Top

सीएम ने दिल्ली की घटना को गम्भीरता से लेते हुये लाॅकडाउन को सख्ती से लागू करने के दिए निर्देश : अपर मुख्य सचिव

सीएम ने दिल्ली की घटना को गम्भीरता से लेते हुये लाॅकडाउन को सख्ती से लागू करने के दिए निर्देश : अपर मुख्य सचिव

लखनऊ अपर मुख्य सचिव, गृह एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिल्ली की घटना को गम्भीरता से लेते हुये कहा है कि लाॅकडाउन को शत-प्रतिशत सख्ती से लागू करें। लाॅक डाउन को लेकर और सख्ती बढ़ायी जाये। पैदल यात्रा करने वालों को राउण्ड अप करके जिले के शेल्टर हाउस में भेजकर निर्धारित प्राविधानों का अनुपालन करते हुये उनकी स्क्रीनिंग करायी जाये। तब्लीगी जमात से वापस आने वाले लोगों को ट्रैक कर जांच करायी जाये, यदि रिपोर्ट पाॅजिटिव आती है, तो उन्हें क्वारेन्टाईन करायें। यह भी सुनिश्चित किया जाये कि बिना सूचना दिये कहीं भी, किसी रूप में लोग इकट्ठा निवास न करें। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक इस कार्य के लिये प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित करें।

अवस्थी आज लोक भवन स्थित मीडिया सेन्टर में मीडिया प्रतिनिधियों को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा मुख्यमंत्री पीड़ित सहायता कोष का खाता सेन्ट्रल बैंक ऑफ इण्डिया, कैण्ट रोड लखनऊ, खाता संख्या-1378820696, आईएफएससी कोड-सीबीआईएन0281571 तथा ब्रान्च कोड- 281571 में अधिक से अधिक लोगों से दान दिये जाने की अपील की है। इस सम्बन्ध में समस्त मण्डलायुक्त एवं जिलाधिकारियों को मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा पत्र भी भेजा गया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के आह्वान पर दान देने वालों को सूचित करते हुये उनका अभिवादन भी किया जायेगा। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने एम्बुलेंस 102 एवं एम्बुलेंस 108 के कर्मचारियों के वेतन/मानदेय आदि का तत्काल भुगतान के निर्देश दिए हैं।

अवस्थी ने बताया कि सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि सार्वजनिक स्थानों पर आवश्यक सामग्रियों की रेट लिस्ट प्रदर्शित की जाय तथा रेट लिस्ट को प्रचारित भी किया जाय। उन्होंने बताया कि मुनाफाखोरों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जायेगी, अब तक मुनाफाखोरी करने वाले 46 व्यक्तियों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज करायी जा चुकी है।

अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री के यह निर्देश कि प्रदेश में कोई भूखा न रहे के क्रम में सभी जनपदों में अनिवार्य रूप से कम्युनिटी किचन खुलवाने के निर्देश दिये गये हैं। प्रदेश में कम्युनिटी किचन के माध्यम से प्रतिदिन फूड पैकेट्स तैयार कराकर जरूरतमंदों को उपलब्ध कराया जा रहा है। इस क्रम में प्रदेश में 1291 धार्मिक एवं स्वैच्छिक संस्थाओं द्वारा कुल 462052 लोगों को फूड पैकेट्स उपलब्ध कराये गये। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी द्वारा डोर-टू-डोर व्यवस्था को सुदृढ़ बनाये जाने पर बल दिया गया है ताकि लोगों को आवश्यक सामग्री की आपूर्ति सुगमता से होती रहे। उन्होंने बताया कि प्रदेश में डोर-स्टेप-डिलीवरी व्यवस्था के अन्तर्गत 16410 स्टोर क्रियाशील हैं जिनके माध्यम से 39952 डिलीवरी मैन आवश्यक सामग्री निरंतर पहुंचा रहे हैं। उन्होंने यह भी बताया कि प्रदेश में 228 आटा चक्की का संचालन किया जा रहा है।

अवस्थी ने बताया कि उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड की श्रमिक भरण-पोषण योजना के तहत अब तक 9.63 लाख भवन निर्माण श्रमिकों के खाते में एक-एक हजार रूपए की धनराशि आरटीजीएस के माध्यम से भेजी गई है। उन्होंने यह भी बताया कि मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिए हैं कि कोविड से बचाव का पालन करते हुए ईंट-भट्ठे का कार्य यथावत चालू रखा जाय।

अपर मुख्य सचिव ने प्रेसवार्ता के दौरान यह भी अवगत कराया कि उद्योग विभाग द्वारा फैक्ट्रियों में कार्यरत श्रमिकों को कार्यस्थल पर ही रोकने हेतु 11071 फैक्ट्री मालिकों से बात की गई जिस पर 9500 फैक्ट्रियों द्वारा अपनी सहमति दी गई। 4500 फैक्ट्री द्वारा अपने परिसर में मजदूरों के भरण-पोषण की व्यवस्था की गई जबकि 3930 फैक्ट्री द्वारा लाॅक डाउन अवधि में भी मजदूरों के पारिश्रमिक का भुगतान किया गया है। उन्होंने कहा कि लाॅक डाउन अवधि में किसी का वेतन न रोका जाये तथा समय से वेतन का भुगतान किया जाये।

अवस्थी ने बताया कि प्रदेशवासियों को आवश्यक वस्तुओं की किसी भी प्रकार की कमी न हो, फल एवं सब्जी उपलब्ध कराये जाने के लिए कुल 35586 वाहनों की व्यवस्था की गयी है। इसी क्रम में कुल 34.22 लाख लीटर दूध उपार्जन के सापेक्ष 22.91 लाख लीटर दूध का वितरण 13842 डिलीवरी वैन के माध्यम से किया गया है। उन्होंने बताया कि खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन द्वारा मेडिकल स्टोर एवं अवैध रूप से संचालित हैण्ड सैनिटाईजर एवं मास्क निर्माण इकाईयों का निरीक्षण कर कार्यवाही की गयी तथा शमन शुल्क भी वसूला गया।

अवस्थी ने बताया कि पुलिस विभाग द्वारा की गयी कार्यवाही में 6079 लोगों के विरूद्ध धारा 188 के तहत एफआईआर दर्ज की गई। अब तक कुल 13555 लोग गिरफ्तार किये गये। प्रदेश में कुल 5250 बैरियर व नाके स्थापित किये गये हैं तथा अब तक 12213 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 31804293 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। उन्होंने यह भी बताया कि पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से लोगों को इस महामारी से बचाव हेतु जागरूक किया जा रहा है।



प्रेसवार्ता के दौरान प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि अभी तक प्रदेश में कोरोना के 101 मामले पाॅजिटिव पाये गये हैं, जिसमें से 17 मरीज पूर्णतया स्वस्थ होकर डिस्चार्ज किये जा चुके हैं, अवशेष 84 मरीज विभिन्न चिकित्सालयों में उपचाराधीन हैं। उन्होंने यह भी बताया कि प्रदेश में 08 टेस्टिंग लैब क्रियाशील हैं। प्रयागराज, झांसी एवं राम मनोहर लोहिया चिकित्सा संस्थान लखनऊ में भी टेस्टिंग लैब खोले जाने की कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने यह भी बताया कि प्रदेश में अब तक मात्र 15 जनपदों में ही कोरोना पाॅजिटिव मरीज मिले हैं। उन्होंने बताया कि अन्य जनपदों में जहां अभी तक केस नहीं आये हैं वहां पर भी लगातार सर्विलांस के निर्देश दिये गये हैं, जो भी लोग बाहर से आए हैं उन्हें फैसलिटी क्वारेंटाइन में रखा गया है।

प्रसाद ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने सभी जनपदों में मुख्य चिकित्साधिकारी के अतिरिक्त स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी को भी प्रभारी बनाये जाने के निर्देश दिए हैं जो सम्बंधित जनपद में समुचित प्रशिक्षण, कन्ट्रोल रूम की माॅनीटरिंग, टैªकिंग की व्यवस्था और हेल्थ इक्विपमेंट, पीपीई किट, माॅस्क की सप्लाई चेन को प्रत्येक स्तर पर सुनिश्चित करेंगे।

Top