जन्मदिन विशेष- जितेन्द्र ने जताया अभिषेक यादव का धन्यवाद

जन्मदिन विशेष- जितेन्द्र ने जताया अभिषेक यादव का धन्यवाद

मुजफ्फरनगर एसएसपी अभिषेक यादव के हैप्पी बर्थ-डे अभियान ने बीट पुलिसिंग में भी एक नया उत्साह पैदा किया है। पुलिस विभाग में बीट पुलिसिंग सबसे मजबूत कड़ी मानी जाती है। पुलिस की सारी अभिसूचनाओं का केन्द्र ही बीट पुलिसिंग है, तकनीक आने के बाद बीट पुलिसिंग और मजबूत हुई है। ऐसे में एसएसपी अभिषेक यादव ने बर्थ-डे अभियान चलाकर पुलिस विभाग में एक अभिभावक के रूप में खुद को पेश करने का जो काम किया है, उससे थानों में पुलिस कर्मियों के बीच प्रतिस्पर्धा के बजाये पारिवारिक माहौल बना है। इस अभियान ने निचले स्तर के पुलिसकर्मियों का उत्साह दोगुना किया है।






दिसम्बर के पहले ही दिन पहली पोस्टिंग पर पर मुजफ्फरनगर के रामराज थाने में बीट पुलिस आरक्षी के पद पर कार्यरत जितेन्द्र कुमार ने 4 साल में पहली बार अपना जन्म दिन मनाया है। थाने में पार्टी का आयोजन किया गया और एसएसपी अभिषेक यादव के प्रोत्साहन भरे संदेश के साथ बीट आरक्षी जितेन्द्र कुमार ने अपने अफसरों की मौजूदगी में केक काटकर जश्न मनाया। मूल रूप से गौतमबुद्धनगर जनपद के निवासी जितेन्द्र कुमार 2015 बैच के सिपाही हैं। उनको साल 2016 में पहली पोस्टिंग मुजफ्फरनगर में ही मिली और वर्तमान में वह जनपद के बाॅर्डर क्षेत्र के थाना रामराज में बीट आरक्षी के रूप में तैनात हैं। सिपाही जितेन्द्र अपने कप्तान अभिषेक यादव के बर्थ डे अभियान को लेकर कहते हैं कि उनके इस फैसले ने पुलिस फोर्स में नया उत्साह और उल्लास पैदा किया है। वह चार साल से पुलिस फोर्स का हिस्सा हैं, लेकिन कभी सोचा नहीं था कि तनाव भरे माहौल में नौकरी करने के दौरान वह कभी इस प्रकार थाने में अपना जन्म दिन मना पायेंगे। एसएसपी अभिषेक यादव की पहल को पुलिस विभाग में परिवार की आमद से जोड़ते हुए वह कहते हैं कि यह काफी अच्छा प्रयास है। थानों में एक परिवार जैसा माहौल बन रहा है। जितेन्द्र कहते है रामराज थाना अध्यक्ष राजेंद्र गिरी जी ने जिस उत्साह से कप्तान साहब के आदेश के बाद मेरा जन्मदिन मनाया है वो मैं कभी नही भूल पाऊंगा।





जितेन्द्र कुमार एक बीट सिपाही के रूप में कानून व्यवस्था और अपराध उन्मूलन में अपना काफी योगदान दे रहे हैं। वह अपने कार्यों को पुलिस को एक पुलिस मित्र भी साबित करने में कभी पीछे नहीं हटते। रामराज थाना क्षेत्र में एक बीट सिपाही के रूप में जितेन्द्र ने कई उपलब्धि हासिल की हैं। उन्होंने एसएसपी अभिषेक यादव के जीरो ड्रग्स अभियान के अन्तर्गत चैक पोस्ट गंगा बैराज पर बुलेरो पिकअप गाडी में चार प्लास्टिक के कट्टों में भरा 50 किलोग्राम डोडा पोस्त पकड़ा। टिकोला शुगर मिल पर मुठभेड़ में बदमाश अभिषेक व बिट्टू की गिरफ्तारी में अहम भूमिका निभाई, गांव नीला जलालपुर से हिस्ट्रीशीटर बिन्दर उर्फ वीरेन्द्र पुत्र दयाराम को गिरफ्तार किया तो वहीं हाशिमपुर से हिस्ट्रीशीटर राजकुमार पुत्र महेन्द्र को पकड़ा। 26 नवम्बर को जब जितेन्द्र को सूचना मिली कि बैराज रोड पर दो ट्रकों का एक्सीडेंट हो गया है, तो वह तुरंत वहां पर पहुंचे। हादसे के बाद ट्रक के क्षतिग्रस्त हो जाने पर एक व्यक्ति उसमें बुरी तरह से फंस गया था, सिपाही जितेन्द्र ने यहां पर मानवीय संवेदनाओं के साथ कार्य करते हुए अपना फर्ज निभाया और काफी मशक्कत के बाद घायल को ट्रक से निकालकर अस्पताल पहुंचाया। इससे पहले भी बिजनौर बैराज रोड पर कई हादसों के बाद जितेन्द्र कुमार ने गुड पुलिसिंग करते हुए अपनी ड्यूटी की है।

सेहत

Top