Top

जेल के बंदियों के हुनर से रोशन हो रहा हरदोई का घर-घर

जेल के बंदियों के हुनर से रोशन हो रहा हरदोई का घर-घर

लखनऊ। जेल की कारागार के अनुशासित जीवन और कारागार में रिहाई की उम्मीदों के बीच लम्बी होती रातों के अंधेरों के बीच से ही कैदियों और विचाराधीन बंदियों ने अपने हुनर से खुशहाली का दीपक रोशन करने का काम किया है। जेल प्रशासन के प्रोत्साहन से जेल में रहकर कैद की यातना के तनाव से मुक्त होकर बंदियों ने अपने हुनर से समाज को रोशन करने का कदम उठाया है। जेल की लम्बी दीवारों के बीच की गयी इस पहल की चहुंओर सराहना हो रही है। आज जेल के बंदियों के हाथों से दीपावली के अवसर पर तैयार किये गये दिये और देवी देवताओं की मूर्तियों को एक बाजार का रूप देकर लोगों को इसके प्रति आकर्षित करने का काम जिला प्रशासन ने किया है। इससे बंदियों में भी खुशी का माहौल है। जेल की चारदिवारी के भीतर लगन और मेहनत से तैयार वस्तुओं को खरीदने के लिए लोगों ने भी उत्साह दिखाया है।






जिला कारागार हरदोई में बंदियों को मिट्टी के दिये, गणेश लक्ष्मी की प्रतिमाएं, खिलौने, चाय के कुल्हड़ एवं अन्य विभिन्न प्रकार की वस्तुयें बनाने का प्रशिक्षण दिया गया है, यहां के बंदी सीमेन्ट के गमले बनाने में भी सिद्धहस्त हैं। कारागार में निरूद्ध महिला बंदी भी सुन्दर कपड़े के बैग तथा रूमाल आदि बनाने का कार्य कर रही हैं। दिवाली के शुभ अवसर पर बंदियों द्वारा उपरोक्त वस्तुयें बाजार में बेंचने हेतु निर्मित की गयी हैं।



24 अक्टूबर 2019 को दीवाली के उत्साह और उमंग के बीच बाजारों में बनी रौनक के अन्तर्गत ही बंदियों के द्वारा निर्मित वस्तुयें की बिक्री कराने और इस बाजार के सहारे उनको समाज में मुख्य धारा में लाने के लिए हरदोई शहर के नुमाइश चौराहे के पास महात्मा गांधी मार्ग पर दीपावली हाट बाजार नाम से एक स्टॉल लगायी गयी है, जिसका उद्घाटन जिलाधिकारी हरदोई पुलकित खरे और सीडीओ निधी गुप्ता द्वारा संयुक्त रूप से किया गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी द्वारा बंदियों को व्यवसायिक प्रशिक्षण देकर उन्हें समाज की मुख्य धारा में शामिल करने के लिए जेल प्रशासन के इस प्रयास की सराहना की गयी। मिट्टी के सामान और सीमेन्ट के गमले बनाने वाले बंदियों में कुनेन्द्र प्रजापति, विजय पाल, मोनू, अनिल, छुटकाई उर्फ कमलकिशोर शामिल रहे जबकि कपड़े के बैग एवं रूमाल बनाने वाली महिला बंदियों में नीलम, सरोजनी, सुहाना, सुमन, रमा, संगीता, शांति, ऊषा, शीतल, दिव्या, निर्मला शामिल हैं। बंदियों द्वारा निर्मित दीपावली से सम्बन्धित सामग्री खरीदने हेतु हरदोई जनपद के लोगों में उत्सुकता दिखाई दी तथा लोग उत्साह से इस स्टॉल पर सामान खरीदते देखे गये। उपरोक्त हाट शहर में 26 अक्टूबर 2019 तक लगी रहेगी। उपरोक्त हाट से प्राप्त धनराशि बंदियों को उनके कल्याण हेतु कूपन के रूप में वितरित की जायेगी।


अपने आप में इस अनोखे बाजार के उद्घाटन के अवसर पर राज्य अनुसूचित जाति जनजाति आयोग के सदस्य पीके वर्मा, नगर पालिका परिषद हरदोई के अध्यक्ष सुखसागर मिश्र, जेल अधीक्षक बृजेन्द्र कुमार सिंह, जेलर मृत्युंजय कुमार पाण्डेय तथा कारागार के अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थिति थे।

epmty
epmty
Top