Top

कम बाराती लाने पर दुल्हन के चाचा का शादी से इंकार-गांववालों ने दी दुल्हन

कम बाराती लाने पर दुल्हन के चाचा का शादी से इंकार-गांववालों ने दी दुल्हन

मथुरा। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए लोग निर्धारित की गई कोविड-19 गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे हैं। दूसरी तरफ कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करते हुए दूल्हा पक्ष के लोग जब गाजे-बाजे के साथ बारात लेकर गांव में पहुंचे तो दुल्हन के चाचा ने कम बाराती लाने पर शादी से इंकार कर दिया। मायूस होकर लौट रहे दूल्हे को अंत में गांव वालों ने एक अन्य दुल्हन देकर विदा किया।

दरअसल मामला जनपद मथुरा के थाना राया क्षेत्र के गांव तेहरा का है। तेहरा महावन गांव के निवासी मदन पाल ने अपनी बेटी का रिश्ता थाना मांड के नगला मनी निवासी सूरजपाल के पुत्र ओमहरि के साथ तय किया था। दोनों पक्ष की ओर से निर्धारित किए गए कार्यक्रम के मुताबिक वर पक्ष कोरोना को ध्यान में रखते हुए 25 से 30 लोगों की बारात लेकर नगला मनी से तेहरा महावन गांव पहुंचा। बाराती बैंड बाजे की धुन पर मौज मस्ती के बीच नाचते गाते हुए लड़की पक्ष के दरवाजे की तरफ बढ़ रहे थे। एकाएक दुल्हन के चाचा की ओर से कहीं गई दो टूक बात से खुशी का माहौल मायूसी में तब्दील हो गया। दरअसल वधू के पिता मदन पाल के भाई केहरी ने बारात में कम आदमियों को लाने की बात कहते हुए शादी करने से मना कर दिया। यह बात सुनकर दूल्हा पक्ष मायूस हो गया। हालांकि शादी करने के लिये वधू पक्ष को मनाने की कोशिश की गई लेकिन दुल्हन का चाचा मानने को तैयार नहीं हुआ। गांव वालों को जब यह बात पता चली तो बारात के वापस जाने को उन्होंने अपनी तौहीन माना। जिसके चलते दूल्हे को शादी कराने का आश्वासन दिया गया और सोगरवार निवासी मुकेश की पुत्री से ओमहरि के विवाह की सारी रस्में पूरी कराई गई। हंसी खुशी के माहौल के बीच दुल्हन पक्ष की ओर से बेटी को विदा किया गया।





epmty
epmty
Top