एसएसपी अभिषेक का शिकंजा-हाथ उठाकर थाने पहुंचा टाॅपटेन बदमाश

एसएसपी अभिषेक का शिकंजा-हाथ उठाकर थाने पहुंचा टाॅपटेन बदमाश

मुजफ्फरनगर। एसएसपी अभिषेक यादव द्वारा जनपद मुजफ्फरनगर को अपराध मुक्त बनाने के लिए अपनी कार्यप्रणाली से अल्प समय में ही अपराधियों के बीच ऐसा खौफ पैदा किया गया है कि किसी दौर के दहशत के ये सौदागर अब आईपीएस अभिषेक यादव की पुलिस टीम के भय के कारण खाली हाथ थानों की दौड़ लगाते हुए जान की अमान मांगते नजर आ रहे हैं।


चरथावल पुलिस ने अपराधियों के खिलाफ चलाये गये आईपीएस अभिषेक यादव के आपरेशन में अभूतपूर्व सफलता अर्जित की है। सुबह सवेरे ही थाना परिसर की सफाई में लीन हो जाने वाले चरथावल थानाध्यक्ष सूबे सिंह क्षेत्र में अपराध और अपराधियों के सफाये में भी माहिर नजर आ रहे हैं। 20 दिनों के भीतर ही चरथावल पुलिस की कार्यवाही के डर से तीन बदमाशों ने थाना पहुंचकर सरेंडर किया और भविष्य में किसी भी प्रकार के अपराध से तौबा की है। इनमें सहारनपुर रेंज का टाॅपटेन शातिर बदमाश भी शामिल है।

एसएसपी अभिषेक यादव ने जनपद में कानून का राज स्थापित करने के लिए अपराधियों के बीच एक कोहराम सा मचा रखा है। हर स्तर पर अपराधियों की घेराबन्दी करते हुए उनको अंजाम तक पहुंचाने के लिए आईपीएस अभिषेक की पुलिस टीम दिन रात सफलता के कई आयाम स्थापित कर रही है। एक ही दिन में पुलिस द्वारा कई कई एनकाउंटर कर बदमाशों को जेल पहुंचाने का काम हो रहा है। इससे अपराधियों में एक भय सा उत्पन्न होने लगा है। यही कारण है कि आज थानों में पहुंचकर बदमाश पुलिस से अपनी जान की अमान मांगते हुए नजर आ हैं। कोई अपराध नहीं करने का शपथ पत्र दे रहा है, तो कहीं किसी दौर में हाथों में हथियार लेकर खौफ का व्यापार करने वाले बदमाश खाली हाथ उठाकर थानों की ओर दौड़ लगाते हुए अपराधमुक्त जीवन जीने की कसमें खाकर पुलिस से पनाह मांग रहे हैं।


ऐसा ही एक नजारा आज चरथावल थाना परिसर में देखने को मिला। मंगलवार को सवेरे थाना परिसर में सफाई के लिए श्रमदान करने के बाद थानाध्यक्ष सूबे सिंह यादव फरियादियों की शिकायत सुनने में व्यस्त थे कि इसी बीच दो युवक हाथ कंधों और सिर से ऊपर उठाते हुए तेज कदमों से चलते हुए उनके पास आये और भविष्य में अपराध नहीं करने की कसमें खाते हुए थानाध्यक्ष के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। इनमें एक बदमाश शातिर अपराधी महताब भी शामिल था। यह दूसरा मौका था जबकि चरथावल पुलिस टीम के के खौफ से बदमाश ने थाने में सरेंडर किया। यह शातिर बदमाश महताब थाना क्षेत्र के गांव कुल्हेडी का निवासी है। थानाध्यक्ष सूबे सिंह ने बताया कि शातिर अपराधी महताब सहारनपुर रेंज का टाॅप टेन बदमाश है। उस पर मुजफ्फरनगर व सहारनपुर सहित अन्य जनपदों में 24 मुकदमे दर्ज हैं। इसके साथ ही पुलिस की कार्यवाही के डर से आईपीसी की धारा 302 में वांछित चल रहे दूसरे बदमाश शाहनवाज निवासी ग्राम कुल्हेडी ने भी थाने में आकर सरेंडर कर दिया। थाना अध्यक्ष सूबे सिंह यादव ने दोनों बदमाशों को जेल भेज दिया। चरथावल पुलिस की इस कामयाबी पर एसएसपी अभिधेक यादव ने प्रसन्नता व्यक्त की और थाना इंचार्ज सूबे सिंह को शाबासी दी है।

20 दिन पहले शातिर बदमाश बब्बू ने किया था सरेंडर


चरथावल थाना क्षेत्र के गांव कुल्हेडी निवासी मौहम्मद दिलशाद उर्फ बब्बू पुत्र जमील अहमद ने 16 अक्टूबर बुधवार को क्षेत्र के कुछ लोगों के साथ थाने पहुंचकर थानाध्यक्ष सूबे सिंह यादव के सामने सरेंडर किया था। इस अभियुक्त ने शपथ पत्र देते हुए भविष्य में अपराध ना करने की कसम खाई। इस दौरान अपराधी दिलशाद ने कहा था कि जनपद में चलाये जा रहे अभियान के कारण उसको पुलिस का भय बना हुआ है। अब वह अपराध का रास्ता छोड़ चुका है और समाज में एक नेकमाश व्यक्ति की भांति रहना चाहता है। दिलशाद ने अपने साथ आये लोगों और पुलिसकर्मियों के समाने ही अपराध से तौबा करते हुए जान की अमान मांगी और शपथ देकर अपराध छोड़ने की घोषणा की थी।

आज दो बदमाशों ने हाथ उठाकर थाने में सरेंडर किया। संयोग यह है कि ये तीनों बदमाश ही गांव कुल्हेडी के निवासी हैं। बदमाशों के सरेंडर के यह मामले इस बात के साक्षी हैं कि आज मुजफ्फरनगर में एसएसपी अभिषेक यादव का अपराध मुक्त जनपद बनाने का उद्देश्य कहीं ना कहीं पूरा होता नजर आ रहा है। समाज को भयमुक्त बनाये रखने में जुटी पुलिस का खौफ अब बदमाशों में साफ नजर आता है।

Top