Top

प्रदेश के 22 जिला चिकित्सालय सुदृढ़ीकरण कार्यक्रम से होंगे उच्चीकृत -पंकज कुमार

लखनऊ। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, उत्तर प्रदेश के तत्वाधन में प्रदेश के चिन्हित 22 चिकित्सालयों में जिला चिकित्सालय सुदृढीकरण कार्यक्रम का संचालन किया जा रहा है, जिसके अन्तर्गत चिन्हित चिकित्सालयों को यथासम्भव उच्चीकृत करने, मानव संसाधन, उपकरणों की अपूर्ति और आधारभूत ढाचें के सुदृढीकरण करने, प्रदेश में मेडिकल सप्लाई काॅर्पोरेशन के माध्यम से आवश्यक उपकरण एवं फर्नीचर आदि की अपूर्ति करने का कार्य किये जा रहे हैं।

यह जानकारी देते हुए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, उत्तर प्रदेश के मिशन निदेशक, पंकज कुमार ने बताया कि चिन्हित चिकित्सालयों मे से 9 चिकित्सालयों को प्रशिक्षण केन्द्रोें के रूप में विकसित किया जा रहा है, जिसमें-डाॅ0 राम मनोहर लोहिया संयुक्त चिकित्सालय लखनऊ, बलरामपुर चिकित्सालय लखनऊ, डा0 श्यामा प्रसाद मुखर्जी चिकित्सालय लखनऊ, यू0एच0एम0 चिकित्सालय कानपुर नगर, टी0बी0 सप्रु चिकित्सालय प्रयागराज, एस0एस0पी0जी0 चिकित्सालय वाराणसी, पी0एल0 शर्मा जिला चिकित्सालय मेरठ, महाराण प्रताप जिला संयुक्त चिकित्सालय बरेली एवं वीरांगना अवंतीबाई चिकित्सालय लखनऊ को लिया गया है। इन सभी चिकित्सालयो में नेशनल बोर्ड ऑफ एग्जाॅमिनेशन के माध्यम से डिप्लोमेट आफ नेशनल बोर्ड (डी॰एन॰बी॰) कोर्स चलाया जा रहा है। डी0एन0बी0 को सम्पूर्ण भारत में मान्यता प्राप्त है तथा अन्य मान्यता प्राप्त चिकित्सा विश्वविद्यालयों द्वारा दी जा रही एम0डी0, एम0एस0 डिग्री के समकक्ष है।

उन्होंने बताया कि प्रदेश में विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमी को दूर करने में यह एक महत्वपूर्ण कदम है। इस वर्ष कुल 10 विषयों में यथा मेडिसिन, सर्जरी, एनेस्थेसियोलाजी, पीडियाट्रिक्स, आर्थाेपेडिक्स, रेसपिरेटरी डिजीजस, इमर्जेन्सी मेडिसिन, पैथोलाजी, ई॰एन॰टी॰, आब्स एंड गायनी विषयों में लगभग 70 सीटों पर डी0एन0बी0 कोर्स का संचालन किया जायेगा। शिक्षण एवं प्रशिक्षण कार्यो के गुणवत्तापूर्ण बनाने के उद्देश्य से चिन्हित चिकित्सालयों के सम्बन्धित विभागों में सीनियर रेजीडेंटस भी रखे जा रहे है। इस योजना के सफल संचालन से आगामी वर्षों में लगभग 70-80 विशेषज्ञ चिकित्सक प्रति वर्ष तैयार किये जायेगें। अतिरिक्त विशेषज्ञ चिकित्सक प्राप्त होने के साथ-साथ इस योजना के अन्तर्गत चिकित्सकीय सुविधाओं में भी सुधार होगा। आक्समिक एवं गहन चिकित्सा सेवाओं के सुदृढीकरण हेतु समस्त 22 चिकित्सालयों में हाई डिपेंडेसी यूनिट्स का भी प्राविधान किया जा रहा है।

epmty
epmty
Top