पुलिस का सोशल फेस - जब मंदबुद्धि बुजुर्ग की थानेदार अजय कुमार ने की सेवा

पुलिस का सोशल फेस - जब मंदबुद्धि बुजुर्ग की थानेदार अजय कुमार ने की सेवा

मुजफ्फरनगर। जैसा बाॅस होता है, वैसे ही मातहत भी बन जाते हैं। एसएसपी अभिषेक के बाद अब उनके अधिनस्थ थानाध्यक्ष ने मानवता की ऐसी मिसाल कायम की है, जिससे पुलिस का मानवीय चेहरा पूरी तरह जनता के बीच स्पष्ट हो गया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव के नेतृत्व में जहां मुजफ्फरनगर पुलिस अपराधियों का काल बनी हुई हैं वही आम लोगो की सेवा कर मिसाल भी पेश कर रही हैं।




हुआ यूं कि सिखेड़ा थानाध्यक्ष अजय कुमार 12 अगस्त को बकरीद के मौके पर मुजफ्फरनगर-जानसठ मार्ग पर गश्त करते समय गांव के मेन रोड पर सायं लगभग 7.30 बजे एक बुजुर्ग को नग्न हालत में बेसहाय देखा, उसके शरीर पर कपडे तक नहीं थे। उन्होंने गाडी रूकवाकर बुजुर्ग से पूछताछ की तो पता चला कि वह दिमागी रूप से कमजोर हैं, वेे बुजुर्ग को तुरंत अपनी गाड़ी में बैठाकर सिखेड़ा थाने ले आए। नग्न बुजुर्ग की हालत भी सही नहीं थी।

थानाध्यक्ष ने तुरंत कॉल कर डॉक्टर को बुलाकर उन्हें उपचार दिलाया। इसके बाद बुजुर्ग को पहले पानी पिला कर तसल्ली से बैठाया फिर खाना खिलाकर बुजुर्ग से उनका नाम व पता जानने का प्रयास किया।

थानाध्यक्ष ने कपड़े मंगा कर बुजुर्ग को अपने हाथों से पहनाये और खाना खिलवा कर थाने में ही लिटाया। सिखेड़ा थानाध्यक्ष ने आसपास के मौजूद लोगों को इन बुजुर्ग के बारे में सूचना दी और इनके परिजनों को ढूंढने का प्रयास कर रहे हैं।





थानाध्यक्ष अजय कुमार ने इस बुजुर्ग की तस्वीर सोशल मीडिया पर भी शेयर की, ताकि इसके परिवार के लोगों को पता लग सके कि बुजुर्ग कहां हैं। जब काफी तलाश के बाद भी इस बुजुर्ग के परिवार का पता नहीं चल पाया तो थानाध्यक्ष अजय कुमार ने सिखेड़ा गांव की मस्जिद के जिम्मेदार लोगों के सुपुर्द कर दिया और उन्हें जिम्मेदारी दी कि जब तक उनके परिवार का पता नहीं चलता आप लोग इनकी देखरेख करें।


सिखेड़ा थानाध्यक्ष की इस मानवीय कार्यशैली को देखकर क्षेत्र के लोग भी जमकर वाहवाही कर रहे हैं।

epmty
epmty
Top