Top

प्रदेश के 3.4 करोड़ बच्चों को पिलायी जायेगी पोलियो की खुराक - पंकज कुमार

लखनऊ। विश्व में पोलियो की वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए दिनांक 23 जून 2019 से उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में सघन पल्स पोलियो अभियान चलाया जायेगा जिसके तहत लगभग 3 करोड़ 40 लाख बच्चों को पोलियो खुराक पिलायी जायेगी। इस अभियान में पहले दिन लगभग 1 लाख 10 हजार बूथों पर एवं दूसरे दिन से छठें दिन तक लगभग 66 हजार टीमों एवं 22,000 पर्यवेक्षकों के द्वारा घर-घर भ्रमण कर 0-5 वर्ष तक के सभी बच्चों को पोलियो की खुराक पिलायी जायेगी। यह जानकारी देते हुए प्रदेश के राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन निदेशक, श्री पंकज कुमार ने बताया कि लगभग 6500 ट्राजिंट टीमें एवं 1700 मोबाइल टीमें भी बस-टैम्पों स्टैण्ड, रेलवे स्टेशन तथा ईट भट्टों तथा प्रदेश के दूरस्थ क्षेत्रों में कार्यरत रहेंगी।

मिशन निदेशक ने बताया कि उत्तर प्रदेश पिछले 8 वर्ष 11 महीने से पोलियो मुक्त स्थिति सफलतापर्वूक बनाए हुए है। प्रदेश में पोलियो का अंतिम मामला 21 अप्रैल 2010 को फिरोजाबाद जिले में पाया गया था। प्रदेश को पोलियो मुक्त बनाये रखने के लिए तब तक प्रयासरत रहना होगा जब तक कि पोलियो बीमारी पूरे विश्व से खत्म नहीं हो जाती है। इसके लिए पोलियो विषाणु के संक्रमण को फैलाने में घुमंतु तथा प्रवासी परिवारों को विशेष रूप से चिन्हित किया गया है। जिनमें घुमंतु, निर्माणाधीन स्थलों में रहने वाले, स्थायी एवं अस्थायी मलीन बस्तियों में रहने वाले, ईंट भट्ठों में रहने वाले एवं दूरस्थ क्षेत्रों में रहने वाले परिवारों को प्रतिरक्षित करने के लिए पोलियो अभियान में विशेष रूप प्रयास किये जा रहे है।

उन्होंने जानकारी दी कि प्रदेश में नेपाल बार्डर पर 30 टीकाकरण पोस्ट स्थापित किए गए है जिनमें वर्ष 2017 में 5ए52ए733, वर्ष 2018 में 31 दिसम्बर तक 5ए21ए263 तथा वर्ष 2019 में मई 2019 तक 2,08,445 बच्चों को प्रतिरक्षित किया गया है। ये टीकाकरण पोस्ट वर्ष भर संचालित रहते हैं। इसके साथ ही भारत सरकार के आदेशानुसार प्रदेश के प्रत्येक जनपद में पोलियो संक्रमित देशों (अफगानिस्तान, नाइजीरिया, पाकिस्तान, सोमालिया, कीनिया, सीरिया एवं इथोपिया, कैमरून) से आने-जाने वाले सभी यात्रियों का पोलियो वैक्सीन से आच्छादन किया जा रहा है। फरवरी 2014 से मई 2019 तक 1,03,203 लोगों को पोलियो की खुराक से आच्छादित किया जा चुका है।

इस अभियान में नवजात शिशुओं एवं 5 वर्ष तक के सभी बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाया जाना है, जिससे प्रदेश को पोलियो मुक्त रखा जा सके।

epmty
epmty
Top