Top

थाने पर आने वाले पीडितों की समस्याओं को संवेदनशील हेाकर सुने : आराधना शुक्ला

थाने पर आने वाले पीडितों की समस्याओं को संवेदनशील हेाकर सुने : आराधना शुक्ला

मुजफ्फरनगर : प्रमुख सचिव आराधना शुक्ला ने थाने का निरीक्षण करते हुए एनसीआर/एफआईआर रजिस्टर का भी निरीक्षण किया। अपने निरीक्षण मे पाया कि आॅनलाईन जीडी मेनटेन की जा रही है। आगंतुकों के लिए थाने में शौचालय बनवाया गया है। इसके अतिरिक्त सभाकक्ष का निर्माण कराया गया है। 72 रजिस्टर मेनटेन किये जा रहे है।
प्रमुख सचिव ने निर्देश दिये कि त्यौहार रजिस्टर में काॅलम खाली छोडे गये है यह उचित नही है यदि किसी त्यौहार पर घटना हुई है तो उसका ब्यौरा और शांतिपूर्ण सम्पन्न हुआ है तो उसका भी ब्यौरा दर्ज किया जाये। थाना क्षेत्र में 29 गांव है और 662 शस्त्र लाईसेंस। उन्होने ग्राम रजिस्टरों का भी अवलोकन किया। प्रमुख सचिव ने निर्देश दिये कि शस्त्र विक्रेताओं की भी चैकिंग करायी जाये कि शस्त्र लाईसेंसधारियो को कितने कार्टेज बेचे गये और कितने खाली कार्टेज जमा कराये गये और उनका उपयोग कहां हुआ इसका भी ब्यौरा रखा जाये। सभी लाईसेंस धारकों के फोटो रजिस्टर पर चस्पा किये जाये और इनका सत्यापन भी कराया जाये। इसके अलावा असलाह नवीनीकरण रजिस्टर का भी अवलोकन किया और निगरानी चार्ट देखा। थाने पर 59 हिस्ट्रीसीटर दर्ज है। उन्होने कहा कि इनकी मासिक उपस्थिति थाने पर कराना सुनिश्चित किया जाये।
प्रमुख सचिव ने निगरानी रजिस्टर का अवलोकन करने पर निर्देश दिये कि संवेदनशील हेाकर कार्यवाही करेें। हिस्ट्रीसीटर रजिस्टर के पेज अस्त व्यस्त पाये जाने पर कडी नाराजगी व्यक्त करते हुए पेजो को लेमिनेट कराये जाने के निर्देश दिये। उन्होने माल गृह और कम्प्यूटर कक्ष का भी निरीक्षण किया। इसके साथ ही थाने से सटी नर्सरी का भी निरीक्षण किया और उसकी सराहना की।
प्रमुख सचिव ने रोडवेज डिपो खतौली का भी निरीक्षण किया। उन्हेाने निर्देश दिये कि बसो की हालत में सुधार लाया जाये। विशेष तोर से डग्गामार वाहनों पर कार्यवाही किये जाने के निर्देश क्षेत्रीय प्रबन्धक को दिये। उन्होने कहा कि यात्रियों की सुविधाओं के लिए हर सम्भव प्रयास किये जा रहे है। उन्होने कहा कि नयी बसे क्रय की जा रह है और संचालन का दायरा भी बढाया जा रहा है। बस डिपो की खस्ता हालत पर उन्होने डिपों प्रभारी को कडी फटकार लगायी। उन्होने कार्यशाला का भी निरीक्षण किया और प्रत्येक कर्मचारी से उनके कार्य कलापों के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होने ठीक की गयी कई बसो का मुआयना किया और कडी नाराजगी जाहिर करते हुए कार्य में सुधार के लिए चेतावनी दी। वर्कशाप काफी छोटा है डिपों के पास 70 बसे संचालित है 42 लोगो का स्टाफ है। वर्कशाप में छोटे मोटे कार्य डेंटिंग, पेंिटंग तथा शीशे आदि बदलना तथा बडे कार्य क्षेत्रीय वर्कशाप सहारनपुर में सम्पन्न हेाते है। बसो में फस्र्ट एडबाक्स न लगे होने पर आरएम एवं एआरएम को कडी फटकार लगायी। उन्हेाने बताया कि फस्र्ट एडबाक्स का सामान वाहन चालक अपने बैंग में लेकर चलते है।
प्रमुख सचिव आराधना शुक्ला ने कहा कि गन्ना किसानो को कोई असुविधा नही होनी चाहिए। उन्होने कहा कि घटतौली पाये जाने पर सम्बन्धित तौल लिपिक के विरूद्ध कडी कार्यवाही अमल मे लायी जायेगी। उन्होने कहा कि गन्ना किसानो को 14 दिन के अन्दर भुगतान कराना सुनिश्चित कराया जाये। उन्होने कहा कि किसानों की हर सम्भव सुविधाओं का ध्यान क्रय केन्द्रो पर रखा जाये। प्रमुख सचिव ने निर्देश दिये कि किसानो को क्रय केन्द्र पर बैठने, स्वच्छ पेयजल आदि की सुविधा उपलब्ध करायी जाये। उन्हेाने बांटो का वजन रखकर क्रय केन्द्र के बारे में जानकारी ली कि कही घटतौली तो नही हो रही है। प्रमुख सचिव ने जिला गन्ना अधिकारी को निर्देश दिये कि नियमित रूप से भ्रमणशील रहकर क्रय केन्द्रो पर गन्ना तौल की जांच करते रहे। उन्होने कहा कि किसानो का उत्पीडन बर्दाश्त नही किया जायेगा।
प्रमुख सचिव आराधना शुक्ला आज यहां मंसूरपुर चीनी मिल के गन्ना क्रय केन्द्र सुजडू का औचक निरीक्षण कर रही थी। उन्हेाने कहा कि किसान कडी मेहनत के बाद अपने गन्ने को क्रय केन्द्रो पर लाता है उनके साथ मधुर व्यवहार दिया जाये और गन्ने की घटतौली न की जाये। उन्होने कहा कि क्रय केन्द्रो से समय से ही गन्ने का उठान कराया जाये। इसके बाद प्रमुख सचिव ने मंसूरपुर थाने का निरीक्षण भी किया। उन्होने निर्देश दिये कि थाने पर आने वाले पीडितों की समस्याओं को संवेदनशील हेाकर सुने और उनका निराकरण करें। उन्होने कहा कि थानाध्यक्ष अपने स्टाफ के साथ साप्ताहिक बैठक करना सुनिश्चित करे। प्रमुख सचिव ने निर्देश दिये कि पीडित को न्याय मिले और उनकी प्राथमिकी दर्ज की जानी चाहिए। उन्होने कहा कि पुलिस अपना सूचना तंत्र मजबूत करे। ग्राम चैकीदारो के साथ बैठक करना सुनिश्चित किया जाये और उनसे फीडबैक ली जाये। उन्होने कहा कि अपराधियो पर अंकुश लगाया जाये और उनको उनकी सही जगह सलाखों के पीछे भेजा जाये। उन्होने आगन्तुक रजिस्टर देखा। इसके अतिरिक्त उन्होने निर्देश दिये कि सभी घटनाओं/शिकायतों को रजिस्टर मे अंकित किया जाये।
प्रमुख सचिव ने अपने निरीक्षण में पाया कि बसो की मरम्मत का स्तर ठीक नही है। सर्विस मैनेजर को कडी फटकार लगायी। उन्होने यूपी 32 -11 टी के अन्दर जाकर बस के हालात देखे जो कि संतोष जनक नही पाये। इसी प्रकार अन्य बसो को भी देखा। प्रमुख सचिव ने आरएम को निर्देश दिये कि एक माह नियमित रूप से डिपो पर बैठकर हालात ठीक करें।
प्रमुख सचिव ने विकास खण्ड कार्यालय खतौली का निरीक्षण किया और आॅनलाईन तथा आॅफलाईन शिकायतों के निस्तारण की स्थिति की जानकारी प्राप्त की। उन्होने कहा कि शिकायतें पेंडिंग न रखी जाये उनका सत्यापन कराया कर जिला स्तर पर फाॅरवर्ड की जाये। प्रमुख सचिव ने टूर रजिस्टर का अवलोकन किया। इसके अतिरिक्त जे0ई0 के निरीक्षण के सम्बन्ध में स्थिति की जानकारी ली। बायोमैट्रिक उपस्थिति कराया जा रही है और उपस्थिति रजिस्टर भी रखा गया है। उन्हेाने मनरेगा फीडिंग मस्टररोड के कार्य भी देखे। ई-मस्टररोड उसी दिन जारी होते है नये कार्य बीडीओ लेविल पर जनरेट किये जाते है। 5 लाख तक के कार्य की स्वीकृति बीडीओ द्वारा की जाती है। इस वर्ष का लेविल बजट 183 लाख के सापेक्ष 111 लाख खर्च होना बताया गया । एडीओ को भ्रमण रजिस्टर ठीक नही पाया गया। इसके अतिरिक्त एडीओ के इस्पेक्शन रिपोर्ट की पत्रावली भी नही मिली। विकास खण्ड कार्यालय में 84 गांव है। प्रमुख सचिव ने निर्देश दिये कि ग्राम पंचायतों के रजिस्टर मेनटेन हो रहे है या नही और खुली बैठके करायी जा रही है इनका पूरा विवरण रखा जाये। उन्होने निराश्रित, वृद्धावस्था एवं दिव्यांग पेशन की भी समीक्षा की। उन्होने कहा कि सभी पात्रों को पेंशन दिलाना सुनिश्चित किया जाये। उन्हेाने कहा कि इसका कोई लक्ष्य निर्धारित नही है। उन्होने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाये कि केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार की सभी जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ समाज के आखिरी पायदान पर बैठे व्यक्ति को मिले।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनन्तदेव तिवारी, एसपी सिटी, जिला गन्ना अधिकारी एवं अन्य सभी सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

epmty
epmty
Top