Top

सन्त गाडगे जयंती पर सपाइयों ने लिया उनके विचारों पर चलने का संकल्प

सन्त गाडगे जयंती पर सपाइयों ने लिया उनके विचारों पर चलने का संकल्प

मुजफ्फरनगर। संत गाडगे बाबा को जयंती पर नमन करते हुए सपा जिलाध्यक्ष व महानगर अध्यक्ष ने कहा कि वे चलते फिरते सामाजिक शिक्षक थे। किसी भी गांव में प्रवेश करते ही बाबा अपने अनुयायिओं के साथ मिलकर गांव की नालियों व सड़कों पर सफाई अभियान चलाकर स्वच्छता का सन्देश देते थे।

मंगलवार को सपा के महावीर चैक स्थित कार्यालय पर सन्त गाडगे बाबा जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में सपाईयों ने बाबा को नमन कर अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किये। समाज सुधारक व स्वच्छता अभियान के सन्देशवाहक सन्त गाडगे बाबा जयंती पर सपा जिलाध्यक्ष प्रमोद त्यागी एडवोकेट की अध्यक्षता व सपा जिला महासचिव जिया चैधरी के संचालन में विचार गोष्ठी आयोजित की गई। सपा जिलाध्यक्ष प्रमोद त्यागी एडवोकेट व सपा महानगर अध्यक्ष अलीम सिद्दीकी ने सन्त गाडगे बाबा के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि वे चलते फिरते सामाजिक शिक्षक थे। बाबा किसी भी गांव में प्रवेश करते ही अपने अनुयायिओं के साथ मिलकर गांव की नालियांे व सड़कांे पर सफाई अभियान चलाकर स्वच्छता का सन्देश देते थे। उनका नाम देवीदास डेबूजी था जो (धोबी) कन्नौजिया समाज मे जन्मे तथा वह बाबा भीमराव आंबेडकर के मिशन से अत्यधिक प्रभावित होकर समाज मे फैले अंधविश्वास व आडंबर को समाप्त करने के लिए कीर्तन आयोजित कर लोगो को समाज सुधार का संदेश देते रहे। सपा उनके महत्वपूर्ण योगदान पर उनकी जयंती पर नमन करती है।

सपा जिला उपाध्यक्ष विनय पाल प्रमुख, जिला कोषाध्यक्ष सचिन अग्रवाल, सपा जिला मीडिया प्रभारी साजिद हसन ने सन्त गाडगे बाबा जयंती पर अपने विचारों में कहा कि वह घर घर से भिक्षा के रूप में पैसा इकट्ठा कर उनसे धर्मशालाओं, चिकित्सालयों, विधालयांे व छात्रावासों का निर्माण कर समाज के गरीब वंचित समाज के लिए अग्रणी कार्य करते रहे। उन्होंने खासतौर पर दलित बस्तियों में घुसकर सफाई अभियान व स्वच्छ पानी के लिए अभियान चलाकर समाज को नई दिशा देने का कार्य किया। सपा जिला महासचिव जिया चैधरी, मजदूर सभा जिलाध्यक्ष नासिर राणा, सपा सांस्कृतिक प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष डॉ इसरार अल्वी, इकराम प्रधान व वीरेंद्र तेजियांन ने कहा कि उनके समाज सुधार कार्यो व जीवन संघर्ष तथा स्वच्छता अभियान से समाज में बड़ा प्रभावी सन्देश पहुंचा था। इसलिए उनके गृहराज्य महाराष्ट्र में अनेक विधालयों व अस्पतालों को उनका नाम देने के साथ कई सरकारी अभियान व राष्ट्रीय पुरस्कार भी सन्त गाडगे बाबा के नाम पर 1960 के दशक में उनके नाम पर शुरू किए गए जो आज भी लगातार जारी है। सपा पदाधिकारियों कार्यकर्ताओं ने उनके जीवन व विचार अभियानों को अपनाने का संकल्प लिया। आयोजन में मुख्यरुप से सपा नेता राजीव बालियान, प्रधान जगपाल सिंह गुर्जर, शमशाद अहमद, निधिश राज गर्ग, सन्दीप धनगर, आशीष त्यागी, सावन कुमार एडवोकेट, टीटू मलिक, सुमित पंवार बारी, सुरेश बारी, नईम अंसारी सहित अनेक सपा कार्यकर्ता मौजूद रहे।

epmty
epmty
Top