Top

ताज पहनने से पहले ही सीएम की अग्नि परीक्षा-कई बड़े नेता नाराज

ताज पहनने से पहले ही सीएम की अग्नि परीक्षा-कई बड़े नेता नाराज

देहरादून। मुख्यमंत्री का ताज विधिवत पहनने से पहले ही नए सीएम की अग्नि परीक्षा शुरू हो गई है। शपथ ग्रहण से पहले उन्हें रूठे नेताओं को मनाना पड़ रहा है, जो किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं है। पार्टी के कुछ बड़े नेता कांग्रेस नेता हरीश रावत के संपर्क में होना बताए जा रहे हैं। भाजपा ने स्थिति की गंभीरता को भांपते हुए डैमेज कंट्रोल शुरू कर दिया है।

2 साल में तीसरा मुख्यमंत्री देखने जा रहे उत्तराखंड शपथ लेने से पहले ही नये सीएम पुष्कर सिंह धामी की अग्नि परीक्षा शुरू हो गई है। भाजपा विधायक दल की बैठक में नेता चुने गए पुष्कर सिंह धामी को अब रूठे नेताओं को मनाना पड़ रहा है, जो किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं है। रूठे हुए नेताओेेें को मनाने के लिए नए सीएम पुष्कर सिंह धामी को बदले में उन्हें मनचाहा विभाग देना पड़ सकता है। भारतीय जनता पार्टी का आलाकमान नाराज नेताओं की बाबत लगातार फीडबैक ले रहा है। पार्टी को तोड़ने या उठापटक करने की कोशिश में जुटे नेता पुष्कर सिंह धामी कैबिनेट से बाहर किए जा सकते हैं। उधर आश्चर्यजनक और बडी खबर यह मिल रही है कि भाजपा के कई बड़े नेता कांग्रेस नेता एवं राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के संपर्क में होना बताए जा रहे हैं। कांग्रेस के सक्रिय होने के बाद भारतीय जनता पार्टी ने डैमेज कंट्रोल शुरू करते हुए रूठों को मनाना शुरू कर दिया है। नये मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी अब खुद ही रूठों को मनाने में जुट गए हैं। उन्होंने मौजूदा मंत्री सतपाल महाराज के साथ मुलाकात की है। जिसके चलते सतपाल महाराज ने उन्हें आश्वासन दिया है कि उनके भीतर नाराजगी जैसी कोई बात नहीं है। इस दौरान कई मुद्दों पर सतपाल महाराज के साथ नए सीएम पुष्कर सिंह धामी द्वारा बात की गई। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के यमुना कॉलोनी स्थित आवास पर भाजपा नेताओं की एक गोपनीय बैठक हो रही है। नये मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण से ठीक पहले इस बैठक में प्रभारी दुष्यंत कुमार और महामंत्री कुलदीप कुमार के अलावा अजय कुमार भी शामिल है। सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक बैठक में पुष्कर सिंह धामी को मुख्यमंत्री बनाए जाने से नाराज चल रहे मंत्री भी बुलाए जा सकते हैं। फिलहाल उत्तराखंड में राजनीतिक पारा बहुत गर्म है और उतार-चढ़ाव तेजी के साथ चल रहा है। इधर भाजपा डैमेज कंट्रोल के लिये सक्रिय हुई है तो उधर कांग्रेस भी उछल कूद मचाने से गुरेज नहीं कर रही है।

epmty
epmty
Top