Top

भूमाफियाओं को चिन्हित कर कठोर कार्यवाही अमल में लाई जाये : आराधना शुक्ला प्रमुख सचिव

भूमाफियाओं को चिन्हित कर कठोर कार्यवाही अमल में लाई जाये : आराधना शुक्ला प्रमुख सचिव

मुजफ्फरनगर : प्रमुख सचिव परिवहन/जनपद की प्रभारी अधिकारी आराधना शुक्ला ने विकास भवन में कानून व्यवस्था व विकास कार्यो की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिये कि शासन की मंशा के अनुरूप अपराधियों पर शिंकजा कसा जाये और जघन्य अपराधों केा जड से समाप्त किया जाये। उन्होंने कहा कि इस दिशा में सकारात्मक कार्य हुए हैं और बडी संख्या में अपराधियों को सलाखों के पीछे भेजा गया है। उन्होने कहा कि अपराधों को रोकने के लिए सभी आवश्यक उपाय किये जाये व एक्शन टेकन प्लान बनाया जाये।
प्रमुख सचिव आराधना शुक्ला ने कहा कि विवेचनात्मक कार्यवाही में तेजी लाई जाये जिससे अपराधों पर अंकुश लगाया जा सके। उन्होने कहा कि इस कार्य मे किसी भी प्रकार की उदासीनता न बरती जाये। उन्होने यातायात व्यवस्था की समीक्षा करते हुए कहा कि ऐसा माहौल बनाये और सतत प्रयास करे कि लोग स्वंय हेलमेट पहना शुरू करे और सीट बैल्ट का उपयोग करे। उन्होने निर्देश दिये कि भू माफिया नही पनपने चाहिए। उन्होने कहा कि यदि कोई घटना प्रकाश में आती है तो भू माफियाओं को चिन्हित कर कठोर कार्यवाही अमल ले लाई जाये।
प्रमुख सचिव/ नोडल अधिकारी आराधना शुक्ला ने विकास कार्याे की समीक्षा करते हुए अधिकारियो को निर्देश दिये कि सभी अधिकारी केन्द्र सरकार एवं प्रदेश सरकार की संचालित सभी योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्ति तक पहुचाना सुनिश्चत करे। उन्होने कहा कि ग्राम वासियों को बिजली की आपूर्ति, पेयजल एवं अन्य सभी आवश्यक बुनियादी सुंविधाएं उपलब्ध कराई जाये। उन्होेने राष्ट्रीय आजीविका मिशन के अन्तर्गत समूह को रिवाल्विंग फंड आदि की जानकारी प्राप्त की । उनहोने कहा कि मनरेगा योजना के अन्तर्गत ग्रामवासियों को जिनके जॉब कार्ड बने है, उन्ही से कार्य कराया जाये। उन्होने निर्देश दिये कि शासन की योजनाए कैसी चल रही है, जमीनी हकीकत से रूबरू होने के लिए अधिकारी ग्रामवासियों से सीधे सम्पर्क करे।
प्रमुख सचिव ने निर्देश दिये कि अधिकारियों की टीम गठित कर यह सुनिश्चत कराया जाये कि नहरों की टेल तक पानी पहुचाया जा रहा है। उन्होने इसके लिए टीम गठित किये जाने के निर्देश दिये। इसके अतिरिक्त जिला गन्नाधिकारी को समय सीमा के अन्तर्गत गन्ना भुगतान कराये जाने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि किसानों केा किसी भी प्रकार की समस्या नही आनी चाहिए। उन्होने कृषि विभाग केा निर्देश दिये कि किसानों का सब्सिडी युक्त उपकरण एवं खाद्य व बीज उलब्ध कराये जाये। उन्होने कहा कि किसान गोष्ठियो के आयोजन के ओयाजन कराये जाये जिससे उन्हे कम लागत पर अधिक फसल प्राप्त कर सके। उन्होने सभी विभागो के अधिकारियों को क्रमिक लक्ष्य के सापेक्ष क्रमिक उपलब्धिया शतप्रतिशत करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि वित्तीय स्वीकृति के अनुरूप वित्तीय वर्ष के शेष माहों में निर्माणाधीन परियोजनाओं के कार्य पूर्ण करे। उन्होने कहा कि विकास येाजनाएं तेजी के साथ चलाई जाये और पूर्ण परियोजनाओ केा सम्बन्धित विभाग केा हस्तगत कराया जाये। उनहोने विकास कार्यो से सम्बन्धित सभी विभागोे की गहनता से समीक्षा की।
प्रमुख सचिव ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि विकास कार्यो मे किसी भी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नही की जायेगी। उन्होने कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप सभी अधिकारी शासन द्वारा संचालित समस्त योजनाओं का लाभ समाज के पात्र व्यक्तियों तक पहुंचायें। उन्होने कहा कि जनपद में किये जा रहे विकास/निर्माण कार्यो का निरीक्षण स्वंय भी करें और थर्ड पार्टी निरीक्षण कराना सुनिश्चित करें। उन्होने ने कहा कि विकास कार्य समय सीमा के अन्तर्गत तथा मानकों के अनुसार गुणवत्तापूर्ण ढंग से पूर्ण कराये। प्रमुख सचिव ने यह भी निर्देश दिये कि सभी विभाग यह भी सुनिश्चित कर ले कि उनकी जमीन पर कही अवैध कब्जे और अतिक्रमण न हो यदि कहीं अवैध कब्जे की शिकायत है तो उसे तुरन्त हटवाना सुनिश्चित किया जाये। उन्हेाने कहा कि दूर दराज के क्षेत्रों में चिकित्सा सेवाओं का लाभ जन मानस को मिले। उन्होने कहा कि संस्थागत प्रसवों को बढावा दिया जाये।
प्रमुख सचिव ने छात्रवृति योजना की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि जिला विद्यालय निरीक्षक संस्थावार समीक्षा करे कि कितने बच्चों ने छात्रवृति के लिए ऑनलाईन आवेदन किये है। इसके अतिरिक्त प्रमुख सचिव द्वारा वृद्धाव्यस्था पेंशन की भी समीक्षा की गयी। उन्होने निर्देश दिये कि वृद्धावस्था पेंशन में लक्ष्य निर्धारित नही है सभी पात्रों को आवेदन कराकर योजना का लाभ दिया जाना सुनिश्चित करे। उन्होने कहा कि सभी बीडीओ अपने सचिवों को निर्देश दे कि सभी पात्र वृद्धो को ऑन लाईन आवेदन कराये और इस जन कल्याणकारी योजना का लाभ पात्रों को दिया जाना सुनिश्चित कराये।प्रमुख सचिव ने पी0डब्ल्यू0डी0 विभाग द्वारा सड़को को गड्ढा मुक्त करने एवं लक्षित मार्गाे के निर्माण की समीक्षा की। उन्होने पाईप पेयजल परियोजना की भी समीक्षा की। उन्होने परियोजनाओं की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि कार्य में तेजी लाते हुए परियोजनाओं को पूर्ण कराया जाना सुनिश्चित कराया जाये। उन्होने पिछली योजना के विद्यायक निधि फन्ड से स्थापित हैंडपम्पों के बारे में भी जानकारी ली।प्रमुख सचिव ने प्रधानमंत्री सडक योजना की समीक्षा के अतिरिक्त गड्ढा मुक्ति का कार्य, यूनिफार्म एवं किताबो के वितरण की समीक्षा की। प्रमुख सचिव ने शिक्षकों की उपस्थिति पर विशेष ध्यान दिये जाने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि पूर्ण स्वीकृत अवकाश न होने की स्थिति में अनुपस्थित पाये जाने वाले अध्यापकओ के विरूद्ध कार्यवाही की जाये।
प्रमुख सचिव ने विद्युत आपूर्ति सहित ट्रासफार्मर बदले जाने की भी समीक्षा की। उन्होने कहा कि कैम्प लगाकर सभी ग्राम वासियों को नये कनेक्शन दिये जाये। उन्होने कहा कि जो लोग कनेक्शन नही लेगे उनसे प्रमाण पत्र प्राप्त किया जाये। प्रमुख सचिव ने किसान पारदर्शी योजना, मृदा परीक्षण, खाद की उपलब्धता एवं यूरिया की कमी को पूर्ण कराये जाने तथा फसली ऋण योजना के अन्तर्गत आये प्रार्थना पत्रों पर कार्यवाही किये जाने के भी निर्देश दिये। उन्होने प्रधानमंत्री आवास योजना एवं मनरेगा तथा राशन वितरण की भी समीक्षा की। उन्होने यह भी निर्देश दिये कि किसी विभाग की भूमि पर भू-माफियो द्वारा यदि कब्जा है तो उसे तत्काल हटाया जाये और सरकार की मंशा के अनुरूप सरकारी जमीन, ग्राम समाज की भूमि, चकरोड, चरागाह एवं तालाब आदि पर अवैध कब्जा नही होना चाहिए। उन्होने कहा कि यदि कही कब्जे की शिकायत है तो एफ0आई0आर दर्ज कराकर प्रभावी कार्यवाही अमल मे लाई जाये।
प्रमुख सचिव ने कहा कि नहरों में टेल तक पानी पहुचना चाहिये। उन्होने कहा कि मनरेगा से पैसे की मांग करायी जाये और कार्य कराये जाये। उन्होने कहा कि सिंचाई विभाग के जो नाले अनलिस्टिड है उन्हेाने अपने मुख्यालय स्तर से लिस्टिड कराये और उनकी भी सफाई होनी चाहिए। प्रमुख सचिव ने सम्पूर्ण समाधान दिवस के सम्बन्ध में निर्देश दिये कि शिकायतों के निस्तारण की गुणवत्ता की क्रास चैकिंग करा ली जाये। उन्होने चकबंदी वादो के निस्तारण पर भी बल दिया। उन्होने निर्देश दिये कि आईजीआरएस पोर्टल पर प्राप्त शिकायतों का निस्तारण समयबद्ध ढंग से करना सुनिश्चित किया जाये और कोई भी शिकायत लंबित न रखी जाये।
इस अवसर पर जिलाधिकारी जी0एस0 प्रियदर्शी, मुख्य विकास अधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल, अपर जिलाधिकारी वित्त एंव राजस्व सियाराम मौर्य, पुलिस अधीक्षक क्राइम, सहित सभी जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

epmty
epmty
Top