Top

आपदा में देश-आर्थिक संकट में लोग-सरकार कर रही लूट मचाई

आपदा में देश-आर्थिक संकट में लोग-सरकार कर रही लूट मचाई

नई दिल्ली। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने डीजल-पेट्रोल के रोजाना बढ़ते हुए दामों पर केंद्र सरकार को घेरते हुए कहा है कि जब देश आपदा में था और देशवासी आर्थिक संकट झेल रहे थे तो सरकार ने डीजल-पेट्रोल पर तरह-तरह के टैक्स लगाते हुए ढाई लाख करोड रुपए कमा लिए।

बृहस्पतिवार को अपने फेसबुक अकाउंट पर एक पोस्ट करते हुए कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की घेराबंदी करते हुए कहा है कि देश पिछले काफी समय से कोरोना वायरस के संक्रमण की आपदा को झेल रहा है। कोरोना की रफ्तार को थामने के लिये लगभग सभी राज्यों में लगाए गए कोरोना कर्फ्यू और लॉकडाउन की पाबंदियों के चलते ठप्प हुई आर्थिक गतिविधियों की वजह से देशवासी अभी तक भी आर्थिक संकट झेल रहे हैं। ऐसे हालातों में देशवासियों की मदद करने के बजाय केंद्र सरकार ने आपदा में अवसर तलाशते हुए डीजल-पेट्रोल पर तरह तरह के टैक्स लगाए और ढाई लाख करोड़ रुपए कमा लिए।

उन्होंने कहा है कि आखिर कोरोना की महामारी और लगाए गए लॉकडाउन से लोगों को परेशानी के अलावा और क्या मिला है? उन्होंने पिछले दिनों के आंकड़े जारी करते हुए कहा है कि 6 जून 2020 को देश में पेट्रोल का दाम 71 रूपये और डीजल का दाम 69 रूपये प्रति लीटर था। इसके ठीक 1 साल बाद 6 जून 2021 को पेट्रोल के दाम 95 रूपये और डीजल के दाम लोगों से 85 रूपये प्रति लीटर वसूले जा रहे हैं। उन्होंने कहा है की डीजल पेट्रोल की महंगाई का असर देश के सभी क्षेत्रों में पड़ रहा है। डीजल के दाम अधिक होने से मालभाडा भी बढ़ गया है। जिसका सीधा असर रोजमर्रा के काम आने वाली वस्तुओं के दामों पर पड़ा है। जिसके चलते देशवासी मंहगाई से त्राहिमाम-त्राहिमाम कर रहे है। मगर सरकार को मंहगाई से लोगों को होती परेशानियां नजर नही आ रही है।

epmty
epmty
Top