कानून व्यवस्था को तोड़ने वालों के खिलाफ कड़ी से कड़ी विधिक कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी : एसपी शामली

कानून व्यवस्था को तोड़ने वालों के खिलाफ कड़ी से कड़ी विधिक कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी : एसपी शामली

शामली पुलिस अधीक्षक अजय कुमार व अपर जिलाधिकारी अरविंद सिंह ने कहा कि कानून व्यवस्था को तोड़ने वालों के खिलाफ कड़ी से कड़ी विधिक कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी। धारा 144 का अनुपालन शत-प्रतिशत सुनिश्चित किया जाये। किसी भी प्रकार की गडबडी बर्दाश्त नही की जायेगी। उच्चतम अधिकारियों के निर्देशो का शत प्रतिशत पालन किया जाए ।





पुलिस अधीक्षक अजय कुमार व अपर जिलाधिकारी अरविंद सिंह ने कलेक्ट्रेट सभागार में रामजन्म भूमि/बाबरी मस्जिद अयोध्या के प्रकरण में सर्वोच्य न्यायालय द्वारा आने वाले निर्णय को दृष्टिगत रखते हुयेे जनपद में सौहार्द एवं शान्तिपूर्ण व्यवस्था बनाये रखने हेतु पीस कमेटी के पदाधिकारियों एवं पुलिस विभाग के अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए यह निर्देश दिये। उन्होनें कहा कि अमन चैन बनाये रखने हेतु अतिसंवेदनशील थानों/प्वाइंटों पर मजिस्ट्रेट के साथ ही साथ पुलिस बल के अतिरिक्त दोनों पक्षों के पीस कमेटी के प्रमुख पदाधिकारियों तथा कर्मचारियों की तैनाती की जायेगी।


उन्होनें यह भी कहा कि इस संबंध में कार्य योजना बनायी जा रही है। हम सब को सर्वोच्य न्यायालय द्वारा लिये गये निर्णय का पूर्ण रूप से ससम्मान स्वागत करना होगा। उन्होनें जनपद में सर्वोच्य न्यायालय के आने वाले फैसले के दिन अफवाह फैलाने वाले तथा शान्ति व्यवस्था भंग करने वाले व्यक्तियों के खिलाफ कडी से कडी कार्यवाही किये जाने के भी निर्देश दिये उन्होंने कहा कि जनपद में शरारती 26 व्यक्तियों को चिन्हित किया गया है उन सभी पर निगरानी रखी जा रही है।






पुलिस अधीक्षक ने पीस कमेटी के सभी समुदाय के थानावार पदाधिकारियों से इस संबंध में वार्ता की तथा समस्याओं से अवगत भी हुये। पदाधिकारियों द्वारा शान्ति व्यवस्था एंव अमन चैन बनाये रखने हेतु आश्वास्ति किया गया, जिस पर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि दोनों पक्षों द्वारा जो भी विश्वास/उत्सुकता दिखायी गई है उससे हमें पूर्ण विश्वास है कि सर्वोच्य न्यायालय के निर्णय वाले दिन जनपद में किसी भी प्रकार की शान्ति व्यवस्था भंग नही होगी तथा एक इतिहास बनेगा। उन्होनें यह भी निर्देश दिये कि धारा 144 के लागू होने की दशा में किसी भी स्थल/मकान/छत पर 4 व्यक्तियों से अधिक भीड़ एकत्र नही होगी। उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से अफवाह फैलाने वालों पर कड़ी निगाह रखे जाने के भी निर्देश दिये। इसी दौरान पुलिस अधीक्षक ने अपना पर्सनल नंबर भी सभी व्यक्तियों को दिया जिससे सभी व्यक्ति कभी भी किसी भी वक्त कॉल करके किसी भी घटना हो सूचित कर सकते हैं।

पुलिस अधीक्षक ने पुलिस अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि हम सब मिलकर सर्वोच्य न्यायालय के फैसले को स्वीकार करेगें। कुछ अराजक तत्वों द्वारा गडबड़ी करने तथा अफवाह फैलाने की कोशिश करने वालों के खिलाफ सख्त से सख्त दण्डात्मक कार्यवाही की जायेगी तथा उनकी मानसिकता को बदलना होगा।


उन्होनें यह भी कहा कि कुछ अराजक तत्वों द्वारा जुलूस, मिठाई बांटने, नारेबाजी आदि के माध्यम से गड़बडी या अफवाहें फैलायी जा सकती है ऐसे लोगों पर पुलिस विभाग के अधिकारियों की कड़ी निगरानी रहेगी। उन्होनें यह भी निर्देश दिये कि यदि कानून व्यवस्था को तोड़ने वाले व्यक्ति के खिलाफ विधिक कार्यवाही की जा रही है तो उसके संबंध में किसी भी पदाधिकारी द्वारा सिफारिश बर्दाश्त नही की जायेगी। उन्होनें भी सर्वोच्य न्यायालय द्वारा लिये गये निर्णय के संबंध में किसी भी प्रकार की प्रतिक्रिया पर रोक लगाये जाने के भी निर्देश दिये। उन्होनें बताया कि सभी थानों में पीस कमेटी की बैठके सुनिश्चित कर ली गई है तथा पुलिस कर्मियों की तरफ से पूर्ण तैयारी सुनिश्चित कर ली गई है। यदि कोई शांति भंग करेगा तो कार्यवाही तत्काल होगी।

उन्होंने कहा कि हमें विश्वास है कि पुलिस प्रशासन का पीस कमेटी के पदाधिकारियों के अतिरिक्त अमन चैन बनाये रखने हेतु जन मानस का भी सहयोग मिलेगा।





इस अवसर पर अपर पुलिस अधीक्षक राजेश श्रीवास्तव उप जिलाधिकारी संदीप कुमार तहसीलदार रणवीर सिंह सभी थाना प्रभारी तथा मौलाना मोहम्मद अकील अध्यक्ष जमीयत उलमा मोहतमिम बदरुल उलूम काफी बड़ी संख्या में बन्धु के पदाधिकारी उपस्थित रहे।

Top