बुन्देलखण्ड इलाके के किसानों को मिल रही सिंचाई की सहूलियत

बुन्देलखण्ड इलाके के किसानों को मिल रही सिंचाई की सहूलियत

उत्तर प्रदेश की सरकार बुन्देलखण्ड के किसानों को फसलोंत्पादन हेतु विभिन्न बाँध बनाकर सिंचाई सुविधा उपलब्ध करा रही है। बुन्देलखण्ड क्षेत्र की 07 परियोजनायें जमरार बाँध पहंज बाँध पुनरोद्वार, पहाड़ी बाँध, गुण्टाबाँध, पथराई बाँध लहचूरा एवं मौदहा का कार्य पूर्ण हो गया है।। कुल 832 करोड़ रू0 की लागत से बने इन बाँधों से 670 गाँवों के 63100 किसानों द्वारा 37919 हेक्टेयर भूमि का सिंचन किया जा रहा है। प्रदेश सरकार बुन्देलखण्ड में सिंचाई सुविधा के लिए विशेष पैकेज के अन्तर्गत कई परियोजनाओं पर कार्य करा रही है। ललितपुर के 10 गाँवों के 1700 कृषकों की 3025 हेक्टेयर भूमि के सिंचन हेतु 70.74 करोड़ की लागत से बन रहे बण्डई बाँध का अवशेष कार्य शीघ्रता से पूर्ण कराया जा रहा है।


बुन्देलखण्ड क्षेत्र की रसिन बाँध लोअर रोहनी बाँध, लोअर रोहनी कैनाल का नवीनीकरण का कार्य शीघ्रता से पूर्ण हो रहा है



उत्तर प्रदेश सरकार की बुन्देलखण्ड क्षेत्र की रसिन बाँध लोअर रोहनी बाँध, लोअर रोहनी कैनाल का नवीनीकरण का कार्य शीघ्रता से पूर्ण हो रहा है और जाखलौन पम्प कैनाल के हेड पर सोलर पैनल लगाकर 2.50 मेगावाट बिजली का उत्पादन करने की परियोजना पर कार्य चल रहा है। इस परियोजना के पूर्ण हो जाने पर प्रतिवर्ष लगभग 60 लाख यूनिट ग्रीन ऊर्जा प्राप्त होगी। जनपद ललितपुर के 3800 हेक्टेयर भूमि के सिंचन हेतु भावनी बाँध परियोजना शीघ्र ही पूर्ण होगी। जनपद झाँसी के बबीना ब्लाक के 15 ग्रामों के 4400 हेक्टेयर भूमि की सिंचाई हेतु 246.84 करोड़ रू0 की लागत से बबीना नहर परियोजना का निर्माण कार्य पूर्ण किया जा रहा है। उसी तरह 619.91 करोड़ की लागत से कचनौदा बाॅध का निर्माण कराया जा रहा है। इस परियोजना के पूर्ण होने पर 10850 हेक्टेयर भूमि की सिंचाई की जा सकेगी।


प्रदेश सरकार किसानों कोे कम पानी से अधिक फसल उत्पादन करने के लिए स्प्रिंकलर पद्धति से सिंचाई करने के लिए योजना भी चला रही है


प्रदेश सरकार किसानों कोे कम पानी से अधिक फसल उत्पादन करने के लिए स्प्रिंकलर पद्धति से सिंचाई करने के लिए योजना भी चला रही है स्प्रिंकलर पद्धति से सिंचाई करने के लिए सरकार ने ललितपुर की तहसील तालबेहट के 4 ग्रामों के 1500 किसानों की 1740 हेक्टेयर भूमि के सिंचन हेतु शहजाद बाँध स्प्रिंकलर सिंचाई परियोजना, महोबा के तहसील कुलपहाड़ के 08 ग्रामों के 1100 किसानों की 2700 हेक्टेयर भूमि की ंिसंचाई हेतु कुलपहाड़ स्पिंकलर सिंचाई परियोजना तथा हमीरपुर की तहसील मौदहा के 02 ग्रामों के 200 किसानों की 600 हेक्टेयर भूमि की सिंचाई हेतु मझगवां चिल्ली स्प्रिंकलर सिंचाई परियोजना का निर्माण कार्य करा रही है। जो शीघ्र ही पूर्ण हो रहा है। बुन्देलखण्ड क्षेत्र के किसानों को सिंचाई सुविधा मुहैया कराने के लिए प्रदेश सरकार लगातार कार्य कर रही है। जिससे उनके फसलोत्पादन में बढ़ोत्तरी करके उनकी आमदनी दोगुनी करने के संकल्प को पूरा किया जा करके उनकी आमदनी दोगुनी करने के संकल्प को पूरा किया जा सके।


Top