Top

सतपाल अंतिल की टीम ने पकड़ा मोबाइल लुटेरा

सतपाल अंतिल की टीम ने पकड़ा मोबाइल लुटेरा

मुजफ्फरनगर। जनपद में एसपी सिटी का पदभार संभाल रहे अंडर ट्रेनी आईपीएस सतपाल अंतिल की टीम ने एक मोबाइल लुटेरे को दबोचा है। जनपद में पुलिस ने पहली बार लूट और चोरी की वारदातों में गये मोबाइल फोन को बड़े पैमाने पर बरामद करने का काम किया है। एसपी सिटी सतपाल अंतिल का हमेशा ही मोबाइल लूट व चोरी की वारदातों को लेकर उनके खुलासे पर जोर रहता है। इसी कड़ी में जनपद में सिविल लाइन पुलिस को बड़ी सफलता मिली है, जो सतपाल अंतिल द्वारा गठित मोबाइल फोन रिकवरी सेल का नतीजा है।


2015 बैच के आईपीएस अफसर सतपाल अंतिल ने जब से मुजफ्फरनगर में पुलिस अधीक्षक नगर के पद पर कमान संभाली है। तब से ही वह आये दिन एक ना एक गुडवर्क को अंजाम देते आ रहे है। आईपीएस सतपाल अंतिल ने जनपद में मोबाइल फोन लूट और चोरी की वारदातों पर अंकुश लगाने के लिए मुजफ्फरनगर में मोबाइल रिकवर सेल बनाकर अपनी टीमों को शातिर चोरों और लुटेरों की धरपकड़ में लगाया। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा था कि यदि किसी में हिम्मत है तो मोबाइल छीनकर दिखाने का दुस्साहस करके दिखाएं, उसे सबक सिखाया जाएगा। उन्होंने अपने इन शब्दों पर बखूबी अमल भी किया है। अभी तक मोबाइल फोन चोरी की वारदातों को लेकर शिथिल कार्यवाही तक सीमित रहने वाली मुजफ्फरनगर पुलिस ऐसी घटनाओं को प्राथमिकता पर लेने लगी है। एसपी सिटी सतपाल के नेतृत्व में पुलिस ने इसमें बेहतर परिणाम देने का काम भी किया है। इसी कड़ी में थाना सिविल लाईन पुलिस ने बड़ा खुलासा करते हुए जनपद का पहला मोबाइल रिकवरी वर्कआउट किया है। सिविल लाइन पुलिस ने चेकिंग के दौरान एक शातिर किस्म के मोबाइल चोर को गिरफ्तार किया है जिसके पास से पुलिस ने कई कम्पनियों के फोन बरामद किये है। पुलिस अधीक्षक नगर सतपाल अंतिल के निर्देशन में आज थाना सिविल लाईन पुलिस ने यह गुडवर्क करते हुए जनता में उस विश्वास को पुख्ता करने का काम किया है, जो भरोसा एसपी सतपाल ने जगाया था।

थाना सिविल लाईन में पत्रकारों से वार्ता करते हुए मंगलवार को एसपी सिटी सतपाल अंतिल ने बताया कि जिले में अंदर मोबाइल लूट व चोरी की वारदात ज्यादा हो रही थी। जिसे रोकने के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के आदेशानुसार एक टीम गठित की गई थी। जिसमे थाना सिविल पुलिस टीम ने चैकिंग के दौरान बझेडी फाटक के पास से एक शातिर मोबाइल चोर को गिरफ्तार किया है। जबकि उसका दूसरा साथी मोके से भागने में कामयाब रहा। पकड़े गए आरोपी के कब्जे से विभिन्घ्न कंपनियों के 13 मोबाइल फोन लूट व चोरी के बरामद किए है और साथ ही चोरी की बलेनो कार, तमंचा 35 बोर व जिंदा कारतूस बरामद किया है। पूछताछ के दौरान पकड़े गए अभियुक्त ने बताया कि यह मोबाइल अन्य जिलो से लूट व चोरी किए हुए है, ओर यह गाड़ी भी उसके साथी की है जो फरार है। वह इस गाड़ी को कही से चोरी करके लाया था। पकड़े गए अभियुक्त को जेल भेजा जा रहा है। वही इसके दूसरे साथी को गिरफ्तार कर जल्द ही जेल भेजा जाएगा। सिविल लाइन थानाध्यक्ष समय पाल अत्री ने बताया कि वह अपनी टीम के साथ चैकिंग कर रहे थे, तभी बझेडी फाटक पर इस शातिर लुटेरे को पकड़ा गया। इस अवसर पर सीओ सिटी डा. दीक्षा शर्मा भी मौजूद रहीं।


थानाध्यक्ष समयपाल अत्री ने इस गुडवर्क को लेकर बताया कि वह अपनी टीम को लेकर चैकिंग कर रहे थे, उसी दौरान बझेडी फाटक से पुलिस को एक शातिर अभियुक्त आता दिखाई दिया। जिसको पुलिस ने गिरफ्तार किया जो कि बहुत ही शातिर किस्म को मोबाइल लुटेरा था। अभियुक्त ने आस-पास के कई जनपदों से लूटे गए थे। जिसके कब्जे से पुलिस को एक तमंचा 315 बोर, एक जिन्दा कारतूस 315 बोर, तीन आईडी, 13 मोबाइल फोन व एक कार बलैनो बरामद हुए है। अभियुक्त ने पुलिस को अपना नाम शानू पुत्र नसिरूदीन निवासी मल्हूपुरा थाना सिविल लाईन जनपद मुजफ्फरनगर बताया है। अभियुक्त को गिरफ्तार करने वाली टीम में सिविल लाईन थानाध्यक्ष समयपाल अत्री, एसआई अनित कुमार यादव, एसआई सुरेन्द्र राव, एसआई राकेश गौतम, हैड काॅन्सटेबल अरविन्द व काॅन्सटेबल राशिद शामिल रहे।

ट्रेनी आईपीएस अफसर सतपाल अंतिल पुलिस सर्विस में आने के बाद से ही लगातार मोबाइल फोन लूट और चोरी की वारदातों को लेकर बेहद संवेदनशील रहते हैं। उन्होंने मेरठ जनपद में एसएसपी अखिलश कुमार के साथ काम करते हुए वहां पर मोबाइल रिकवर सेल का गठन किया था, इस सेल के सहारे उन्होंने मेरठ जनपद में विभिन्न वारदातों में लूटे गये या चोरी हुए मोबाइल फोन को रिकवर करने के लिए जी जान लगाकर काम किया और जब उनको सफलता मिली तो पुलिस विभाग के आला अफसरों ने भी सतपाल की सूझबूझ और कार्य कुशलता की सराहना की थी। इस सेल के सहारे आईपीएस सतपाल अंतिल ने विभिन्न कम्पनियों के 74 मोबाइल फोन बरामद किये थे। जब ये फोन इनके असली हकदारों के हाथों तक पहुंचे थे तो सभी ने सतपाल की कार्यप्रणाली पर खुशी जाहिर करते हुए कहा था कि वह अपना मोबाइल फोन मिलने की आस ही खो बैठे थे। मेरठ जनपद में मोबाइल फोन की यह सबसे बड़ी रिकवरी थी।

epmty
epmty
Top