डीजीपी ओपी सिंह को मुजफ्फरनगर में शहर कोतवाल की 'लखटकिया' सलामी

डीजीपी ओपी सिंह को मुजफ्फरनगर में शहर कोतवाल की लखटकिया सलामी

लखनऊ। मुजफ्फरनगर पुलिस ने जनपद के दौरे पर आये पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह का धमाकेदार अंदाज में स्वागत किया। डीजीपी के आगमन पर एक लाख के इनामी बदमाश को मुठभेड़ में गिरफ्तार करने का जौहर शहर कोतवाल इंस्पेक्टर अनिल कपरवान ने अपनी टीम के साथ दिखाया तो पुलिस प्रमुख ने अपराध उन्मूलन के लिए पुलिस की उपलब्धि पर टीम को शाबासी भी दी।

उत्तर प्रदेश के पुलिस प्रमुख डीजीपी ओपी सिंह मंगलवार की शाम मुजफ्फरनगर में दौरे पर पहुंचे। डीजीपी के दौरे को लेकर एसएसपी सुधीर कुमार सिंह के नेतृत्व में जनपद पुलिस पूरी तरह से अलर्ट नजर आयी। किसी बड़े अफसर के आगमन पर अक्सर ही मातहत अधिकारियों के हाथ पांव फूले नजर आते है, लेकिन उत्तर प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद अपराध उन्मूलन में उत्कृष्ट उपलब्धियों के साथ प्रदेश आगे चल रही मुजफ्फरनगर पुलिस में डीजीपी के आगमन पर कोई घबराहट नहीं थी, बल्कि पुलिस पूरे उत्साह से लबरेज नजर आयी। डीजीपी के आगमन के लिए भव्य स्वागत की तैयारियों में जुटी मुजफ्फरनगर पुलिस ने धमाकेदार अंदाज में उनको सलामी पेश करते हुए स्वागत किया। शहर कोतवाली के इंस्पेक्टर अनिल कपरवान के नेतृत्व में एसएसआई समयपाल अत्री सब इंस्पेक्टर अक्षय शर्मा सिपाही अमित तेवतिया आदि ने डीजीपी ओपी सिंह को लखटकिया सलामी पेश करते हुए उनका मुजफ्फरनगर आगमन पर अभिनन्दन किया।


बता दें कि डीजीपी ओपी सिंह अपने दो दिवसीय दौरे पर मंगलवार शाम मुजफ्फरनगर पहुंचे थे, एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने डीजीपी ओपी सिंह का जनपद आगमन पर स्वागत किया। उनकी अगुवाई में पूरे जनपद में पुलिस सतर्क, सजग और अलर्ट नजर आयी। इसी बीच शहर कोतवाली पुलिस की बदमाशों से मुठभेड़ हो गयी, इसमें पुलिस ने इंस्पेक्टर अनिल कपरवान के नेतृत्व में एक लाख के इनामी बदमाश को गिरफ्तार किया। दरअसल मामला नगर कोतवाली क्षेत्र के वहलना बाईपास का है। जहां पर चेकिंग के दौरान बाइक सवार दो संदिग्ध युवक जा रहे थे। जिन्हें शहर कोतवाली पुलिस ने रोकने का प्रयास किया तो बाइक सवार दोनों संदिग्ध युवकों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। जवाब में पुलिस ने भी बाइक सवार दोनों संदिग्धों पर फायरिंग की। जिसमें बाइक सवार एक युवक को गोली लगी। जिसकी पहचान एक लाख के इनामी बदमाश शमीम के रूप में हुई है। इस मुठभेड़ में एक पुलिसकर्मी भी गोली लगने से घायल हुआ। पुलिस के अनुसार शमीम नाम का यह बदमाश बेहद शातिर है। जो हथियार तस्करी के मामले में पहले भी दिल्ली और यूपी से जेल जा चुका है। डीजीपी की मौजूदगी में शहर कोतवाल इंस्पेक्टर अनिल कपरवान के इस जौहर ने पुलिस का उत्साह बढ़ाया।

बता दें कि जनवरी 2018 में शहर कोतवाली का चार्ज संभालने वाले इंस्पेक्टर अनिल कपरवान ने कई एनकाउंटर कर अपराध उन्मूलन में कामयाबी हासिल की। कई बदमाशों को उन्होंने आमने सामने के टकराव के बाद लंगडा कर जेल भिजवाया है। उनके द्वारा पहला एनकाउंटर 6 फरवरी को किया गया। इसमें मेरठ के सोहारका डबल मर्डर में वांछित 50 हजार रुपये के इनामी कुख्यात बदमाश विकास जाट का एनकाउंटर भी शामिल है। इसके अलावा उनके द्वारा इस एनकाउंटर के दस दिन बाद ही बडकली मोड पर 10 हजार के इनामी बदमाश को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया। इसी दिन बुढ़ाना मोड पर दूसरी मुठभेड़ में दस हजारी बदमाश आस मौहम्मद को लंगडा कर पकड़ा गया। जबकि इसके दो दिन बाद शहर कोतवाली पुलिस ने खालापार में अवैध शस्त्र बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया तो वहीं 29 मई को काली नदी पुल के पास सूजडू के जंगल से बड़ी अवैध असलाह बनाने की फैक्ट्री का खुलासा करते हुए दो असलाह कारोबारी इमरान व अकरम को जेल भिजवाया। आठ अपै्रल को शहर कोतवाल अनिल कपरवान के नेतृत्व में पुलिस ने बुढ़ाना मोड पर बदमाशों को घेरकर ललकारा और इस एनकाउंटर में बदमाश फरमान को पैर में गोली मारकर पुलिस ने गिरफ्तार किया। 15 मई को गहराबाग में मुठभेड़ के बाद पुलिस ने 12500 के इनामी बदमाश अरशद को पकड़ा, तो नौ जुलाई को पीनना के जंगल में 25 हजार के इनामी बदमाश इरफान उर्फ पहलवान को गिरफ्तार किया। 13 अगस्त को सादपुर राजवाहे की पटरी पर मुठभेड़ के बाद पुलिस ने रामवीर और सोनू नामक बदमाशों को दबोचा, ये बदमाश लूट की वारदात में वांछित चल रहे थे। जबकि 6 नवम्बर को 25 हजार के इनामी बदमाश सरफराज को एनकाउंटर में लंगडा करते हुए जेल भिजवाया, इसी दिन 25 हजार के वांछित बदमाश सरताज को बहेडी फाटक रोहाना से गिरफ्तार किया गया और इसके बाद अब डीजीपी के आगमन पर शहर कोतवाल अनिल कपरवान ने लखटकिया शमीम की एनकाउंटर में गिरफ्तारी से अनोखी सलामी दी।

epmty
epmty
Top