Top

टूटा ग्लेशियर-रेस्क्यू मे 384 को बचाया-8 की मौत

टूटा ग्लेशियर-रेस्क्यू मे 384 को बचाया-8 की मौत

जोशीमठ। भारत और चीन की सीमा पर सुमना के पास ग्लेशियर टूटने के बाद शुरू किए गए राहत कार्यों के बीच वहां फंसे 384 लोगों को अब तक बचा लिया गया है। त्रासदी की चपेट में आकर मौत के मुंह में समायें 8 लोगों के शवों को बाहर निकाला गया है। 6 लोगों की हालत चिंताजनक बनी हुई है। बताया जा रहा है कि सुमना-टू में क्यू गाड वैली के निकट यह ग्लेशियर टूटा है जो जोशीमठ से 94 किलोमीटर आगे है। राज्य के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने चमोली पहुंचने के बाद जानकारी देते हुए बताया कि नीति घाटी के सुमना में ग्लेशियर टूटने की सूचना मिली है। इस संबंध में सरकार की ओर से अलर्ट जारी कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन को मामले की पूरी जानकारी प्राप्त करने के निर्देश सरकार की ओर से दिए गए हैं। सरकार की ओर से एनटीपीसी एवं अन्य परियोजनाओं में रात के समय काम रोकने का आदेश दिया गया है। ताकि कोई अप्रिय घटना घटित न होने पाए। सीएम ने कहा है कि गृह मंत्री अमित शाह ने नीति घाटी के सुमना में ग्लेशियर टूटने की सूचना का तत्काल संज्ञान लिया है। उन्होंने इस घटना को गंभीरता से लेते हुए उत्तराखंड को आपदा में पूरी मदद देने का आश्वासन दिया है और आईटीबीपी को सतर्क रहने के निर्देश दिए हैं। ग्लेशियर टूटने की वजह से बीआरओ के दो लेबर कैंप इसकी चपेट में आए थे। कैंपों में रह रहे लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है। घटनास्थल से तकरीबन 3 किलोमीटर की दूरी पर आर्मी का कैंप है जो पूरी तरह से अभी तक सुरक्षित है। घटना के तुरंत बाद ही सेना ने रेस्क्यू अभियान शुरू कर दिया था। बचाव व राहत कार्य अभी मौके पर जारी है। घटना में 2 लोगों के मरने की पुष्टि हुई है। बताया गया है कि क्षेत्र में 3 दिनों से मौसम बेहद खराब बना हुआ है। बावजूद इसके राहत व बचाव का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है।




epmty
epmty
Top