Top

CM ने पूरी की लोगो की मुराद बनेगी डेड लेन सड़क

CM ने पूरी की लोगो की मुराद बनेगी डेड लेन सड़क

देहरादून। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को हटाने के लिये मुख्य कारण बनी नन्दप्रयाग-घाट सड़क को डेढ़ लेन करने सम्बन्धी शासनादेश अब जल्द जारी हो जाएगा। गुरुवार को वर्तमान मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने सड़क को डेढ़ लेन करने की मांग कर रहे नंदप्रयाग घाट क्षेत्र के ग्रामीणों की मुराद पूरी कर दी।

तीरथ सिंह रावत ने इस सड़क के चौड़ीकरण के लिए आज घोषणा कर दी। इसके लिए संबंधित विभाग को निर्देश भी जारी हो गए हैं। पदभार संभालने के बाद मुख्यमंत्री ने यह एक अहम फैसला लिया है, जिसकी मांग के लिए स्थानीय ग्रामीण आंदोलन कर रहे थे।

क्षेत्र की इस मांग को लेकर क्षेत्रीय विधायक मुन्नी देवी शाह ने मुख्यमंत्री से मुलाकात की और उन्हें वस्तुस्थिति से अवगत कराया। उन्होंने बातया कि सिंगल लेन सड़क होने के कारण नंदप्रयाग घाट क्षेत्र के ग्रामीणों को भारी परेशानियां उठानी पड़ रही हैं। उन्होंने बताया कि संकरे मार्ग पर दुर्घटनाओं का खतरा रहता है। कहा कि ग्रामीणों की मांग जायज है।

इस समस्या पर संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने समस्या का समाधान कर, थराली विधान सभा के अंतर्गत आने वाले नंदप्रयाग से घाट बाजार तक की सड़क को डेढ लेन करने की घोषणा कर दी है। इसके लिए वित्त एवं नियोजन से लेकर लोक निर्माण विभाग को भी कार्रवाई के निर्देश जारी कर दिए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके लिये जनता सबसे बढ़कर है। जो जनता चाहेगी और जो जनता के हित में होगा वह किया जाएगा। जनहित में हर मुमकिन काम किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि जनपद चमोली के नंद्रप्रयाग घाट क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले करीब 70 गांवों के ग्रामीण अपने विकास खंड की सड़क को डेढ़ लेन करने की मांग को लेकर आंदोलनरत हैं। सड़क से हजारों लोगों के हित जुड़े हैं। मार्च महीने में गैरसैंण में आयोजित बजट सत्र के मध्य शांतिपूर्ण तरीके से विधानसभा भवन पर प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया था। इस घटना की शिकायत केंद्र सरकार से भी की गई थी। समझा जाता है कि त्रिवेंद्र सिंह रावत को पद से हटाए जाने में यह घटना एक प्रमुख कारण था।

आज मुख्यमंत्री से इस सम्बन्ध में मिलने वालों में ब्लॉक प्रमुख घाट भारती देवी फरस्वाण, जिला पंचायत सदस्य बूरा वार्ड 25 नन्दिता रावत, मण्डल अध्यक्ष घाट खिलाप सिंह नेगी, ज्येष्ठ प्रमुख घाट अब्बल सिंह कठैत, सामाजिक कार्यकर्ता त्रिभुवन सिंह फरस्वाण, पूर्व क्षेत्र पंचायत सदस्य राकेश रावत तथा कर्नल हरेन्द्र सिंह भी उपस्थित थे।

वार्ता



epmty
epmty
Top