Top

जरा सी चूक पड गई जान पर भारी

जरा सी चूक पड गई जान पर भारी

ग्वालियर। मुरैना और ग्वालियर स्टेशन के बीच एक जरा सी चूक के कारण एक यात्री की जान खतरे में पड़ गई। गनीमत इस बात की रही कि छोटी सी चूक के बाद किये गये भूल सुधार से उसकी जान तो बच गई लेकिन इस दौरान उसने अपने दोनों पैर गवां दिये।

दरअसल शनिवार को एक इंजीनियर युवक को ग्वालियर से चलकर हैदराबाद जाना था। लेकिन जल्दबाजी के चक्कर में छोटी सी चूक करते हुए इंजीनियर दिल्ली जाने वाली रेलगाड़ी में सवार हो गए। जब तक उसे गलत रेलगाड़ी में सवार होने का एहसास हुआ, उस समय तक रेलगाड़ी अपनी रफ्तार पकड़ चुकी थी। आनन-फानन में इंजीनियर ने चैन खींची और रेलगाड़ी के रुकने का इंतजार किए बगैर ही वह चलती ट्रेन से कूद पड़ा। इस दौरान शरीर पर नियंत्रण न बन पाने की वजह से इंजीनियर रेलगाड़ी की चपेट में आ गया। इस हादसे में उसके दोनों पैर टूट गए।

दरअसल राज्य के भिंड निवासी 35 वर्षीय कप्तान सिंह पुत्र उदयवीर सिंह हैदराबाद की एक कंपनी में इंजीनियर के पद पर कार्यरत हैं। फिलहाल वह छुट्टी मनाने के लिए अपने घर आया हुआ था। जब उसकी छुट्टियां खत्म होने को आई तो वह शनिवार को सदन एक्सप्रेस में सवार होकर हैदराबाद जाने के लिए ग्वालियर पहुंचा। इसी दौरान प्लेटफार्म पर सीटी बजाती हुई एमपी संपर्क क्रांति एक्सप्रेस आ गई। इंजीनियर स्टेशन पर आई रेलगाडी का नाम और नंबर की जानकारी किये बगैर ही भीतर जा बैठा। प्रस्थान का समय होने पर रेलगाडी ने सीटी बजाई और अपनी मंजिल की तरफ चल दी। रायपुर स्टेशन गुजरने के बाद इंजीनियर को अपनी गलती का पता चला। गाड़ी रोकने के लिए उसने चैन खींच दी। लेकिन रुकने की इंतजार किए बगैर ही हडबडाहट में वह चलती रेलगाड़ी से ही कूद गया। इस दौरान वह अपने शरीर पर नियंत्रण नही रख सका और वह रेल गाड़ी के पहिए के बीच फंस गया। गंभीर हालत में इंजीनियर को मुरैना लाया गया। जहां प्राथमिक उपचार देने के बाद एंबुलेंस की मदद से इंजीनियर को ग्वालियर के ट्रामा सेंटर के लिए रेफर कर दिया गया

epmty
epmty
Top