Top

सीओ नवनीत कुमार नायक ने गरीबों के साथ मिलकर मनाई दिवाली

सीओ नवनीत कुमार नायक ने गरीबों के साथ मिलकर मनाई दिवाली

प्रतापगढ। इस साल दीपावली के सहारे यूपी पुलिस ने बड़ा सामाजिक संदेश देने का काम करते हुए वास्तव में खुद को एक 'मित्र पुलिस' की भूमिका में पेश करने का काम किया है। मित्र बनकर खाकी वर्दी वाले बाजारों में गरीबों व कुम्हारों से सड़क किनारे बैठकर मिट्टी के दीये खरीदते हुए दिखायी दिये तो वहीं पुलिस अफसरों ने गरीबों के बीच जाकर ही दीपावली का त्यौहार मनाया।





आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के मासूम बच्चों के साथ दीपावली की खुशियों को बांटा


यूपी के हर जिले से पुलिस के इस सामाजिक भूमिका की अनेक तस्वीरें सोशल मीडिया पर तैर रही हैं, ऐसे में ऐ संदेश दबंगई और अपराध के लिए चर्चाओं में रहने वाले प्रतापगढ़ जनपद से भी आया है। वहां पर एक सीओ ने गरीब बस्ती में जाकर आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के मासूम बच्चों के साथ दीपावली की खुशियों को बांटने का काम किया है। इन बच्चों को जब उपहार दिये गये तो वह इस तरह से सीओ की ओर झपट पड़े मानो कोई अपना उनके बीच पहुंचा हो। सभी बच्चों को मिठाईयां बांटी गयी और उपहार भी दिये गये।





एक सराहनीय पहल



प्रतापगढ़ जनपद के सीओ पट्टी नवनीत कुमार नायक ने इस साल दीपावली के अवसर पर एक सराहनीय पहल करते हुए त्यौहारों के असली मकसद को जीवटता प्रदान करने काम किया है। उन्होंने इस कदम से समाज को भी संदेश दिया ।


गरीबों व असहायों के साथ दीवाली मनाकर इसकी खुशियां साझा की


रविवार को उन्होंने पट्टी कस्बे के कुम्हिया मोहल्ले में पुलिसकर्मियों के साथ दीवाली कुछ अलग अंदाज में मनाई।सीओ नवनीत कुमार नायक ने गरीबों के साथ मिलकर मनाई दिवाली के साथ पट्टी थाना प्रभारी नरेंद्र सिंह व पुलिसकर्मियों ने गरीबों व असहायों के साथ दीवाली मनाकर इसकी खुशियां साझा की। अक्सर यह देखने को मिलता है जब पुलिस अचानक किसी के घर पहुंच जाए तो लोग सहम जाते हैं, लेकिन इस दिवाली नजारा कुछ और ही रहा। दीपावली के उत्सव की धूमधाम में अपने अपने परिजनों से दूर सीओ पट्टी के साथ पुलिस की टीम जब गरीबों की बस्ती में उनके घर दस्तक देने पहुंची तो पुलिस कर्मियों के हाथों में कोई वारंट नहीं बल्कि खुशियों की सौगात थी। पुलिस अफसरों ने जब इन गरीब परिवारों के लोगों से कहा कि हम यहां पर दिवाली मनाने पहुंचे हैं तो लोगों की खुशी दोगुनी हो गई।

खाकी वाले अफसरों को मानवीय दृष्टिकोण


पुलिसकर्मियों ने अपनी ड्यूटी निभाने के साथ गरीबों के बीच खुशियां भी बांटी। इन परिवारों के बच्चों ने देखते ही देखते पुलिस के साथ खुशियां बांटनी शुरू कर दी। क्षेत्र की झुग्गी झोपड़ियों में जाकर बच्चों को पटाखे, मिठाईयां, मोमबत्ती आदि वितरित की। पुलिस कर्मियों ने मिठाई और पटाखे दिए तो बच्चों के चेहरे चमक गए। खाकी की इस नई पहल की सभी ने सराहना की और गरीब अपने बीच खाकी वाले अफसरों को मानवीय दृष्टिकोण से इस तरह से कोमल देखकर खुशी से झूम उठे। सीओ पट्टी नवनीत ने कहा कि दीपावली सर्व समाज के लोगों के लिए खुशियों का त्यौहार है।


विवशता के चलते खुशियों से महरूम हो रहे हैं


ऐसे में पुलिस की ओर से असहाय और गरीब लोगों के साथ मिलकर त्यौहार मनाने का निर्णय बेहद खुशनुमा पल रहा है। त्यौहार में अपनी खुशियों को बांटना सिखाते हैं। हमें अपने आसपास उन लोगों की भी खबर रखनी चाहिए जो किसी ना किसी विवशता के चलते खुशियों से महरूम हो रहे हैं। हमारा एक छोटा सा भी प्रयास मायूस जिन्दगियों को रोशन कर सकता है।


इस दौरान एसएसआई सुरेश सैनी, कांस्टेबल अखिलेश मिश्रा, राजेंद्र तिवारी, मो. नजीर आदि मौजूद रहे।

epmty
epmty
Top