Top

शामली में गुड़ पुलिसिंग के लिए कप्तान अजय का एजेंडा

शामली में गुड़ पुलिसिंग के लिए कप्तान अजय का एजेंडा

शामली । 2011 बैच के आईपीएस अफसर अजय कुमार शामली जनपद के कप्तान की कमान संभालने के बाद से लगातार गुड पुलिसिंग के लिए प्रयासरत है और उनकी कोशिश अपना काम भी कर रही है वो चाहे महिला सशक्तिकरण के लिए पुलिस की पाठशाला चलाना हो या ऑपरेशन शिकंजा चलाकर अपराधियों को बड़ेघर रवाना करना या फिर नशे के कारबारियों को नेस्तानाबूद करने के लिए सख़्त रूख अख्तियार कर अभियान चलाकर बड़ी मात्रा में डोडा, अवैध शराब बरामद होना हो अजय कुमार शामली में पुलिस को एक्टिव मोड़ में लेकर चल रहे है। आईपीएस अजय कुमार ने विवेचनाओं में गुणवत्ता लाने , शिकायती पत्रों के निस्तारण में तेजी लाने, यातायात व्यवस्था दुरुस्त करने के साथ साथ पुलिस की कार्यशैली में बदलाव लाने की भी मुहिम चला रखी है इसी कड़ी में कप्तान अजय कुमार ने शामली पुलिस को 16 बिंदुओं का एक फ़रमान जारी कर उसपर काम करने की हिदायत दी है क्या है उनके 16 बिन्दु आइये जानते है।

शामली पुलिस उत्तर-प्रदेश सरकार की प्राथमिकताओं के अनुक्रम में जनपद शामली में पुलिस अधीक्षक शामली अजय कुमार द्वारा निम्न प्राथमिकताएँ निर्धारित कर सभी से सख़्ती से अनुपालन कराया जा रहा है

सत्यनिष्ठाः- जनपद में नियुक्त समस्त राजपत्रित अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों एवं अन्य समस्त पुलिस बल की सत्यनिष्ठा संदिग्ध न होकर उच्चकोटि की होनी चाहिए।

यातायात व्यवस्थाः- जनपद में विशेष रुप से नगरीय क्षेत्र में यातायात व्यवस्था में सुधार की तत्काल आवश्यकता है। इसके लिए यातायात व्यवस्था ड्यूटी में नियुक्त कर्मियों को निर्देशित किया जाय। इसके अतिरिक्त स्थानीय थाना प्रभारी एवं चौकी प्रभारियों तथा अन्य पुलिस बल का भी पूर्ण दायित्व है कि उनके क्षेत्रान्तर्गत यातायात की समस्या उत्पन्न न होने पाए।

लूट/स्नैचिंगः- लूट एवं स्नैचिंग की घटनाएं घटित नहीं होनी चाहिए। इसके लिए प्रभावी पिकेट एवं गश्त आदि की व्यवस्था सुनिश्चित की जाय। यदि लूट या स्नैचिंग की घटना घटित हो जाती है तो घटना का अनावरण करते हुए संबंधित अपराधियों की गिरफ्तारी एवं माल की बरामदगी सुनिश्चित की जाए।

एण्टी रोमियो स्क्वायड- जनपद एवं थाना स्तर पर गठित एण्टी रोमियो स्क्वायड द्वारा स्कूल, कालेजों, महिला छात्रावासों, भीड़-भाड़ वाले बाजारों, माल्स के आस-पास, कोचिंग सेण्टरों पर पैनी नजर रखी जाय एवं स्कूल कालेजों के खुलने एवं बंद होने के समय प्रभावी कार्यवाही की जाय एवं इसे ''आपरेशन अस्मिता'' के नाम से जाना जाए।

महिलाओं के विरुद्ध अपराधः- महिलाओं के विरुद्ध अपराध घटित नहीं होने चाहिए। यदि इस संबंध में कोई सूचना प्राप्त होती है तो तत्काल कार्यवाही की जाय।

जनता के प्रति व्यवहारः-पुलिस के व्यवहार में अपेक्षित सुधार लाया जाय। यदि जनता का कोई भी व्यक्ति अपनी समस्याओं को लेकर थाने या चौकी अथवा कार्यालय में आता है तो उसके साथ पूर्ण शालीनता का व्यवहार करते हुए उनकी समस्याओं को सुनकर समस्या के निराकरण का भरसक प्रयास किया जाय।

पुलिसजनों का टर्न आउटः- टर्न आउट पर विशेष ध्यान दिया जाय तथा प्रत्येक स्तर से साफ-सुथरी एवं मानक के अनुरुप वर्दी धारण की जाय।

कार्य-लक्ष्यः- प्रत्येक कर्मी को कार्य का लक्ष्य दिया जाय एवं उसकी समीक्षा की जाय।

अनुसूचित जाति या अनुसूचित जनजाति के व्यक्तियों की पूर्ण सुरक्षा सुनिश्चित की जाय उनके विरुद्ध अपराध घटित न होने पाये एवं यदि अपराध घटित हो जाता है तो तत्काल कार्यवाही की जाय।

आपरेशन 'पुलिस की पाठशाला' प्रत्येक माह कम से कम एक बार राजपत्रित अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों द्वारा अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत स्थित दो स्कूल कालेजों में जाकर बच्चों को ब्रीफ किया जाय एवं अपना सीयूजी नम्बर उन्हें उपलब्ध कराते हुए उन्हें बताया जाय कि पुलिस आपकी मित्र है।

शिकायती प्रार्थना पत्रों का निस्तारणः- वरिष्ठ अधिकारी स्तर से प्राप्त एवं सीधे जनता द्वारा प्रेषित शिकायती प्रार्थना-पत्रों का निस्तारण वरीयता के आधार पर एवं समयबद्ध रुप से आख्या प्रेषित की जाय। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाय।

अवैध शराब के निष्कर्षण के संबंध मेंः- किसी भी थाना क्षेत्र में अवैध शराब का निष्कर्षण एवं बिक्री नहीं होनी चाहिए। इस पर पूर्ण रुप से प्रतिबंध लगाया जाय एवं समय-समय पर वहॉ के स्थानीय नागरिकों की बैठकें कर ली जांय तथा उन्हें यह अवगत करा दिया जाय कि यदि उनके क्षेत्र में शराब बनाने की शिकायत मिलती है तो तत्काल स्थानीय पुलिस को अवगत कराये जाय।

सम्पूर्ण समाधान दिवसः- सम्पूर्ण समाधान रजिस्टर एवं थाना समाधान रजिस्टर आगामी 03 दिवस के अन्दर प्रत्येक दशा में अद्यावधि कर लिये जायं।

आईजीआरएस एवं सीएम हेल्प लाइनः- आईजीआरएस एवं सीएम हेल्प लाइन पर प्राप्त सन्दर्भो का वरीयता के आधार पर समयबद्ध ढंग से एवं गुणवत्तापूर्ण निस्तारण सुनिश्चित कराया जाय।

मॉर्निंग वॉकर चेकिंगः- प्रातःकाल टहलने निकलने के दौरान मोटरसाइकिल सवार अपराधियों द्वारा चेन स्नैचिंग की घटनाएं कारित की जाती हैं। अतः यह सुनिश्चित किया जाय कि जहॉ-जहॉ पर प्रातःकाल लोग मॉर्निंग वॉक करते हैं वहॉ पर पर्याप्त पुलिस बल की ड्यूटी लगायी जाय।

लम्बित विवेचनाओं की समीक्षा -लम्बित विवेचनाओं की समीक्षा करते हुए प्रत्येक विवेचक को टारगेट दिया जाए।

साथ ही, अपराध एवं अपराधियों पर प्रभावी नियंत्रण लगाये जाने हेतु पूर्ण मनोयोग से कार्य करते हुए शेष पुरस्कार घोषित अपराधियों की गिरफ्तारी, अनावरण हेतु शेष अभियोगों का शीघ्र अनावरण, लम्बित अभियोगों का निस्तारण एव वांछित अभियुक्तों की अतिशीघ्र गिरफ्तारी अथवा प्रभावी कार्यवाही अनुपालन सुनिश्चित किया जाए एवं यातायात व्यवस्था में सुधार सुनिश्चित किया किया जाए।

epmty
epmty
Top