Top

द्रमुक अध्यक्ष ने की सरकारी स्कूलों के छात्रों को आरक्षण देने के विधेयक की सिफारिश

द्रमुक अध्यक्ष ने की सरकारी स्कूलों के छात्रों को आरक्षण देने के विधेयक की सिफारिश

चेन्नई। तमिलनाडु में मुख्य विपक्षी दल द्रमुक अध्यक्ष एम के स्टालिन ने राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित से अंडर ग्रेजुएट मेडिकल पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए सरकारी स्कूलों के छात्रों को 7.5 प्रतिशत आरक्षण प्रदान करने वाले विधेयक को तत्काल स्वीकृति देने का आग्रह करते हुये कहा कि उनकी पार्टी राज्य के अधिकारों की रक्षा के लिए सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक के साथ संयुक्त रूप से आंदोलन करने के लिए तैयार है।

स्टालिन ने इस मुद्दे पर बुधवार को अपने एक ट्वीट में पुरोहित को एक पत्र टैग किया। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री ई के पलानी स्वामी को आंदोलन की प्रकृति और इसके आयोजन के समय और स्थान को लेकर एक घोषणा के साथ सामने आकर सभी दलों के नेताओं के साथ विचार-विमर्श करना चाहिए। द्रमुक अध्यक्ष ने कहा कि यह मुद्दा तमिलनाडु विधानसभा के अधिकारों से संबंधित है, जिसने यूजी मेडिकल पाठ्यक्रमों में सरकारी स्कूलों के छात्रों को 7.5 प्रतिशत आरक्षण प्रदान करने वाले विधेयक को सर्वसम्मति से पारित किया है और इस विधेयक को राज्यपाल की स्वीकृति के लिए भेजा है। उन्होंने कहा कि पुरोहित के लिए विधेयक को स्वीकृति देने में देरी करना उचित नहीं हाेगा। उन्होंने कहा कि हाल ही में नीट के परीक्षा परिणाम की घोषणा हुई है इसलिए बिना किसी देरी के इस विधेयक को तत्काल स्वीकृति मिल जाने पर सरकारी स्कूलों के छात्रों को इस शैक्षणिक वर्ष में ही यूजी मेडिकल पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए आरक्षण का लाभ मिल जाएगा।

स्टालिन ने कहा, "मैं द्रमुक की ओर से आपसे विधेयक को तत्काल स्वीकृति देने और सरकारी स्कूल के छात्रों के चिकित्सा के क्षेत्र में आगे बढ़ने के सपने को साकार करने में मदद करने का आग्रह करता हूं।"

epmty
epmty
Top