भाजपा नेता और उत्तरी दिल्ली नगर निगम की मेयर प्रीति अग्रवाल के भ्रष्टाचार की फेहरिस्ट CBI को सौंपी

भाजपा नेता और उत्तरी दिल्ली नगर निगम की मेयर प्रीति अग्रवाल के भ्रष्टाचार की फेहरिस्ट CBI को सौंपी

भाजपा को चुनौती, मेयर पद पर प्रीति अग्रवाल की नियुक्ति को अगर आगे नहीं बढ़ाते हैं तो जनता से माफ़ी मांगे भाजपा:दिलीप पांडे
दिल्ली : निगम से जुड़ा हुआ एक बहुचर्चित विषय जिसमें भ्रष्टाचार के आरोप उत्तरी दिल्ली नगर निगम की मेयर और बीजेपी नेता प्रीति अग्रवाल पर सीधे आरोप हैं। हमने कई बार जनता के बीच में उस मामले के सुबूत रखे हैं और उनके इस्तीफ़े की मांग की, हैरानी की बात है कि जब मेयर साहिबा पर आरोप लगे तो मेयर प्रीति अग्रवाल उल्टा आम आदमी पार्टी के ख़िलाफ़ ही मानहानी का नोटिस भेज रही हैं।

हम मेयर को बताना चाहते हैं कि आम आदमी पार्टी किसी डिफ़ेमेशन नोटिस या कोर्ट केस से डरने वाली नहीं है और मेयर साहिबा हमें इस तरह के नोटिस भेजकर डराने का प्रयास ना करें। हम प्रीति जी और भारतीय जनता पार्टी को कहना चाहेंगे कि चाहे हमें फांसी पर लटका दें या फिर जेल में डाल दें लेकिन हम उनके भ्रष्टाचार के खिलाफ़ आवाज़ इसी तरह से उठाते रहेंगे।

उत्तरी दिल्ली नगर निगम में नेता विपक्ष और आम आदमी पार्टी के पाषर्द राकेश कुमार ने प्रीति अग्रवाल के अनेकों भ्रष्टाचार के सुबूतों के साथ सीबीआई में शिकायत की है-



मुख्यत: इस शिकायत में 6 बिंदु रखे हैं जिसे लेकर मेयर साहिबा की शिकायत सीबीआई में की गई है-

बहुचर्चित टेंडर घोटाला जिसमें मेयर कमरे में अनाधिकृत तौर पर घुसकर टेंडर की प्रक्रिया को प्रभावित करके उस ठेके को अपनी फेवर की कम्पनी को दिलाने का प्रयास करती हैं जिसके तहत अपनी पसंदीदा ठेकेदारों को पार्किंग साइट्स को दिलाने को दिलाने का प्रयास मेयर साहिबा की तरफ़ से होता है
दूसरा मामला एक बड़े टेंडर से जुड़ा है जहां शहनाई बैंक्वट हॉल को कम लीज़ मूल्य पर दिए जाने का मामला है, यहां भारी अनियमितताएं बरती गईं और निगम के कोष को नुकसान पहुंचाया गया।
सरस्वती स्पोर्ट्स कॉम्पलैक्स के संचालन एंव रख-रखाव के लिए दिए जाने वाले ठेके में घोटाला
ठोस कूड़े को एकत्रित करके सैनेट्री लैंड-फ़िल साइट तक पहुंचाने के लिए दिए गए ठेके की अवधि 3 वर्ष पहले ख़त्म हो जाने के बावजूद भी 3-3 महीने के लिए ठेके का विस्तार करते हुए अभी तक जारी रखने में किए जा रहे घोटाले का मामला
रिठाला मेट्रो स्टेशन के नज़दीक मैसर्स ए. पी. वंडरर्स द्वारा बनाई जा रही बहुमंज़िला ईमारत में उपर की तीन मंज़िलों का अवैध रुप से निर्माण करवाए जाने में व्याप्त भ्रष्टाचार
पीतमपुरा स्थित शिवा मार्केट में पार्किंग बनाने के लिए प्लॉट के ई-ऑक्शन में हुए घोटाले का मामला।
आज हमने इन सभी बिंदुओं समेत मेयर से जुड़े दूसरे भ्रष्टाचार के मामलों की सीबीआई से शिकायत की है और हम उम्मीद करते हैं कि जिस प्रकार से आम आदमी पार्टी के ख़िलाफ़ बिना सुबूत के ही तमाम जांच एजेंसियां तुरंत सक्रिय हो जाती है और कार्रवाई करती हैं ठीक उसी तरह से अब उत्तरी नगर निगम में मेयर और भाजपा नेता के ख़िलाफ़ भी उतनी ही तत्परता से एक्शन में आते हुए कार्रवाई करेगी।


दिलीप पांडे ने साथ ही भाजपा को चुनौती देते हुए कहा कि 'हम भारतीय जनता पार्टी को चुनौती देते हैं कि अगर बीजेपी को लगता है कि प्रीति अग्रवाल ने भ्रष्टाचार नहीं किया है तो भाजपा उत्तरी दिल्ली नगर निगम की मेयर प्रीति अग्रवाल को मेयर पद पर दोबारा नियुक्त करके दिखाए

और अगर भाजपा मेयर पद पर प्रीति अग्रवाल को रिपीट नहीं करती है तो क्या ये मान लिया जाए कि नए चेहरे और नई उड़ान के नाम पर भाजपा ने दिल्ली के लोगों को धोख़ा दिया है? और भाजपा ये माने कि उसने जनता से विश्वासघात किया है जिसके लिए भाजपा दिल्ली की जनता से माफ़ी मांगे।

सेहत

Top