Top

जिलाधिकारी ने स्टेडियम में किया हैंडबाॅल राज्य स्तरीय प्रतियोगिता का शुभारम्भ

जिलाधिकारी ने स्टेडियम में किया हैंडबाॅल राज्य स्तरीय प्रतियोगिता का शुभारम्भ

मुजफ्फरनगर 15 फरवरी 2018 : जिलाधिकारी राजीव शर्मा ने कहा कि खेल प्रतियोगिताएं व्यक्तित्व विकास के साथ ही सर्वागीण विकास में भी सहायक है। उन्होने कहा कि खेल प्रतियोगिताओं से निकल कर आने वाली प्रतिभाओं को रोजगार के अच्छे अवसर मिलते है। उन्हेाने कहा कि मुजफ्फरनगर खेल प्रतिभाओं से भरी हुई धरा है और विभिन्न खेलो में राष्ट्रीय और अन्र्तराष्ट्रीय मंच पर यहां के खिलाडी अपने जनपद का नाम रोशन कर चुके है। उन्हेाने कहा कि यहां पर हैंडबाॅल, कुस्ती,तीरदाजी की प्रतिभाएं है जो देश मे नही विदेशों मे भी अपनी प्रतिभा का लौहा मनवा चुके है।
जिलाधिकारी राजीव शर्मा आज यहां चौधरी चरण सिंह स्पोटर्स स्टेडियम मेें तीन दिवसीय राज्य स्तरीय हैंडबाॅल बालक प्रतियोगिता का शुभारम्भ कर रहे थे। यह प्रतियोगिता दिनांक 15 फरवरी से 18 फरवरी तक आयोजित की जायेगी। इस प्रतियोगिता में 17 मण्डल लखनऊ, गौरखपुर, इलाहाबाद, बनारस, फैजाबाद, आजमगढ, झांसी, बस्ती, आगरा, बरेली, मेरठ, सहारनपुर, मिर्जापुर एवं अमेठी छात्रावास की टीमें प्रतिभाग कर रही है। उन्होने बताया कि यह आयोजन खेल निदेशालय एवं उत्तर प्रदेश हैंडबाॅल प्रतियोगिता संघ के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित किया जा रहा है। जिलाधिकारी ने सभी टीमों के कैप्टन से उनका परिचय प्राप्त किया और उनकों प्रोत्साहित किया। इसके बाद हैंडबाॅल प्रतियोगिता की प्रथम पाॅली की टीमों के खिलाडियों से परिचय प्राप्त करते हुए उनकी हौसला अफजाई की।
जिलाधिकारी ने कहा कि जीवन में शिक्षा के साथ साथ खेल भी महत्वपूर्ण है। खेल के द्वारा एक नयी ऊर्जा का संचार होता है और हमें अपने लक्ष्य की और ले जाता है। उन्होने कहा कि जो प्रतिभाएं जनपदीय, मण्डलीय एवं प्रदेश स्तरीय प्रतियोगिताओं से निकलकर राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में अपने प्रदेश और देश का प्रतिनिधित्व करने है वे अपने जनपद का ही नही बल्कि राष्ट्र का गौरव भी बढाते है। उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार खेल एवं खेल प्रतिभाओं को अनेक सुविधाएं प्रदान कर रही है। उन्हेाने कहा कि अच्छे खिलाडियों के लिए रेलवे, पुलिस, सेना एवं अन्य विभागो में भी रोजगार प्रदान किये जा रहे है। उन्होने कहा कि खेल प्रतिभाओं को प्रोत्साहित किये जाने की आवश्यकता है। उन्होने कहा कि यह भी आवश्यक है कि उन्हें अच्छे प्रशिक्षक द्वारा प्रशिक्षित किया जाये।
जिलाधिकारी ने कहा कि प्रतियोगिताओं में हार या जीत महत्वपूर्ण नही है। उन्होने कहा कि जब दो टीमें खेलती है तो हारने वाली टीम के लिए एक संदेश हेाता है कि उसे और कडी मेहनत की जरूरत है। उन्होने कहा कि जीतने वाली टीम को भी शीर्ष पर रहने के लिए सतत पै्रक्टिस की जरूरत रहती है। उन्होने कहा कि प्रशासन के स्तर से खिलाडियों को जो भी मदद की आवश्यकता होगी वह उपलब्ध कराने में पीछे नही रहेगे। उन्हेानेे कहा कि मुजफ्फरनगर का एक गौरवमयी इतिहास रहा है। उन्होने कहा कि विभिन्न मण्डलो की टीम अपने प्रशिक्षकों के साथ मुजफ्फरनगर आयी है उन्हें हर सम्भव सुविधा उपलब्ध करायी जाये। उन्हें किसी प्रकार की कठिनाई का सामना न करना पडें। इसके पूर्व जिलाधिकारी को प्रतीक चिन्ह देकर सम्मनित किया गया एवं पुष्पगुच्छ भेट किया।
इस अवसर पर सिटी मजिस्ट्रेट वैभव मिश्रा एवं रीजनल स्पोटर्स आॅफिस प्रेस कुमार एवं अन्य अधिकारी गण भी उपस्थित रहे।

epmty
epmty
Top