Top

बस स्टैंड वे रेलवे स्टेशन पर होगी कोरोना टेस्टिंग

बस स्टैंड वे रेलवे स्टेशन पर होगी कोरोना टेस्टिंग

मथुरा। उत्तर प्रदेश के मथुरा में बाहर से आनेवाले तीर्थयात्रियों तथा अन्य के माध्यम से कोरोना वायरस के संक्रमण का प्रसार रोकने के लिए रेलवे स्टेशन और बस स्टेशनों पर टेस्टिंग को तेज कर दिया गया है।

मथुरा में भी संक्रमण बढ़ने लगा है तथा पिछले 24 घंटे में 74 लोगों को संक्रमित पाया गया है।

जिलाधिकारी नवनीत सिह चहल ने पत्रकारों को आज बताया कि वैसे तो स्टेशनो और बस स्टेशनों पर बाहर से आनेवाले यात्रियों की टेस्टिंग पहले से ही की जा रही है किंतु जब से मथुरा के कुछ क्षेत्रों को कोविद-19 संक्रमण के कारण सील कर कन्टेन्मेन्ट जोन घोषित करना पडा़ तब से टेस्टिंग और कान्टैक्ट ट्रेसिंग को बढ़ा दिया गया है।

उन्होंने बताया कि टीकाकरण अभियान ने भी गति पकड़ ली है। अभी तक बुजुर्गों को लग रहे कोरोना के टीके के बाद अब विशेष समूह के अंतर्गत 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के व्यक्तियों के लिए भी इस अभियान को आज से शुरू कर दिया गया है।

जिलाधिकारी ने बताया कि कोविड-19 टीकाकरण अभियान में तेजी लाने के लिए और हर व्यक्ति तक यह सुविधा पहुंचाने का प्लान तैयार कर लिया गया है। विभाग ने फील्ड में सक्रिय रहने वाले लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करने के लिए अभियान चलाए जाने का निर्णय लिया है। इसमें 45 वर्ष से अधिक उम्र के पत्रकारों, शिक्षकों, टैक्सी, ऑटो ड्राइवरों, बैंक कर्मियों, वकीलों को टीकाकरण कराने के लिए प्रेरित किया जा रहा है जिससे लोग कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित हो सकें। आज से दो दिन के लिए पत्रकार व मीडिया से संबंधित व्यक्तियों व खुदरा व बड़े दुकानदारों के टीकाकरण को शुरू कर दिया गया है।

10 अप्रैल को बैंक व बीमा कर्मचारी, 12 से 14 अप्रैल तक स्कूल व कालेज के शिक्षक, 15 व 16 अप्रैल को आटो, रिक्शा, बस, टैक्सी ड्राइवर, फेरी वाले व निर्माण कर्मचारी, 17 से 19 अप्रैल तक अन्य सरकारी अधिकारी व कर्मचारी (फ्रंट लाइन वर्कर्स को छोड़कर), 20 व 21 अप्रैल को न्याय पालिका कर्मचारी व वकील, 22 व 23 अप्रैल को निजी कार्यालयों के कर्मचारियों का टीकाकरण किया जाएगा।

वार्ता



epmty
epmty
Top