Top

आधा दर्जन मरीजों की मौत के बाद अस्पताल में हंगामा-तोड़फोड़

आधा दर्जन मरीजों की मौत के बाद अस्पताल में हंगामा-तोड़फोड़

मेरठ। प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी जनपद में भरपूर ऑक्सीजन होने के इंतजाम के दावे कर रहे हैं। उधर अस्पतालों के बाहर पडे कोरोना संक्रमितों के शव अधिकारियों के दावों की पोल खोल रहे हैं। महानगर के न्यूट्रिमा अस्पताल में रविवार की देर रात आधा दर्जन मरीजों की मौत हो जाने के बाद परिजनों द्वारा जमकर हंगामा किया गया। मृतकों के परिजनों ने अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी की वजह से अपने मरीजों की मौत होने का आरोप लगाते हुए जमकर तोड़फोड़ भी कर डाली। सूचना मिलने के बाद कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची और किसी तरह से लोगों को समझा-बुझाकर स्थिति को संभाला। उधर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी अभी तक भी ऑक्सीजन की कमी से मौत की बात को नकार रहे हैं।

दरअसल प्रदेश के अन्य जनपदों की तरह महानगर में भी कोरोना संक्रमण चारों तरफ अपने पांव पसार चुका है। मेडिकल थाना क्षेत्र में गढ़ रोड पर स्थित न्यूट्रिमा अस्पताल में इस समय कोविड-19 की महामारी से पीड़ित कई मरीज भर्ती हैं। बताया जा रहा है कि रविवार की सवेरे से लेकर देर रात तक एक के बाद कई कोविड-19 संक्रमित मरीजों की मौत हो गई। जिसके बाद मृतकों के परिजनों ने ऑक्सीजन की कमी से अपने मरीजों की मौत होने का आरोप लगाते हुए अस्पताल परिसर में हंगामा करना शुरू कर दिया। गुस्साए तीमारदारों का हंगामा यहीं नहीं रुका बल्कि उन्होंने अस्पताल में तोड़फोड़ कर डाली। जिसके चलते अस्पताल स्टाफ में दहशत का माहौल पसर गया। मामले की जानकारी मिलते ही कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची और हंगामा कर रहे लोगों को किसी तरह समझा-बुझाकर शांत किया। इस दौरान मृतकों के परिजनों की पुलिस के साथ तीखी नोकझोंक भी हुई। उधर सीएमओ डॉ अखिलेश मोहन ने दावा किया है कि अस्पताल में ऑक्सीजन पर्याप्त मात्रा में थी। जिन मरीजों की मौत हुई है वह अन्य गंभीर बीमारियों से पीड़ित थे। इसके बावजूद मामले की जांच कराई जा रही है।

epmty
epmty
Top