Top

बंद घरों को निशाना बनाने वाले गैंग का पर्दाफाश

बंद घरों को निशाना बनाने वाले गैंग का पर्दाफाश

आगरा। पुलिस ने बंद घरों को अपना निशाना बनाने वाले गैंग का भंडाफोड़ करते हुए सरगना समेत छह आरोपियों को अरेस्ट किया है। दो आरोपी मुठभेड़ के दौरान घायल हो गये। बदमाश जिन लोगों को लूटा गया सामान बेचते थे, उन लोगों की पहचान भी कर ली गई है। पुलिस उनकी सरगर्मी से तलाश कर रही है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बबलू कुमार ने बताया कि बंद मकानों में बढ़ती चोरियों के मद्देनजर एसपी सिटी के नेतृत्व में विशेष टीम का गठन करते हुए मामलों का खुलासा करने के आदेश दिये गये थे। टीम लगातार आरोपियों की धरपकड़ के लिए प्रयास कर रही थी। इस अभियान के तहत आज एक सूचना के आधार पर थाना सदर, हरिपर्वत व स्पेशल यूनिट की टीम ने संयुक्त रूप से आरोपियों की घेराबंदी कर ली। पुलिस से स्वयं को घिरा देखकर बदमाशों ने पुलिस पर फायरिग करनी शुरू कर दी। पुलिस टीम ने जवाबी कार्रवाई करते हुए सभी छह आरोपियों को अरेस्ट कर लिया। पकड़े गये आरोपियों ने बंद पड़े मकानों में चोरी की घटनाओं को करना कुबूल किया है।


पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से भारी मात्रा में अवैध असलहा बरामद किया है। इसके साथ ही लूटी गई तीन बाईकें भी पुलिस ने बरामद की हैं। एसएसपी ने बताया कि गिरोह का सरगना राममोहन है, जो कि थाना सदर बाजार का हिस्ट्रीशीटर है। उस पर 30 मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से चोरी की गई ज्वैलरी को भी बरामद की है। एसएसपी ने बताया कि चोरी की गई ज्वैलरी को जिन लोगों के पास बेचा जाता है, उनकी शिनाख्त भी कर ली गई है। उन्हें शीघ्र ही अरेस्ट कर लिया जायेगा।

एसएसपी ने बताया कि गिरोह के सभी सदस्य बहुत ही शातिर हैं। वे अपने स्थायी पते पर न रहकर किराये पर मकान लेकर रहते हैं। दिन में वे बंद पड़े घरों की रेकी करते हैं और रात्रि में घरों में चोरी करते हैं। चोरी करने के बाद वे किराये के मकान को छोड़ देते हैं और फिर से नए स्थान पर किराये का कमरा लेकर घटनाओं को अंजाम देने में लग जाते हैं।

एसएसपी ने बताया कि पकड़े गये आरोपियों में से तीन आरोपियों पर 20-20 हजार रुपये का इनाम है। इसके अलावा पकड़ा गया लांगा उर्फ सुनील 2014 में हुए मर्डर के मामले में वांछित है। पुलिस को उसकी काफी समय से तलाश थी। पकड़े गये आरोपियों ने फिलहाल कुल 19 घटनाओं को करना कबूल किया है। एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि गिरोह का सरगना 20 साल से आपराधिक मामलों में लिप्त है। अब तक लगभग 200 से ज्यादा घटनाओं को वह अंजाम दे चुका है, जिनकी जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि पकड़े गये सभी आरोपियों की हिस्ट्रशीट खोली जायेगी और गैंगस्टर के तहत कार्रवाई करते हुए अवैध तरीके से अर्जित की गई सम्पत्ति को कुर्क करने की कार्रवाई की जायेगी।

epmty
epmty
Top