योगीमय हुई कांवड़ यात्रा, गूँज रहा गाना रंग जमा दिया योगी ने , डीजे बजवा दिया योगी ने

योगीमय हुई कांवड़ यात्रा, गूँज रहा गाना   रंग जमा दिया योगी ने , डीजे बजवा दिया योगी ने

लखनऊ। उत्तराखंड के हरिद्वार से गंगाजल लेकर उत्तर प्रदेश के मुज़फ्फरनगर , सहारनपुर , शामली, बागपत, मेरठ , गाज़िआबाद जिलों से होकर गुजर रहे शिव भक्त कांवड़िये इस बार इतिहास रच रहे है क्यूंकि इतिहास की यह पहली कांवड़ यात्रा है जिसमे किसी मुख्यमंत्री का गुणगान करने वाले गाने डीजे कांवड़ पर बज रहे है और शिव भक्त कांवड़िये उस पर मस्ती से झूम रहे है वो मुख्यमंत्री है योगी आदित्यनाथ | पिछली कई सरकारों में कांवड़ यात्रा के दौरान डीजे बजाने पर पाबंदी के आदेश जारी होते रहे मगर शिवभक्त कांवड़ियों की भक्ति हर बार ऐसे आदेशों को दरकिनार कर शिवमय होकर डीजे कांवड़ यात्रा लेकर चलते रहे अब जब उत्तर प्रदेश में हिन्दू ह्रदय सम्राट कहे जाने वाले योगी आदित्यनाथ की भाजपा सरकार है तो तो डीजे पर रोक लगाने की बात करने की कोई हिमाकत नहीं कर सका है इसलिए कांवड़ियों के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हीरो बने हुए है वहीँ हेलीकाप्टर से शिवभक्त कांवड़यो पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पुष्प वर्षा ने शिवभक्तों का दिल जीत लिया है तभी तो डीजी कांवड़ पर गीत गूँज रहा है रंग जमा दिया योगी ने , डीजे बजवा दिया योगी ने, अखिलेश ने डीजे बंद करवाया था , 2017 में कांवड़ियों ने उन्हें हरवाया था , रंग जमा दिया योगी ने ...........

बता दें कि साल 2018 में उत्तर प्रदेश में मुख्मयंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल की दूसरी कांवड यात्रा श्रावण मास में अपने चरम पर पहुंचने लगी हैं। नौ अगस्त को शिवरात्रि पर्व के अवसर पर भगवान आशुतोष का जलाभिषेक करने के लिए हरिद्वार से दिल्ली तक हाईवे पूरी तरह से केसरिया हो चुका है। हरिद्वार से गंगा की जलधारा को कंधों पर उठाकर शिव की महिमा का गुणगान करते हुए शिवभक्तों का रैला चलायमान है। कांवड़ यात्रा में वैसे तो भक्ति और राष्ट्रवाद को प्रदर्शित करने का सिलसिला केन्द्र में साल 2014 में नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा की प्रचंड जीत के बाद से ही बना हुआ है, लेकिन साल 2018 का सावन नये कीर्तिमान स्थापित कर रहा है। हरिद्वार से लेकर दिल्ली तक कांवडियों का रैला योगी-योगी की धुन पर नचता थिरकता नजर आ रहा है। हाथों में तिरंगा, जिस्म पर भोलेनाथ के नाम की भस्म और कंधों पर गंगा जल लिये ये सैलाब उत्तर प्रदेश के मुख्मयंत्री योगी आदित्यनाथ के कामकाज की प्रशंसा किये बिना भी नहीं रह पा रहा है। इन दिनों कांवड यात्रा में बड़ी डीजे कांवडों ने लोगों का आकर्षित कर रखा है। इन कांवडों के आकर्षण में आधी रात तक गांवों-नगरों के साथ ही हाईवे पर बाबा भोलेनाथ की आस्था में भारी भीड़ जमी नजर आती है। इन्हीं डीजे कांवडों पर जब मुख्मयंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल में शिवभक्तों पर बरस रही कृपा का गुणगान कर कांवडिये थिरकते हैं तो एक अलग ही वातावरण पैदा हो रहा है। डीजे कांवडों पर इन दिनों ये गाना खूब बजता सुनाई देता है, ''रंग जमा दिया योगी ने, कांवड में डीजे बजवा दिया योगी ने। जब अखिलेश ने डीजे बन्द करवाया था, तब 2017 में कांवडियों ने अखिलेश को हराया था।'' ये गीत उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री येागी आदित्यनाथ के कार्यशैली को भी साबित करने का काम कर रहा है। इसमें कोई दो राय नहीं है कि हिन्दुत्व की बिसात पर योगी आदित्यनाथ साल 2017 से अब तक सभी पर भारी पड़े हैं। कांवड यात्रा को उन्होंने राज्य विधानसभा के चुनाव में भी मुख्य एजेंडे पर रखा और अपनी पहली कांवड यात्रा के दौरान ही उन्होंने बिना रोक टोक के उत्तर में प्रवेश के बाद यहां से रवानगी तक शिवभक्त कांवडियों को अपनी आस्था शिव शंकर के प्रति प्रकट करने के लिए पूरी व्यवस्था उपलब्ध कराई। यही कारण है कि 2018 की कांवड यात्रा में भाजपा के एजेण्डे में मुख्य रूप से शामिल भगवान राम के आराध्य देव भगवान शिव की महिमा का गुणगान करने के साथ ही शिवभक्त मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रति भी कृतज्ञा प्रकट करना नहीं भूल रहे हैं।

हेलीकाप्टर से शिवभक्त कांवड़यो पर योगी आदित्यनाथ की पुष्प वर्षा

इसके साथ ही पहली बार उत्तर प्रदेश में किसी मुख्यमंत्री के द्वारा आसमां से फूल बरसाकर शिवभक्तों का ऐतिहासिक स्वागत कर इस केसरिया सैलाब को अभिभूत कर रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के प्रमुख अफसरों के माध्यम से कांवड मेला शुरू होने से पहले ही ये संदेश जनता तक पहुंचा दिया था कि आसमां से इस बार शिवभक्तों पर फूलों की बारिश होगी। बीते दिन जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नोएडा में स्थित गौतमबुद्धनगर विश्वविद्यालय में एक कार्यक्रम शामिल होने पहुंचे तो यहां से उन्होंने शिवभक्तों की भक्ति का रूप देखने के लिए उड़ान भरी। हिंडन एयरबेस से हेलीकाॅप्टर लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांवड मार्ग पर सुरक्षा बंदोबस्तों का जायजा लिया। वो मुरादनगर गंगनहर की पटरी से खतौली मोड तक निरीक्षण कर वापस हिंडन एयरबेस लौट गये। इस अनोखे सफर पर मेरठ जोन के एडीजी प्रशांत कुमार भी उनके साथ रहे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हैलीकाॅप्टर से कांवडियों पर पुष्पवर्षा कर उनका स्वागत किया। इस दौरान मेरठ, गाजियाबाद और मुजफ्फरनगर के अधिकारी कांवड मार्ग पर डेला रहे। ये पहली बार है जबकि उत्तराखंड के हरिद्वार से दिल्ली प्रदेश तक उत्तर प्रदेश के किसी मुख्यमंत्री के काम का गुणगान करते हुए कांवडिया अपनी यात्रा को अंजाम तक पहुंचा रहा है।

सेहत

Top