Top

पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों का विरोध शुरू, नहीं खुलें कॉलेज-स्कूल, बाजार

पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों का विरोध शुरू, नहीं खुलें कॉलेज-स्कूल, बाजार

भुवनेश्वर। देश में रोजाना निरंतर बढ रहे पेट्रोल-डीजल व रसोई गैस के बढ़ते दामों के विरोध में आहूत किये कांग्रेस के बंद में स्कूल-काॅलेज और बाजार बंद रहे। मंहगाई को लेकर आहूत बंद को लोगों का व्यापक समर्थन मिलने से लोग आवश्यक वस्तुओं के साथ पान-बीडी सिगरेट के लिए भी तरस गये।

सोमवार को रोजाना लगातार देश मेें पेट्रोलियम कंपनियों द्वारा बढ़ाएं जा रहे डीजल-पेट्रोल व रसोई गैस के दामों से उबाल खाई कांग्रेस की ओर किये गये बंद के आह्वान के मददेनजर राजधानी भुवनेश्वर समेत राज्य के सभी काॅलेज-स्कूल नहीं खुलें। सवेरे सात बजे से शुरू हुए बंद से बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जुलूस निकालकर देश में रोजाना बढते दामों को लेकर केंद्र सरकार की नीतियों को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि बहुमत के नशे में डूबी केंद्र सरकार को बढती मंहगाई से लोगों को हो रही परेशानियों की कोई भी परवाह नही है।

पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों के विरोध में कांग्रेस ने 15 फरवरी यानी आज ओडिशा में बंद का आह्वान किया है। कांग्रेस के 6 घंटे के बंद के आह्वान के मद्देनजर ओडिशा सरकार ने अहम फैसला लेते हुए राज्य के सभी स्कूलों, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों को बंद कर दिया है। सुबह 7 बजे से शुरू हुआ कांग्रेस का बंद दोपहर एक बजे समाप्त हो गया। बंद के दौरान बाजारों में पूरी तरह से सन्नाटा पसरा रहा। हाईवे समेत छोटी बडी सडकों पर वाहनों की आवाजाही बुरी तरह से प्रभावित रही। ओडिशा देश का ऐसा पहला राज्य बन गया, जहां डीजल-पेट्रोल और रसोई गैस के बढते दामों के विरोध में बाजार, स्कूल-काॅलेज बंद रहे। कांग्रेस के सोमवार को आहूत बंद के मददेनजर स्कूल और मास शिक्षा मंत्री एसआर दाश ने रविवार को ही कह दिया था कि 'राज्य सरकार ने छात्रों की सुरक्षा को देखते हुए सभी स्कूलों, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों को बंद करने का फैसला लिया है।

बंद के दौरान टेक्निकल इंस्टीट्यूट और इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग सेंटर भी नहीं खुलें। गौरतलब है कि 9 महीने के लंबे वक्त के बाद 8 जनवरी को ओडिशा में एक बार फिर से स्कूल खुले थे। ओडिशा में कांग्रेस के बंद के मद्देनजर पूरे राज्य में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। जानकारी के मुताबिक, राज्य सरकार ने अपने सभी कर्मचारियों को सुबह 9.30 बजे से पहले कार्यालय पहुंचने के आदेश जारी किए हैं। वहीं ओडिशा बस ओनर्स एसोसिएशन ने कहा कि जब तक बंद जारी रहा, तब तक बस सेवा भी अवरुद्ध रही।

हालाकि कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष निरंजन पटनायक द्वारा रविवार को की गई घोषणा के मुताबिक सभी जरूरी सेवाओं, मरीजों के लिए सेवाओं और विवाह समारोहों को बंद के दायरे से बाहर रखा गया था। जिसके चलते दवाओं की दुकानें व नर्सिंग होम बंद के दौरान खुले रहे। कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष ने पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर केंद्र सरकार को जिम्मदार ठहराते हुए उन पर अनुचित कर लगाने का आरोप लगाया। निरंजन पटनायक ने कहा, 'जरूरी वस्तुओं की कीमतों में ईंधन की लागत बढने की वजह से इजाफा हुआ है'।

epmty
epmty
Top