Top

डीएम ने की मुख्यमंत्री के सम्भावित दौरे के मददेनजर विकास कार्यो की समीक्षा, कहा- शिथिलता बर्दाश्त नहीं

डीएम ने की मुख्यमंत्री के सम्भावित दौरे के मददेनजर विकास कार्यो की समीक्षा, कहा- शिथिलता बर्दाश्त नहीं

मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी अजय शंकर पाण्डेय ने आज विकास भवन सभागार में मुख्यमंत्री के सम्भावित दौरे के मददेनजर विकास कार्यो की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिये कि शासन की मंशा के अनुरूप कार्य किया जाये। उन्होने कहा कि विकास कार्यो मे किसी भी प्रकार की शिथिला पर कडी कार्यवाही होगी। सभी अधिकारी केन्द्र सरकार एवं प्रदेश सरकार की संचालित सभी योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्ति तक पहुचाना सुनिश्चत करे। उन्होने कहा कि ग्राम वासियों को बिजली की आपूर्ति, पेयजल एवं अन्य सभी आवश्यक बुनियादी सुंविधाएं उपलब्ध कराई जाये। उन्होने निर्देश दिये कि शासन की जो कल्याणकारी योजनाए चल रही है उनकी प्रगति से अवगत कराया जाये।



जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी से आयुष्मान योजना के सम्बन्ध में निर्देश दिये कि आयुष्मान योजना का लाभ दिया जाना सुनिश्चत किया जाये। उन्होने कडे निर्देश देते हुए कहा कि आयुष्मान कार्डो का वितरण कराना सुनिश्चत किया जाये और स्वास्थ्य सेवाओं को और अधिक बेहतर बनाया जाये। जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिये कि 30 जून तक कार्यो को पूर्ण कराया जाना सुनिचश्त करे। जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता सिचाई निर्देश दिये कि नहरों की टेल तक पानी पहुचाया जायें और उसकी एक कार्ययोजना बनाकर प्रस्तुत की जाये। उन्होने कृषि विभाग केा निर्देश दिये कि किसानों का सब्सिडी युक्त उपकरण एवं खाद्य व बीज उलब्ध कराये जाये। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की समीक्षा करते हुए उप निदेशक कृषि को निर्देश दिये कि किसानो का डाटा पोर्टल पर फीड कराया जाये। उप निदेशक ने बताया कि जनपद के 2 लाख 31 हजार 508 किसानों में से 2 लाख 20 हजार किसानों को डाटा पोर्टल पर फीड कराया जा चुका है बाकी का कराया जा रहा है। जिलाधिकारी ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि योजना के सम्बन्ध मे वृहद प्रचार प्रसार कराया जाये। और इस कार्य मे बीमा कम्पनी का भी सहयोग लिया जाये। किसान पारदर्शी योजना, मृदा परीक्षण, खाद, यूरिया की उपलब्धता फसली ऋण योजना के सम्बन्ध समीक्षा की।

जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि विकास कार्यो मे किसी भी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नही की जायेगी। उन्होने कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप सभी अधिकारी शासन द्वारा संचालित समस्त योजनाओं का लाभ समाज के पात्र व्यक्तियों तक पहुंचायें। जिलाधिकारी द्वारा पेंशन योजनाओ की भी समीक्षा की गयी। उनहोने निर्देश दिये कि योजनाओं में प्राप्त आवेदन पत्रों का सत्यापन करा लिया जाये इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता न बरती जाये। उन्होने विधाव पेशन, विकलांग पेशन, वृद्वावस्था पेशन व छात्रवृत्ति की समीक्षा की। उन्होने निर्देश दिये कि सभी पात्रों को आवेदन कराकर योजना का लाभ दिया जाना सुनिश्चित करे। उन्होने प्रधानमंत्री आवास योजना एवं मनरेगा तथा राशन वितरण की भी समीक्षा की। जिलाधिकारी ने गौवंश आश्रय स्थलों की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि गौवशं आश्रय स्थलो का निर्माण शीघ्र कराया जाये। कोई भी आवार पशु सडक पर घूमता हुआ न दिखाई दे। उसके आश्रय स्थल में भिजवाना सुनिश्चत किया जाये। गौवंश आश्रय स्थलों में जनसहभागिता सुनिश्चत की जाये। उन्होने निर्देश दिये कि भूसा बैंक की स्थिति, कितनों मे निर्माण कार्य चल रहा है, आश्रय स्थलों में पानी भूसे चारे की स्थिति व भूसा उपयोग के सापेक्ष उसका उपभोग प्रमाण पत्र उपलब्ध कराया जाये। उन्होने वृहद गौ सरंक्षण की समीक्षा भी की। उन्होने पाईप पेय जल योजना की समीक्षा करते हुए कडे निर्देश दिये कि पाईप पेय जल योजनाओ को सुचारू रूप से संचालित किया जाये। उनहोनेक कहा कि जो पेय जल योजना किन्ही कारणो से बन्द है उन्हे ठीक कराकर चालू कराया जाये। इसमे किसी भी प्रकार की कोताही न बरती जाये। उन्होने निर्देश दिये कि शहर मे चल रही सीवर का कार्य भी शीघ्र पूर्ण कराया जाये। बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिये स्कूल चलों अभियान के अन्तर्गत शतप्रतिशत पंजीकरण कराना सुनिश्चत किया जाये। स्कूल ड्रेस, बैग, जूता मोजे का वितरण समय से किया जाना सुनिचत करे। उन्होने डीएसओ केा निर्देश दिये कि आधार कार्ड फीडिग शतप्रतिशत करनी सुनिश्चत की जाये। उन्होने वृक्षारोपण की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि सभी विभाग कार्ययोजना बनाकर प्रस्तुत करे एवं वन विभाग को लक्ष्य के सापेक्ष खोदे गये गढढों की सूची उपलब्ध कराये।

इस अवसर पर प्रभारी मुख्य विकास अधिकारी महेन्द्र प्रसाद, अपर जिलाधिकारी अमित सिंह, सीएमओ, डीडीओ सहित सभी जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

epmty
epmty
Top