Top

राणा उद्योग में करोड़ों की चोरी, मौके से तीन ट्रक पकड़े

राणा उद्योग में करोड़ों की चोरी, मौके से तीन ट्रक पकड़े

देहरादून लॉक डाउन के दौरान राणा ग्रुप ऑफ इंडस्ट्रीज की उत्तराखण्ड में दाहियाकी मंगलोर स्थित राणा उद्योग फैक्ट्री में करोड़ो रूपयों की मशीनरी और स्टील स्क्रैप की चोरी का मामला सामने आने से पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया है ।

राणा ग्रुप ऑफ इंडस्ट्रीज की राणा उद्योग के मैनेजिंग डायरेक्टर जाकिर अली राणा की एफआईआर पर पुलिस ने मौके से मशीनरी और स्टील स्क्रैप से लदे तीन ट्रक पकड़े है।





राणा ग्रुप ऑफ इंडस्ट्रीज की राणा उद्योग के मैनेजिंग डायरेक्टर जाकिर अली राणा की की एफआईआर के मुताबिक राणा उन्होने मंगलौर तहसील के ग्राम दहियाकी में राणा उद्योग के नाम से स्टील फैक्ट्री शुरू की थी जिस पर पंजाब नेशनल बैंक की सेक्टर 4 बीएचईएल हरिद्वार से लोन लिया गया था ।





विश्व भर में आर्थिक मंदी व बाढ़ की वजह से बैंक लोन भुगतान करने में लेट हो गये स्टील प्लांट चलती हालत में पंजाब नेशनल बैंक ने बिना नोटिस दिए फैक्ट्री के सभी कर्मचारियों को फैक्ट्री से बाहर निकाल कर फैक्ट्री को सील कर दिया था। बैंक की और से कई बार फैक्ट्री की नीलामी के लिए नोटिस निकाला बाद में बैंक ने हमें बिना नोटिस दिए प्लांट व मशीनरी को सेल कर दिया ।

बैंक द्वारा प्लांट एवं मशीनरी को बहुत कम मूल्य पर सेल किया । हमारे संज्ञान में आने पर हमने डीआरटी इलाहाबाद ( देहरादून ) से प्लांट एवं मशीनरी की सेल के विरुद्ध स्टे लिया था हमने प्लांट मशीनरी के बेचे हुए मूल्य से अधिक में खरीदने के लिए बैंक में लेेटर भी दिया मगर बैंक ने लेटर को नहीं कबूल नहीं किया ।





पंजाब नैशनल बैंक के एजीएम सिविल लाइंस रुड़की मजूमदार व एसएनजीआईटी सल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड एवं डीआरटी कोर्ट समी खान द्वारा मिलीभगत के तहत कम रेट पर ही प्लांट एवं मशीनरी को बेच दिया गया । एसएनजीआईटी सल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड ने प्लांट एवं मशीनरी और स्टील स्क्रैप फैक्ट्री से निकालना शुरू कर दिया ।


लॉकडाउन के तहत हम लोग राणा उद्योग फैक्ट्री में आने में असमर्थ थे ,लॉक डाउन के दौरान चौकीदारों की मदद से फैक्ट्री से रात के वक्त चोरी से प्लांट एवं मशीनरी के अतिरिक्त माल निकालना शुरू कर दिया ।





हमें ज्ञात हुआ कि रात के वक्त राणा उघोग फैक्ट्री से चोरी से माल निकाला जा रहा है तो हमारे कर्मचारी 31 जुलाई 2020 को राना उद्योग फैक्ट्री में पहुंचे वहां पर पाया कि एसएनजीआईटी सल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड के कर्मचारी सोनू एवं प्रिंस जो कि पंजाब मंडी गोविंदगढ़ के माफिया हैं तीन ट्रकों में माल लोड करा रहे थे । जो कि प्लांट एवं मशीनरी का हिस्सा नहीं है । मौके पर पकड़े गए तीन ट्रक का नंबर एचआर 69 बी -2235 , पी बी 05 ए ल - 9766 , यूपी 11 टी -4793 है ।

हमारे कर्मचारियों ने 100 नंबर को फोन किया । मौके पर पुलिस आई । पुलिस के आने पर उनके कुछ आदमी हैडरा प्रोपराइटर थुरू एकता क्रेन के द्वारा माल ट्रकों में लोड किया जा रहा था । जो कि पुलिस को देखते ही लेबर मौके से भाग गए । पुलिस के द्वारा ड्राईवर की लाइसेंस के फोटो खींची गई एवं ट्रकों की फोटो खींची गई एवं ट्रकों को फैक्ट्री से बाहर निकालने के लिए मना कर दिया गया । इस प्रकार मिलीभगत से करोड़ो की चोरी संज्ञान में आयी ।

epmty
epmty
Top