लघु सिंचाई योजनाओं में शत-प्रतिशत लक्ष्य पूरा करेंचेकडेम निर्माण में गुणवत्ता का ध्यान रखा जाये - प्रो.एस.पी. सिंह बघेल

लघु सिंचाई योजनाओं में शत-प्रतिशत लक्ष्य पूरा करेंचेकडेम निर्माण में गुणवत्ता का ध्यान रखा जाये - प्रो.एस.पी. सिंह बघेल

लखनऊ। प्रदेश के लघु सिंचाई एवं भूगर्भ जल मंत्री प्रो0 एस.पी. सिंह बघेल ने निःशुल्क बोरिंग, गहरी बोरिंग, मध्यम बोरिंग तथा अन्य योजनाओं के शेष कार्य अतिशीघ्र पूरा किए जाने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। उन्होंने कहा कि वर्षा जल संचयन योजना, पानी पंचायत का गठन एवं बुन्देलखण्ड पैकेज के कार्य प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण कराये जाएं।

प्रो0 बघेल आज यहां योजना भवन स्थित सभागार में लघु सिंचाई एवं भूगर्भ जल विभाग के कार्यों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सभी योजनाओं के लिए जारी की गई धनराशि का उपयोग अवश्य कर लिया जाय तथा जल संचयन के लिए चेकडेमों के निर्माण में गुणवत्ता का ध्यान रखा जाये। उन्होंने कहा कि चेकडेम एवं तालाब निर्माण में शिलान्यास के समय स्थानीय सांसद एवं विधायक को भी बुलाया जाये और शिलान्यास पट पर उनका भी नाम अंकित कराया जाये।

बैठक में प्रमुख सचिव, लघु सिंचाई एवं भूगर्भ जल विभाग, अनीता सिंह ने लघु सिंचाई मंत्री को पिछली बैठक में अपेक्षित कार्यवाही के बिन्दुओं पर अनुपालन की स्थिति एवं योजनाओं की अद्यतन प्रगति से अवगत कराया। उन्होंने मुख्य अभियन्ता, लघु सिंचाई को जनपदों में डैशबोर्ड पर भूजल संरक्षण मिशन की सभी सूचनाएं नियमित रूप से अपलोड कराने तथा सभी लक्ष्यों को फरवरी के अन्त तक पूर्ण कराना सुनिश्चित किए जाने के भी निर्देश दिए।

बैठक में विशेष सचिव, लघु सिंचाई एवं भूगर्भ जल, जुहैर बिन सगीर, मुख्य अभियनता लघु सिंचाई डी.एन. शुक्ला, अनुसचिव संजय शुक्ला तथा जनपदों से आये अधिकारी उपस्थित थे।

epmty
epmty
Top