कुपोषित बच्चों के परिवारों को मनरेगा जाॅब कार्ड, राशन कार्ड एवं शौचालय की सुविधा उपलब्ध कराने की निर्देश

शामली जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने कलेक्ट्रेट सभागार में जिला पोषण समिति की बैठक

शामली जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने कलेक्ट्रेट सभागार में जिला पोषण समिति की बैठक में सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने डीपीओ को निर्देश दिए की सभी आंगनवाड़ी केन्द्रों पर वजन मशीन उपलब्ध कराई जाए। उन्होंनें कहा कि समस्त तहसीलों व ब्लाको में उपजिलाधिकारी की अध्यक्षता में पोषण समिति की बैठक कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कुपोषित बच्चों के परिवारों को मनरेगा जाॅब कार्ड, राशन कार्ड एवं शौचालय की सुविधा उपलब्ध कराने की निर्देश दिए।


डीपीओ संतोष कुमार श्रीवास्तव द्वारा बताया गया कि अतिकुपोषित बच्चों की संख्या जनपद में 5954 है। ऐसे अतिकुपोषित बच्चों के परिवार है जिनके मनरेगा जाॅब कार्ड 5850 परिवारों के नहीं बने है। ऐसे परिवार है जिनके 195 राशन कार्ड नहीं बने है। उन्होंने यह भी बताया कि जनपद में ऐसे भी परिवार है जिसके 117 शौचालय नहीं बने। जिलाधिकारी ने डीपीओ को निर्देशित करते हुए कहा कि डीपीआरओ, जिला पूर्ति अधिकारी व सम्बन्धित अधिकारी को लिखित में दिया जाये ताकि समय से मनरेगा जाॅब कार्ड, राशन कार्ड, शौचालय बन सकें। उन्होंने सम्बन्धित को निर्देशित करते हुए कहा कि यथा शीघ्र कार्य को पूर्ण कर लिया जाये। उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये।


जिलाधिकारी ने अखिलेश सिंह ने गर्भवती महिला महिलाओं को हरी सब्जी खाने के लिये जोर दिया। उन्होंने कहा कि आंगनवाड़ी केन्द्रों पर गर्ववती महिलाओं की नियमित जांच और पोषण समय पर देने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि सभी गर्ववती महिलाओं की आंगनवाड़ी केन्द्रों पर नियमित रूप से जांच कराई जाए। पोषण आहार केन्द्रों पर समय से वितरित किया जाए। उन्होंने कहा कि बच्चों का वजन सही तरीके से कराया जाए और उसका रोस्टर भी बनाया जाए। उन्होंने कहा कि लाल श्रेणी से पीली श्रेणी से हरी श्रेणी में जाने वाले बच्चों का सत्यापन मुख्य सेविका द्वारा कराये जाने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि राशन की मंशा हेतु कोई भी बच्चा कुपोषण का शिकार न हो। उन्होंने कहा कि कुपोषित बच्चों, गर्भवती महिलाओं के सुधार के लिये जनपद में लगाए गए अधिकारियों को विशेष ध्यान देना होगा तथा आवश्यकता पड़ने पर बच्चों को बेहतर ईलाज व देखभाल हो सकें। उन्होंने कहा कि गांव में बच्चों, किशोरियों व गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण एवं बेसिक शिक्षा अधिकारी से विधालयों में आयरन की गोली वितरण के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की।

इस अवसर पर डीपीओ संतोष कुमार श्रीवास्तव, डीसीएनआरएलएम शैलेन ब्यास, एसीएमओ आरके सागर, डीडीओ प्रदीप कुमार, बेसिक शिक्षा अधिकारी गीता वर्मा सम्बन्धित आदि अधिकारी उपस्थित थे।

सेहत

Top