Top

एक्टिव मोड में यूपी पुलिस आंनद कुमार के चार्ज संभालने के बाद से पुलिस कार्यवाही में आई तेजी

एक्टिव मोड में यूपी पुलिस आंनद कुमार के चार्ज संभालने के बाद से पुलिस कार्यवाही में आई तेजी

अब तक 420 मुठभेड़ में 14 का एनकाउन्टर, 84 पुलिस की bullet से घायल, 1106 सलाखों के पीछे, 54 पर रासुका ओर 69 की संपत्ति ज़ब्त
गौरतलब है कि जब उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनी तो शपथ ग्रहण के बाद मुख्यमंत्री ने कानून व्यवस्था सुधारने के मकसद से स्पष्ट कर दिया था कि बदमाश या तो प्रदेश छोड़ दे या अपराध को छोड़ दे। सरकार बनने के बाद जब कानून व्यवस्था नहीं सुधरी तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रमुख सचिव गृह , डीजीपी और एडीजीपी कानून व्यवस्था को बदलकर प्रमुख सचिव गृह की जिम्मेदारी आईएएस अफसर अरविंद कुमार को तो डीजीपी सुलखान सिंह को बनाया गया था इसके बाद 7 जुलाई को जैसे ही उत्तर प्रदेश के एडीजीपी लॉ एंड ऑर्डर का चार्ज आंनद कुमार ने संभाला वैसे ही यूपी में बदमाशों पर जैसे आफत आ गयी । क्राइम कैपिटल के नाम से जब मुज़फ्फर नगर को जाना जाता था तब आंनद कुमार ने वहां के बदमाशो में खाकी का ख़ौफ़ पैदा कर दिया था मुज़फ्फर नगर के आसपास के सहारनपुर, मेरठ, देहरादून, गाज़ियाबाद, नोएडा जैसे जनपदों में बतौर कप्तान आनंद कुमार ने बदमाशो के खिलाफ खूब पारी खेली । उसी पैटर्न पर अब आंनद कुमार पूरे प्रदेश में पुलिस का इक़बाल बुलंद कर दिया है यही वजह है कि सरकार के छह व एडीजीपी आंनद कुमार के दो महीने के कार्यकाल में कुल 420 मुठभेड में 1106 इनामी अपराधी में से 84 घायल होकर जेल की सलाखों के पीछे चले गए और 15 कुख्यात बदमाश परलोक एक्सप्रेस का टिकट लेकर कभी ना वापस आने का वादा करके चले गये। पुलिस की इस कार्यशैली से आम आदमी के अच्छे दिन आते दिखाई दे रहे है।
कुख्यात के सफाए में सहारनपुर रेंज नंबर वन
एनकाउन्टर में मेरठ एडीजीपी प्रशांत कुमार और डीआईजी सहारनपुर के सुनील इमैनुएल के निर्देशन में सहारनपुर रेंज अव्वल अब तक सात बदमाशो का हुआ सफाया वैसे तो इनामी अपराधियो के खिलाफ पूरे सूबे में अभियान चला हुआ है लेकिन मेरठ एडीजीपी जोन प्रशांत कुमार ओर डीआईजी सहारनपुर के सुनील इमैनुएल के निर्देशन में पुलिस और बदमाशो के बीच चल रही मुठभेड़ में सहारनपुर रेंज अव्वल चल रहा है सहारनपुर रेंज में इनामी बदमाश जहां जेल जा रहे है वही वो बदमाश जो खाकी का कमजोर मान कर अपराध करने से बाज नही आ रहे है वो पुलिस की bullet से घायल होकर या तो अस्पातल का रुख कर रहे या बीच रास्ते मे यमलोक पहुंच रहे है। पूरे प्रदेश में मुठभेड़ में मारे गए कुल 15 बदमाशो में अकेले सहारनपुर रेंज में शामली में चार ओर मुज़फ्फर नगर में तीन ओर सहारनपुर में एक बदमाशो का एनकॉउंटर हो चुका है। यानी सहारनपुर रेंज अपराधियो के खिलाफ कार्यवाही में अव्वल चल रहा है
शामली में अजयपाल का चौका
सूबे में एनकॉउंटर की शुरुआत शामली के नोजवान कप्तान अजयपाल शर्मा ने ही कि थी जब उन्होंने रंगदारी के लिए मशहूर कैराना में 50 हजार के इनामी नोशाद डैनी ओर उसके साथी सरवर को शूट किया था उसके तुरंत बाद ही अजयपाल शर्मा की टीम ने इनामी इकराम को भी सीधी मुठभेड़ ऊपर भेज कर अपराधियो में संदेश दे दिया था कि शामली में आओगे तो गोली ही पाओगे। अब जब राजू ने डकैती डालने की नीयत से शामली के झिंझाना की सरजमीं पर कदम रखा तो व्यापारी के घर डकैती डालने आये बदमाशों के साथ पुलिस मुठभेड़ के दौरान एक बदमाश राजू ढेर हुआ है जबकि दो पुलिस कर्मी घायल हुए हैं। इस एनकॉउंटर के साथ ही शामली के कप्तान अजयपाल शर्मा का एनकाउन्टर में चौकां लग गया है।
मुजफ्फरनगर में तीन बदमाश बोल्ड
मुज़फ्फरनगर के एसएसपी अनंन्तदेव को भी सुपरकॉप कहा जाता है बीहड़ के जंगलों में कुख्यात डकैतों को मार गिराने वाले अनंन्तदेव ने muzaffarnagar में पिछले दिनों 50 हजार के इनामी नितिन को शूटआउट में सीधे शूट किया तो आला अफसरों ने उनको शाबासी दी इसके बाद भी अनंन्तदेव बदमाशो के पीछे लगे रहे उनकी कोशिश काम आई और मुजफ्फरनगर में ककरौली पुलिस की बदमाशो से मुठभेड़ हो गई। जिसमें ककरौली पुलिस और 15 हजार के इनामी बदमाश नदीम के बीच जमकर फायरिंग हुई फायरिंग में एक पुलिसकर्मी और बदमाश नदीम को गोली लग गई। गोली लगने से बदमाश नदीम की मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि मृत बदमाश को तीन दिन पहले नई मंडी पुलिस ने गिरफ्तार किया था। जो कोर्ट जाते समय पुलिसकर्मी की आंख में मिर्च पाउडर डालकर फरार हो गया था। इस एनकॉउंटर के बाद अब मुज़फ्फर नगर के बदमाश बदहवास है आज भी खतौली के कोतवाल पीतम सिंह 12 हजार के जानू को ढेर कर दिया है
संकट मोचक बबलू कुमार ने भी सहारनपुर में एनकाउन्टर का खाता खोला
सहारनपुर रेंज के शामली ओर muzaffarnagar के पुलिस कप्तान एनकाउन्टर कर रहे थे तो सहारनपुर एसएसपी बबलू कुमार की टीम इनामी बदमाशो को पकड़ रही थी लेकिन अब संकट मोचक कहे जाने वाले बबलू कुमार की टीम ने भी 15 हजारी को यमलोक भेज दिया है सहारनपुर "पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि 15 हजार का इनामी शमशाद खलासी लाइन एरिया में मौजूद है। जिसके बाद सदर बाजार और क्राइम ब्रांच पुलिस टीम मौके पर पहुंच गई। पुलिस को देखते ही शमशाद के साथी ने पुलिस पर फायरिंग करना शुरू कर दिया। जवाब में पुलिस ने भी फायरिंग की। फायरिंग में शमशाद को गोली लगने पर वो गंभीर रूप से घायल हो गया, जब पुलिस उसको जिला अस्पताल ले जा रही थी अस्पताल ले जाते समय रास्ते में शमशाद की मौत हो गई
सहारनपुर रेंज को छोडकर पूरे सूबे में लखनऊ और आज़मगढ़ जनपदों में ही एनकाउन्टर में बदमाश हुए ढेर
लखनऊ पुलिस ने भी दो बदमाशो का विकेट गिराया
लगातार चल रहे एनकाउन्टर एपिसोड में आईजी लखनऊ जय नारायण सिंह और लखनऊ के एसएसपी दीपक कुमार भी सामने आए उन्होंने लखनऊ में एक इनामी को मार गिराया तो जल्दी ही दूसरा गुडवर्क फिर उनके खाते में जुड़ गया पुलिस ने फरार शातिर अपराधी सुनील शर्मा को पुलिस मुठभेड़ में मार गिराया। सुनील शर्मा लखनऊ में सीरियल किलर के नाम से कुख्यात सलीम-सोहराब के लिए काम करता था। सुनील शर्मा अमीनाबाद के सभासद पप्पू पांडेय की हत्या का आरोपी था। सुनील जेल से लखनऊ के व्यापारियों से वसूली करता था। करीब एक महीने पहले वह पेशी पर आया था और कोर्ट के बाहर से फरार हो गया था। तभी से पुलिस को उसकी तलाश थी अपराधी का व्यापारियों से वसूली का बड़ा आतंक था। इसके डर से कोर्ट में इसके विरुद्ध मुकदमों में में गवाह गवाही देने के लिए नही आ पाते थे। सुनील शर्मा लखनऊ में सलीम रुस्तम-सोहराब गैंग का यह शार्प शूटर था। सुनील का हत्या जैसा अपराध करना मामूली बात थी। इस अपराधी पर 15000 रु का इनाम भी घोषित था।
आज़मगढ़ में ट्रिपल एनकॉउंटर
2009 बेंच के अफसर अजय साहनी ने आज़मगढ़ जाने के बाद बदमाशो के खिलाफ अभियान शुरू किया सबसे पहले उन्होंने जयहिंद यादव को शूट किया उसके बाद 50 हजार के इनामी सुमित बुढ़वा को एनकाउन्टर में ढेर कर दिया विगत दिवस भी उनकी टीम ने इनामी पासी को यमलोक का रास्ता दिखाकर अपने आला अफसरों की वाहवाही लूटी

epmty
epmty
Top