रक्षाबंधन विशेष - यूपी में पुलिस का खाकी विद राखी

रक्षाबंधन विशेष - यूपी में पुलिस का खाकी विद राखी

लखनऊ । उत्तर प्रदेश सरकार के मुखिया योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर यूपी पुलिस अपना चेहरा बदलने की जी तोड़ कोशिश में लगी है और इसमें काफी हद तक वह सफल भी हुई है। अब यूपी पुलिस की छवि आमजन में मित्र पुलिस की बनती जा रही है। यह सब अचानक नहीं हुआ है। राज्य के मुख्यमंत्री ने विगत वर्ष की भांति इस बार भी रक्षाबंधन के अवसर पर बहनों के लिए जहां 14 अगस्त की रात 12 बजे से 15 अगस्त की रात 12 बजे तक यूपी रोडवेज मुफ्त कर दी है, उसी तर्ज पर पुलिस अफसरों ने छोटी-छोटी बच्चियों से राखी बंधवाकर न केवल रक्षाबंधन के पर्व को नया आयाम दिया है, बल्कि पुलिस का चेहरा और अधिक मानवीय करने की दिशा में एक कदम और आगे बढ़ाया है। ऐसा नहीं है कि यह पहली बार हुआ है, इससे पूर्व भी यहां बतौर एसएसपी अपनी नियुक्ति के दौरान अनन्तदेव तिवारी ने बच्चियों से न केवल राखी बंधवाई थी, बल्कि राखी बंधवाने की ऐवज में उन्हें एक-एक दिन का कोतवाल भी बना दिया था।

मुज़फ्फरनगर में बच्चियों ने थाना प्रभारी समयपाल अत्री को बंधी राखी

आज मुज़फ्फरनगर के थाना सिविल लाइन में छोटी-छोटी मासूम बच्चियों ने थाना प्रभारी समयपाल अत्री और अन्य पुलिसकर्मियों को बांधी राखी। राखी बांधने के दौरान जहां बच्चियां प्रफुल्लित नजर आयी, वहीं पुलिसवालों के चेहरे पर अलग ही रौनक दिखायी दी। राखी बंधवाने पर पुलिसकर्मियों ने सभी बच्चियों को उनकी सुरक्षा का भरोसा दिया और उन्हें मिठाई खिलाई।




सहारनपुर के नानौता थानाध्यक्ष भानु प्रताप सिंह को भी मिली राखी

सहारनपुर के नानौता थाना क्षेत्र के एकल विद्यालय के प्रमुख राकेश कुमार व अध्यक्ष मुकेश चौधरी के नेतृत्व में आज आचार्य मीनाक्षी देवी, पूजा, मधु, रूमा, काजल, दीपा, सीना, स्वीटी, अर्चना, राजकुमारी, मुनेश, ऋतु, मीना, सुनीता, रजनी, संगीता व राधा आदि ने नानौता थाने पहुंचकर थानाध्यक्ष भानु प्रताप सिंह, एसआई केपी सिंह, मनोज राठी, जयसिंह भाटी व संदीप कुमार सहित पुलिसकर्मियों को राखी बांधकर उनसे महिलाओं की सुरक्षा का वचन लिया।





गोरखपुर दो दर्जन से अधिक बच्चियों ने पुलिस अधीक्षक यातायात को बांधी राखी

आम के आम गुठलियों के दाम वाली कहावत चरितार्थ करते हुए एसपी ट्रैफिक आदित्य प्रकाश वर्मा ने जहां बच्चियों से राखी बंधवाकर पुलिस-पब्लिक की दूरी को कम करने का प्रयास किया, वहीं उन्होंने राखी बांधने आयी बच्चियों को यातायात का नियमों का ज्ञान कराते हुए उन्हें तथा अभिभावकों से उनका पालन करने का आहवान भी किया।एसपी यातायात के कार्यालय उस समय नजारा देखने लायक था, जब सुबह अचानक खजनी क्षेत्र से आई लगभग दो दर्जन से भी अधिक स्कूली बच्चियां वहां पहुची और पुलिस अधीक्षक यातायात आदित्य प्रकाश वर्मा को रक्षाबंधन बांधी। उन्होंने कहा कि हम आपके कार्यो से प्रभावित होकर यहाँ पर आये है। एसपी यातायात आदित्य प्रकाश वर्मा ने भी उनका गर्मजोशी से स्वागत किया और सभी राखी बंधवायी। इस अवसर पर वहां मौजूद सभी पुलिसवालों की कलाई पर स्कूली बालिकाओं द्वारा बांधी गयी राखी से सजे नजर आये। सभी ने उन बालिकाओं को मिठाई खिलाकर उन्हें नगद व उपहार भी दिये। एसपी देहात ने राखी बंधवाने के बाद सभी बालिकाओं को ज्यामेट्री बाॅक्स गिफ्ट किया, जिसमें पम्पलेट के द्वारा यातायात के सारे नियम समझाये गये थे। एसपी यातायात ने सभी से ट्रैफिक रूल फाॅलो करने व अपने अभिभावकों को ट्रैफिक रूल्स फाॅलो कराने का आहवान किया।




ज्ञात हो कि इससे पूर्व पिछले साल भी पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह के निर्देश पर मुज़फ्फरनगर के तत्कालीन एसएसपी अनन्तदेव तिवारी समेत सभी पुलिसकर्मियों ने राखी बंधवाई थी। नई मण्डी कोतवाली में तत्कालीन कोतवाल हरशरण शर्मा समेत सभी पुलिसकर्मियों ने राखी बंधवाई थी । मुज़फ्फरनगर के ही थाना पुरकाजी में सीओ रिजवान अहमद और थाना प्रभारी निरीक्षक विजय कुमार के नेतृत्व में साथी पुलिस अफसरों सहित पुलिसकर्मियों ने,मुज़फ्फरनगर के थाना तितावी में सीओ कालू सिंह व थाना प्रभारी सूबे सिंह ने साथी पुलिसकर्मियों सहित राखी बंधवाकर बहनों को उनकी रक्षा का वचन दिया था। रक्षाबंधन के मौके पर मुज़फ्फरनगर एसएसपी अनंत देव तिवारी ने राखी बांधने आईं दो लड़कियों को उन्होंने दो मिनट में ही चार घंटे के लिए थाना प्रभारी बना दिया था। ये पहला मौका था, जब किसी बहन को रक्षाबंधन पर एक दिन का थाना प्रभारी बनने का गिफ्ट मिला था। आयुषी को सिविल लाइंस व सना थानवी को नई मंडी का थानेदार बनाया गया था। इस दौरान उन्हें थाने में किस तरह से काम किया जाता है, जैसी तमाम तरह की जानकारी दी गई थी। इतना ही नहीं जब रक्षाबंधन के पवन पर्व पर महिला दरोगा निधि चौधरी ने अपने कप्तान अनंत देव तिवारी को राखी बाँधी, उन्होंने राखी बांधने के उपहार में अपनी बहन को गाँधी कॉलोनी का चौकी इंचार्ज बना दिया था। बुढ़ाना में बस स्टैंड पर सीओ हरिराम सिंह यादव के साथ बुढ़ाना कोतवाली प्रभारी प्रभाकर कैंतुरा, कस्बा इंचार्ज सब इंस्पेक्टर शौबीर नागर, सब इंस्पेक्टर हरेंद्र सिंह व हमराह शिवकुमार त्यागी ने यात्री बहनों के साथ महिला पुलिसकर्मी बहनों से राखी बंधवाई थी। शाहपुर थाने में प्रभारी निरीक्षक कुशल पाल सिंह व कस्बा इंचार्ज सचिन त्यागी, सब इंस्पेक्टर निर्दोष त्यागी हमराह विपिन राणा ने थाने में व गश्त के दौरान लड़कियों से राखी बंधवाकर उन्हें अपना मोबाइल नंबर देते हुए सुरक्षा का वचन दिया था।




बता दें कि उत्तर प्रदेश पुलिस के डीजीपी ओपी सिंह से प्रदेश के सभी पुलिसकर्मियों को रक्षाबंधन का त्यौहार मनाने के निर्देश दिए है। डीजीपी ने सभी प्रदेश में सभी थानों को निर्देश दिया है कि सभी थाना प्रभारी अपने थानों पर महिलाओं और बच्चियों को पुलिसकर्मियों की कलाई पर राखी बांधने के लिए आमंत्रित करें और पुलिसकर्मियों को उसके बदले प्रदेश की हर महिला और बच्ची की सुरक्षा का वचन लें। डीजीपी ओपी सिंह के इस फैसले से जहां एक तरफ पुलिस की छवि आम जनता के बीच बेहतर होगी और एक बेहतर विश्वास कायम होगा। माना जा रहा है कि बेहतर कानून व्यवस्था और आम लोगों में पुलिस के प्रति विश्वास कायम करने की ये पहल जनता को सीधे पुलिस से जोड़ रही है।

epmty
epmty
Top