Top

कपरवान ने किया 80 घंटे में कत्ल का खुलासा, मिली शाबाशी

कपरवान ने किया 80 घंटे में कत्ल का खुलासा, मिली शाबाशी

मुजफ्फरनगर । शहर कोतवाली का चार्ज संभालने के बाद से इंस्पेक्टर अनिल कपरवान के गुड वर्क लगातार जारी है अनिल कपरवान को क्राइम कंट्रोल और एनकाउंटर का मास्टर कहा जाता है तभी तो उन्होंने शहर कोतवाली की कमान संभालते ही इनामी बदमाशों के एनकाउंटर शुरू कर दिए थे। वर्तमान में वैसे तो कोतवाली क्षेत्र में अपराध अपने न्यूनतम पर हो रहे हैं मगर अगर कोई घटना उनके कार्यकाल में हुई तो उसका वह खुलासा करते रहे हैं इस बार भी उन्होंने 13 साल के जुबैर की मर्डर मिस्ट्री का खुलासा कर अपने आला अफसरों एवं क्षेत्र की जनता में वाहवाही बटोरी है । यह मर्डर मिस्ट्री पुलिस के लिए बड़ी चुनौती थी क्योंकि 13 वर्षीय जुबैर की किसी से रंजिश की घटना भी सामने नहीं आ रही थी ऐसे में आम चर्चा थी की शायद पुलिस इस मर्डर मिस्ट्री का खुलासा नहीं कर पाएगी घटना के बाद से क्राइम कंट्रोल के मास्टर कहे जाने वाले अनिल कपरवान अपनी टीम के साथ इस घटना की कड़ियां जोड़ने में लगे रहे ।क्राइम कैपिटल कहे जाने वाले मुजफ्फरनगर को क्राइम फ्री जनपद का तमगा दिलाने में जुटे एसएसपी अनंत देव तिवारी की टीम का अहम हिस्सा शहर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक अनिल कपरवान ने अपनी टीम के साथ मिलकर 80 घंटे में शोएब मर्डर मिस्ट्री का खुलासा कर दिया है इस खुलासे के बाद एसएसपी अनंत देव ने पुलिस टीम को सम्मानित करने की घोषणा की है

गौरतलब है कि दिनांक 23 अगस्त 2018 को सुबह 8 बजे शहर कोतवाली क्षेत्र के शहाबुद्दीनपुर रोड बाईपास पर एक खाली प्लाट में 13 वर्षीय जुबेर पुत्र शहजाद निवासी लद्दा वाला का शव पड़े होने की सूचना अनिल कपरवान को मिली थी घटना की सूचना पर पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में ले लिया इस हत्या के संबंध में कोतवाली नगर पर मुकदमा पंजीकृत किया गया तब से ही शहर कोतवाल अपनी टीम के सब इंस्पेक्टर अक्षय शर्मा सिपाही मनेंद्र, अमित तेवतिया, संदीप त्यागी, मोहित व रोहित तेवतिया के साथ मिलकर इस मर्डर मिस्ट्री के खुलासे में जुट गए थे इस हत्याकांड के खुलासे में सबसे बड़ी अड़चन मृतक जुबेर की किसी से रंजिश सामने नहीं आ रही थी लेकिन अपनी पूर्व की तैनाती में इस तरह की घटनाओं को वर्कआउट करने वाले शहर कोतवाल अनिल कपरवान ने इस घटना पर काम करना शुरू किया तो पुलिस को अहम सुराग हाथ लगे दिनांक 23 अगस्त सुबह 8:00 बजे जुबेर का शव मिलने के बाद से आज दिनांक 26 अगस्त की दोपहर तक यानी 80 से भी कम घंटे के समय में अनिल कपरवान ने इस घटना को वर्कआउट करते हुए फैसल पुत्र आमिर, फैसल पुत्र सलीम, अनस उर्फ पुन्ना पुत्र नईम , समीम उर्फ बिज्जू पुत्र आसिफ, वाजिद पुत्र सोनू निवासीगण शहाबुद्दीन पुर रोड थाना कोतवाली को गिरफ्तार कर इस घटना का बेहतरीन खुलासा कर दिया पुलिस पूछताछ में इन नव युवकों ने हत्या की घटना कबूल करते हुए बताया की 18 अगस्त 2018 को दोपहर में मृतक जुबेर का फैसल समीम व वाजिद से किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया था जिसमें दोनों तरफ से मारपीट हुई थी तब इन तीनों ने जुबेर को जान से मारने की धमकी दी थी दिनांक 23 अगस्त 2018 को मृतक जुबेर जब अपने घर से अपनी बहन की दवाई लेने निकला था तो रास्ते में उपरोक्त अभियुक्त गणों ने जुबेर को रोककर उस से माफी मांगी एवं झगड़ा खत्म करने को कहा और उसे बहकाकर पास के सुनसान इलाके पर ले गए वहां एक खाली प्लाट पर इन लोगों ने मिलकर जुबेर की हत्या कर दी और वापस अपने घर आ गए पुलिस छानबीन करती हुई इन हत्यारों तक पहुंच गई और अनिल कपरवान की टीम में इस सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा कर दिया।



epmty
epmty
Top