित अन्य जनप्रतिनिधि, परिवहन निगम के अध्यक्ष प्रवीर कुमार, प्रमुख सचिव परिवहन आराधना शुक्ला, परिवहन निगम के प्रबन्ध निदेशक पी0 गुरू प्रसाद एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।
ज्ञातव्य है कि वर्तमान सरकार के सत्ता में आने के बाद प्रदेश के लगभग 98 हजार आबाद ग्रामों में से मात्र 59 हजार 560 गांवों में ही परिवहन सेवाएं उपलब्ध थीं। असेवित गांवों को बस परिवहन सुविधा प्रदान करने के लिए परिवहन निगम को 38 हजार 254 असेवित गांवों हेतु परिवहन सेवा प्रदान करने का लक्ष्य सौंपा गया था। इस कार्य के लिए प्रत्येक वर्ष 9 हजार 563 असेवित गांवों को परिवहन सुविधा देने के लिए चरणवार कार्रवाई प्रारम्भ की गई है। इसी कड़ी में नवम्बर, 2017 तक वर्ष 2017-18 हेतु लक्षित 9 हजार 563 असेवित गांवों को परिवहन सेवाओं से जोड़ने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। वर्तमान सरकार के 06 माह के कार्यकाल में उपलब्ध संसाधनों के माध्यम से 4 हजार 766 गांवों को परिवहन सेवा से जोड़ा गया है।

epmty
epmty
Top