सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट डालने पर होगी दण्डात्मक कार्यवाही

सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट डालने पर होगी दण्डात्मक कार्यवाही

शामली जिलाधिकारी अखिलेश सिंह एवं पुलिस अधीक्षक अजय कुमार सिंह द्वारा कलेक्ट्रेट के सभागार में जनपद के हिन्दू संगठनों के पदाधिकारियों तथा संभ्रान्त नागरिकों के साथ बैठक कर आगामी अयोध्या प्रकरण पर सर्वोच्च न्यायालय द्वारा निर्णय दिये जाने के फलस्वरूप कानून एवं शान्ति व्यवस्था बनाये रखने के दृष्टिगत जनपद में अमन चैन और सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाये रखने की अपील करते हुए कहा कि भाईचारा सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाये रखना हम सबकी नैतिक जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि जनपद शामली में अमन चैन, शान्ति व्यवस्था बनाये रखना ही जिला प्रशासन का उद्देश्य है इसके लिए जिला प्रशासन बिल्कुल निष्पक्ष भाव से कार्य करेगा।






राष्ट्रहित समाज हित में पूर्ण सद्भावना बनाये रखने में अपनी अहम भूमिका निभाये : जिलाधिकारी


जिलाधिकारी ने हिन्दू संगठनों के पदाधिकारियों से कहा कि वह समाज के स्तम्भ हैं, राष्ट्रहित समाज हित में पूर्ण सद्भावना बनाये रखने में अपनी अहम भूमिका निभाये। उन्होंने बताया कि यदि कोई छोटी सी घटना घटित होती है तो उसका बड़ा रूप होने से स्थानीय लोगों को ही घाटा होता है, इसलिए जनपद में सर्व समाज के संभ्रान्त लोगों की जिम्मेदारी है कि वह अपने स्तर से आस-पास के लोगों तथा धार्मिक स्थलों पर अवगत करायें। ऐसे असामाजिक तत्त्वों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी। जिला प्रशासन आप सभी के साथ निष्पक्ष रूप से खड़ा है, किसी भी स्तर पर लापरवाही के संबंध में वह सीधे फोन कर सूचित कर सकते है। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट करने वालों के विरूद्ध आईटी एक्ट के तहत दण्डात्मक कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी। उन्हांेने कहा कि निर्णय आने पर ज्यादा खुशी तथा विरोध में नारेबाजी, धरना प्रदर्शन स्वीकार नहीं होगा। जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद में कानून व्यवस्था के दृष्टिगत त्वरित कार्यवाही करने के लिए जनपद स्तर पर एक कन्ट्रोल रूम भी स्थापित किया जाएगा जोकि 24 घण्टे कार्यरत रहेगा।

धर्मगुरू और संभ्रान्त लोग समाज के बहुत सम्मानित लोग होते है जो कि विषम परिस्थितियों को नियंत्रित करने और सही दिशा देने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते है : पुलिस अधीक्षक


पुलिस अधीक्षक ने कहा कि धर्मगुरू और संभ्रान्त लोग समाज के बहुत सम्मानित लोग होते है जो कि विषम परिस्थितियों को नियंत्रित करने और सही दिशा देने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते है। उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अयोध्या पर जो फैसला आने पर संयम बरतने की आवश्यकता होगी। जिससे जनपद में सौहार्दपूर्ण वातावरण बना रहे। समस्या आने पर डायल 100 नम्बर पर तत्काल सूचित कर सकते हैं। किसी प्रकार का जाम, प्रदर्शन, जुलूस निकालने की कोशिश न करें जिससे कोई अव्यवस्था हो। उन्होंने कहा कि आपस में धैर्य और संयम बनाये रखे। परंतु फिर भी समाज के कुछ ही लोग अराजक तत्त्व होते हैं ऐसे अराजक अराजक तत्त्वांे के साथ सख्ती से निपटा जायेगा। कोई भी आपत्तिजनक सामग्री सोशल मीडिया वाट्सअप, फेसबुक पर डालेगा या आगे फारवर्ड करेगा तो उसके विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। इस मौके पर उन्होंने सभी से अनुरोध किया कि उत्सुकतापूर्वक या किसी अन्य को जानकारी देने के लिए कुछ आपत्तिजनक फारवर्ड न करें।

बैठक में उपस्थित विभिन्न हिन्दू संगठानों के पदाधिकारी तथा संभ्रान्त नागरिकों द्वारा भरोसा दिलाया गया कि मा0 सर्वोच्च न्यायालय का जो भी फैसला आयेगा वह सबको मान्य होगा । बैठक में समस्त एसडीएम, सीओ तथा संबंधित विभागों के अधिकारियों सहित हिन्दू संगठनों के पदाधिकारी, हिंदू धर्म गुरू एवं समाज के संभ्रान्त नागरिक उपस्थित रहे।

Top