उ0प्र0 खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड की 47वीं बैठक सम्पन्न'खादी महोत्सव-2019' माह फरवरी के अन्तिम सप्ताह में

उ0प्र0 खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड की 47वीं बैठक सम्पन्नखादी महोत्सव-2019 माह फरवरी के अन्तिम सप्ताह में

लखनऊ। प्रदेश के खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी की अध्यक्षता में आज यहां उ0प्र0 खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड के मुख्यालय में खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड की 47वीं बैठक आहूत की गयी।

बोर्ड बैठक में जनहित से जुड़े कई प्रस्तावों को मंजूरी प्रदान की गयी तथा खादी एवं ग्रामोद्योगी गतिविधियों के उन्नयन हेतु विभिन्न सुझावों पर विस्तृत चर्चा की गयी। यह जानकारी देते हुए प्रमुख सचिव, खादी एवं ग्रामोद्योग, नवनीत सहगल ने बताया कि बोर्ड बैठक में निर्णय लिया गया है कि जिन मण्डलों में विभागीय प्रशिक्षण केन्द्र नहीं हैं, वहां मण्डल स्तर पर नये प्रशिक्षण केन्द्र की स्थापना करते हुए अधिक से अधिक लोगों को प्रशिक्षण उपलब्ध कराया जाए। विभिन्न विभागीय कार्याें के गुणवत्तापूर्ण क्रियान्वयन एवं परियोजनाओं को तैयार किये जाने हेतु आउटसोर्स पर कंसलटेन्ट एवं विशेषज्ञ नियुक्त किये जाने सम्बन्धी प्रस्ताव को भी मंजूरी दी गयी।

सहगल ने बताया कि पर्यावरण संरक्षण के दृष्टिगत बोर्ड के नवीन भवन की छत पर सोलर पावर पैनल की स्थापना के साथ-साथ विद्युत चालित 03 वाहन किराये पर लिये जाने का भी निर्णय लिया गया। उन्होंने बताया कि माह फरवरी के अन्तिम सप्ताह में एक वृहद खादी महोत्सव-2019 के आयोजन का निर्णय लिया गया है। इसके अतिरिक्त खादी एवं ग्रामोद्योग इकाइयों को एक छत के नीचे विपणन सुविधा उपलब्ध कराये जाने हेतु जनपद मुज्जफरनगर, नजीबाबाद एवं लखनऊ में खादी प्लाजा की स्थापना के साथ-साथ जनपद कानपुर एवं बिजनौर में खादी पार्क की स्थापना को भी मंजूरी प्रदान की गयी।

प्रदेश के प्रत्येक जनपद में खादी एवं ग्रामोद्योगी इकाईयों के साथ ओ0डी0ओ0पी0 के अन्तर्गत उत्पादित वस्तुओं के विक्रय हेतु प्रत्येक जनपद में पी0पी0पी0 माॅडल के अन्तर्गत स्टोर एवं बिक्री भण्डार खोलने पर सहमति व्यक्त की गयी है। साथ ही बोर्ड के विभागीय हस्त निर्मित कागज केन्द्र के पुनर्रूद्धार हेतु शीघ्र कार्यवाही किये जाने का निर्णय लिया गया। बोर्ड में यह भी निर्णय लिया गया कि बोर्ड के सदस्यगण प्रदेश के विभिन्न जनपदों में भ्रमण कर खादी एवं ग्रामोद्योगों के उत्थान हेतु अपने बहुमूल्य सुझावों के साथ-साथ अन्य प्रदेशों पर भ्रमण करते हुए वहां के उत्कृष्ट उत्पादों का उत्तर प्रदेश में उत्पादन एवं तत्क्रम में रोजगार सृजन किये जाने हेतु कार्ययोजना प्रस्तुत करेंगे।

epmty
epmty
Top