Top

जब पुलिस कप्तान अभिषेक यादव बने क्रिकेटर

मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश में आपराधिक आंकड़ों का ग्राफ नीचे गिरना ही पुलिस विभाग के काम को प्रदर्शित करता है। पुलिस अफसरों ने नतीजे देने के लिए अभिनव प्रयोग करते हुए एक नई पुलिसिंग को जन्म दिया है। ऐसे ही एक अफसर मुजफ्फरनगर के पुलिस कप्तान आईपीएस अभिषेक यादव भी नित्य नये नये फैसलों से पुलिस कर्मियों का मनोबल बढ़ाने में जुटे हुए हैं। उन्होंने जनपद पुलिस विभाग में मुखिया होने के कारण एक पारिवारिक और दोस्ताना माहौल देने का काम किया है। पुलिस कर्मियों को तनाव और कार्य के बोझ से मुक्त करने के लिए उन्होंने हैप्पी बर्थ डे और वीकली ऑफ को लागू किया तो अब वह थानों में तैनात पुलिस कर्मियों के बीच जाकर खेल के सहारे पुलिस कर्मी और अफसर के बीच की दूरी को पाटने के रास्ते खोलने का काम कर रहे हैं। आज ऐसा ही एक नजारा देखने को मिला, जबकि पुलिस कप्तान अभिषेक यादव खाकी वर्दी में एक क्रिकेटर की भूमिका में नजर आये और अपने आॅल राउंड प्रदर्शन से पुलिस कर्मियों का काफी प्रभावित किया।





आईपीएस अभिषेक यादव एक अच्छे खिलाड़ी


बुधवार को दिन के करीब 12 बजे होंगे, पुलिस व्यवस्था को परखने के लिए एसएसपी अभिषेक यादव की गाड़ी अचानक ही ककरौली थाना परिसर में जाकर रुकती है। वहां पर थाना प्रभारी विजय बहादुर सिंह अपने समस्त स्टाफ के साथ पुलिस कप्तान अभिषेक यादव का स्वागत करते हैं। थाने का निरीक्षण शुरू हो जाता है। बातों ही बातों में जब थाना प्रभारी विजय बहादुर सिंह पुलिस कप्तान अभिषेक यादव को यह बताते हैं कि उनके द्वारा थाना परिसर में ही पुलिस कर्मियों के लिए खेलकूद का साधन किया है, तो वह उनसे खेलों के बारे में पूछते हैं। थाना परिसर का निरीक्षण करते हैं तो उनको क्रिकेट पिच और बैडमिन्टन कोर्ट नजर आते हैं। थाना प्रभारी बताते हैं कि पुलिस कर्मियों को खेल के सहारे तनाव से मुक्त करने के लिए उन्होंने यह प्रयास किया है। क्रिकेट का पूरा सामान जुटाया गया है। यहां पर पुलिस कर्मियों के बीच मैच कराया जाता है। क्रिकेट की पिच देखकर पुलिस कप्तान अभिषेक यादव के अन्दर भी एक खिलाड़ी की भावना जागृत होने लगी। उन्होंने क्रिकेट किट मंगवायी और पैड, गलब्ज बांधन के बाद हाथ में बल्ला लेकर पिच पर उतर पड़े। वर्दी में ही अपने कप्तान को क्रिकेट पिच पर उतरा देखकर पुलिसकर्मियों का उत्साह भी दोगुना हो गया। बता दें कि आईपीएस अभिषेक यादव एक अच्छे खिलाड़ी हैं, वह बेहतर क्रिकेटर हैं और राज्य में पुलिस विभाग की कई क्रिकेट प्रतियोगिताओं में उनके द्वारा प्रतिभाग भी किया जा चुका है। यही कारण है कि जब उन्होंने ककरौली थाना परिसर में क्रिकेट पिच और क्रिकेट किट देखी तो वह खुद के अन्दर छिपे खिलाड़ी को नहीं रोक पाये और अपने मातहत पुलिस कर्मियों के साथ जमकर क्रिकेट खेली। उन्होंने सुन्दर बल्लेबाजी का प्रदर्शन किया तो वहीं एक गेंदबाज के रूप में भी अपनी प्रतिभा को प्रदर्शित करने का काम किया। आईपीएस अभिषेक एक आल राउंडर क्रिकेट के रूप में पुलिस फोर्स में पहचाने जाते हैं।





आईपीएस अभिषेक यादव ने पुलिस कर्मियों के बीच एक क्रिकेटर बनकर उन्होंने उत्कृष्ट कप्तानी पेश की

आईपीएस अभिषेक यादव का यह प्रयास केवल एक खेल तक ही सीमित नहीं था, बल्कि इसके सहारे वह पहली पायदान के पुलिस कर्मियों और कप्तान के बीच की दूरी को पाटने का भी काम कर रहे हैं। इसके लिए खेल और खिलाड़ी की भावना से बढ़कर कुछ भी नहीं हो सकता है। आईपीएस अभिषेक यादव ने पहले ही दिन से एक अफसर के बजाये, पुलिस फोर्स के बीच खुद को एक अभिभावक के रूप में परिचित कराने का काम किया है। यही कारण है कि उनका हैप्पी बर्थ डे अभूतपूर्व स्तर से सफल रहा है। वह खुद पुलिस कर्मियों का जन्म दिन मनाने के लिए पहुंचे और उपहार भेंट किये। इसके अलावा उन्होंने पुलिस कर्मियों के तनाव को भी एक अभिभावक की भांति ही महसूस किया और मुजफ्फरनगर में पहली बार पुलिस विभाग में वीकली ऑफ को लागू कराने का जोखिम भरा निर्णय लिया गया। हर मौके पर उन्होंने पुलिस कर्मियों को एक अच्छे मित्र की भांति प्रोत्साहित करने काम भी किया है। आज पुलिस कर्मियों के बीच एक क्रिकेटर बनकर उन्होंने उत्कृष्ट कप्तानी पेश की है। शायद ही यह पहला अवसर था जब जिले के किसी कप्तान के द्वारा थाने के औचक निरीक्षण के दौरान अपने अधीनस्थ पुलिसकर्मियों के साथ क्रिकेट भी खेला गया हो, अक्सर देखने में आता है कि कप्तान के निरीक्षण के कारण थाना प्रभारी से लेकर सिपाही तक तनावग्रस्त हो जाते हैं, लेकिन ककरौली थाने का नजारा ही दूसरा था। पुलिस कप्तान दूर से दौड़ लगाते हुए अपने सिपाही को गेंदबाजी करा रहे हैं, तो कभी अपने कप्तान को सिपाही अपनी बाउंसर से भयभीत करने का प्रयास करता नजर आया। इस क्रिकेट मैच के दौरान सिपाहियों ने अपने कप्तान के साथ हल्का-फुल्का माहौल बनाने का काम किया, कप्तान के साथ हंसी-मजाक भी खूब हुई, थाने पर मौजूद सभी पुलिसकर्मियों ने एसएसपी अभिषेक यादव के साथ खेले गये क्रिकेट को अपने जीवन का यादगार पल बताया। वहीं एसएसपी अभिषेक यादव ने कहा कि खेल व्यक्ति को तनाव से दूर करने के साथ ही स्वस्थ रखने में भी सहायक है। ककरौली थाना प्रभारी विजय बहादुर ने थाना परिसर में खेलकूद के साधन जुटाकर सराहनीय कार्य किया है। निरीक्षण के दौरान उन्होंने पुलिस कर्मियों को प्रोत्साहित करने के लिए क्रिकेट खेला, जो यादगार रहा।




~जनपद के प्रत्येक थानों पर हुआ दंगा नियंत्रण उपकरणों का निरीक्षण~


किया दंगा नियंत्रण यंत्रों का निरीक्षण

एसएसपी मुजफ्फरनगर अभिषेक यादव ने बुधवार को जनपद के समस्त थानों में दंगा नियंत्रण यंत्रों का निरीक्षण करने के निर्देश दिये। इसके साथ ही पुलिस अफसरों ने अपने अपने क्षेत्र में थानों का निरीक्षण करते हुए दंगा नियंत्रण उपकरणों को परखा।

एसएसपी अभिषेक यादव द्वारा थाना ककरौली का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान थाना परिसर की साफ-सफाई, कार्यालय, अभिलेख, मैस, बैरक, हवालात, शौचालय इत्यादि को चैक किया गया। एसएसपी अभिषेक यादव के द्वारा थाने पर सभी पुलिसकर्मियों से वार्ता की गयी और उनकी समस्याओं को जाना तथा सम्बंधित अफसरों को पुलिस कमियों की समस्या के तत्काल निस्तारण हेतू आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये साथ ही सभी पुलिसकर्मियों से अपने क्षेत्रों में शांति व्यवस्था बनाये रखने व जनता के प्रति अपने व्यवहार को अच्छा रखने के लिए निर्देशित किया गया। एसएसपी अभिषेक यादव द्वारा थाना ककरौली पर मौजूद दंगा नियंत्रण उपकरणों की चैकिंग करते हुए उनकी गुणवत्ता का भी निरीक्षण किया गया साथ ही सख्त निर्देश दिया गया कि सभी लोग अपने पास मौजूद दंगा नियंत्रण के सामानों को अच्छी तरह से जांच परख लें, कौन-कौन से अस्त्र-शस्त्र चलने में निपुण है, कौन-कौन से हथियार बेकार पड़े हैं। ऐसे असलहों की तत्काल मरम्मत करवा ली जाए। थानों पर पर्याप्त मात्रा में बॉडी प्रोटेक्टर, बुलेट प्रूफ जैकेट, आंसू गैस के गोले, रबड़ की गोलियां, फव्वारा मारने वाले यंत्र आदि की गुणवत्ता और साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाये। उन्होंने कहा कि शांति व्यवस्था कायम रखने एवं किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए सभी थानों पर दंगा नियंत्रण उपकरणों को चैक किया गया। साथ ही शस्त्रों की साफ-सफाई भी की गई।




~पैदल गश्त~


ककरौली में निरीक्षण, भोपा में किया पैदल गश्त


वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मुजफ्फरनगर अभिषेक यादव द्वारा पुलिस व्यवस्था को चाक चैबन्द बनाने और थाना परिसर को स्वच्छ व सुन्दर रखने के लिए लगातार निरीक्षण किये जा रहे हैं। बुधवार को एसएसपी अभिषेक यादव ने जहां ककरौली थाना का निरीक्षण कर वहां व्यवस्थाओं का जायजा लिया, तो वहीं इस निरीक्षण के बाद पुलिस कप्तान ने मय पुलिस बल के थाना भोपा क्षेत्र में शांति व्यवस्था को दृष्टिगत रखते हुए पैदल गश्त की। एसएसपी अभिषेक यादव ने थाना भोपा के मुख्य-मुख्य बाजारों एवं सडकों पर गश्त कर व्यापारियों एवं राहगिरों से वार्ता कर उनकी समस्या की जानकारी की गयी एवं स्वयं सुरक्षा व्यवस्था और यातायात व्यवस्था की जानकारी कर उसे और सुदृढ बनाने का आश्वासन लोगों को दिया।

epmty
epmty
Top