Top

DGP ने महिला थानों को दिए निर्देश- हेल्प डेस्क, आगन्तुक की हो स्थापना

DGP ने महिला थानों को दिए निर्देश- हेल्प डेस्क, आगन्तुक की हो स्थापना

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) एच सी अवस्थी ने राज्य के सभी जिलों में महिला थानों पर हेल्प डेस्क एवं आगन्तुक कक्ष की स्थापना किये जाने के सम्बन्ध में दिशा निर्देश दिये हैं।

राज्य के पुलिस महानिरीक्षक (कानून एवं व्यवस्था) ज्योति नारायण ने शनिवार शाम यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि एच सी अवस्थी ने राज्य के सभी जोनल अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस आयुक्त लखनऊ, गौतमबुद्धनगर, परिक्षेत्रीय पुलिस महानिरीक्षक/ पुलिस उपमहानिरीक्षक, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक तथा जिला प्रभारी पुलिस अधीक्षकों को को थानो पर आने वाले आगन्तुक,शिकायतकर्ता,पीड़ित महिलाओं की शिकायतो को सुनने के लिए एक आधुनिक केन्द्रीयकृत महिला हेल्प डेस्क एवं आगन्तुक कक्ष की स्थापना करने एवं महिलाओं को रिसेप्शन से ही उससे सम्बन्धित सभी जानकारियां प्राप्त कर उनका निस्तारण करने के सम्बन्ध में निर्देश दिये हैं।

उन्होंने बताया कि आज भेजे निर्देशों में एच सी अवस्थी ने महिला हेल्प डेस्क एवं आगन्तुक कक्ष की स्थापना के साथ वहां नियुक्त कर्मियों को प्रशिक्षित किया जाय। महिला हेल्प डेस्क पर दो व्यवहार कुशल एवं मृदुभाषी महिला आरक्षियों की नियुक्ति की जाय। मेट्रोपोलिटन सेन्टर तथा बड़ो शहरों में तैनात महिला रिसेप्शन कर्मी एवं टूरिज्म पुलिस कर्मियों को अंग्रेजी भाषा का भी प्रशिक्षण दिया जाय।

आईजी लॉ एंड ऑर्डर ज्योति नारायण ने बताया कि इसी क्रम में पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय मेरठ में स्थापित लैंग्वेज लैब से प्रशिक्षण कराया जाय। उन्होंने कहा कि रिसेप्शन पूर्णतः कम्प्यूटराईज्ड तथा प्रशिक्षित महिला आरक्षियों द्वारा संचालित किया जाय। निर्देशों में थाने पर आने वाले हर आगन्तुक/शिकायतकर्ता/पीड़ित महिलाओं को सर्वप्रथम रिसेप्शन पर नियुक्त कर्मियों द्वारा अटैन्ड किया जाए। शिकायतकर्ता के विवरण को कम्प्यूटर में फीड करते हुये उन्हें प्रार्थना पत्र की प्राप्ति रसीद दी जाये।

रिसेप्शन द्वारा थाना प्रभारी व बीट प्रभारी को शिकायतकर्ता के बारे में अवगत कराया जाय तथा त्वरित निस्तारण किया जाय।

गौरतलब है कि " शक्ति मिशन" के तहत राज्य में 180 दिन तक विशेष अभियान चलाया जायेगा,जिसमें महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा एवं उन्हें सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में जागरुक किया जायेगा।

epmty
epmty
Top