Top

एम्स का निर्माण कार्य समय से होता तो बचाई जा सकती थी कई एनटीपीसी पीड़ितों की जान : अदीति सिंह

एम्स का निर्माण कार्य समय से होता तो बचाई जा सकती थी कई एनटीपीसी पीड़ितों की जान : अदीति सिंह

रायबरेली : एनटीपीसी की खौफनाक हादसे पर कांग्रेस की विधायक अदिति सिंह ने अफसोस जाहिर करते हुए सेन्ट्रल हकूमत पर सवालिया निशान साधते हुए कहा कि यदि वक्त से जिले मे अधूरा एम्स बन जाता तो इतनी मौते होने से बचाया जा सकता था क्यो कि जिस तरह से जख्मीयो को ट्रामा सेंटर लखनऊ और दूसरे दिन अस्पतालों मे भेजना पडा़ इस दौरान घायलों को कई घंटों का सफर कराया गया अगर जिले का एम्स बन कर चालू हालत मे होता तो उनका फोरीतौर पर इलाज करा कर जाने बचाई जा सकती थी.

एक प्रेस वार्ता मे दौरान पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए अदीति सिंह ने कहा कि इस हादसे पर वह किसी तरह की सियासत नही कर रही है और न ही नेताओ की तरह बाते कर रही है .लेकिन पिछली यूपीए सरकार के समय से प्रस्तावित 1100 बेडो का एम्स के विकास पर इस सरकार में दो प्रतिशत भी काम नही हुआ ।जिस तरह भाजपा सरकार में जनता से जुड़े विकास के कार्यो में राजीति की गई है यह नही होनी चाहिये लेकिन रायबरेली के एम्स में यही हुआ है.तभी तो रायबरेली एम्स के बजट में भी कटौती की गई।

कांग्रेस विधायक अदीति सिंह ने कहा की केंद्र सरकार द्वारा एक ओर गोरखपुर में एम्स के शिलान्यास किया जाता है लेकिन रायबरेली एम्स के बजट उपलब्ध नही कराया जाता है .

कांग्रेस विधायक अदीति सिंह ने कहा यह गन्दी सियासत है इससे अवाम हलकान होगी ।कांग्रेस विधायक अदीति सिंह ने कहा कि एम्स के निर्माण में पहली किश्त 170 करोड़ मिलने के बाद से बजट न मिलने के कारण एम्स का विकास कार्य ठप पड़ गया ।साल 2009 में केंद्र सरकार की ओर से रायबरेली में एम्स के निर्माण की मंजूरी दी गई थी जिसके निर्माण के लिये 829 करोड़ का बजट निर्धारण किया गया था ।इसके बाद साल 2012 में 97 एकड़ जमीन एम्स के लिये अधिग्रहित हुई.।लेकिन 57 एकड़ जमीन का अधिग्रहण अभी बाकी पड़ा है .

कांग्रेस विधायक अदीति सिंह ने बताया कि जुलाई 2015 में प्रोजेक्ट का बजट 1427 करोड़ रुपये किया गया ।लेकिन 170 करोड़ मिलनके बाद अगले बजट की मंजूरी केंद्र की व्यय वित्त समिति द्वारा नही दी गई,उन्होनें सरकार से सवाल पूछा है कि जनता के साथ खिलवाड़ करने के लिये भाजपा की यह राजनीति नही है तो और क्या है ?उन्होंने कहा कि एम्स को लेकर खुद उन्होंने कईबार धरना दिया है किंतु केंद्र सरकार के कानों पर जूं तक नही रेंगी .

कांग्रेस विधायक अदीति सिंह ने बताया कि 14 करोड़ खर्च होने के बाद भी एम्स की ओपीडी सुचारू रूप से नही चल सकी, ऊँचाहार घटना पर कहा कि अभी निर्माण कार्य अधूरा था लापरवाही के चलते कई परिवार उजड़ गये ।जिसकी जांच होनी चाहिए ।

epmty
epmty
Top