Top

चुनाव आयोग का फैसला राष्ट्रपति ने भी सही ठहराया केजरीवाल निराश

चुनाव आयोग का फैसला  राष्ट्रपति ने भी सही ठहराया केजरीवाल निराश

नयी दिल्ली : आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को राष्ट्रपति के पास भी राहत नहीं मिली और चुनाव आयोग के फैसले को राष्ट्रपति ने भी सही ठहराया है। इसके बाद केजरीवाल ने हताश होकर आरोप लगाया है कि दिल्ली के विधायकों को अयोग्य करार देने का फार्मूला छत्तीसगढ़ में क्यों नहीं लागू किया गया। आम आदमी पार्टी इस मामले को लेकर अब सुप्रीम कोर्ट जाएगी।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को लाभ के पद पर स्वीकार करते हुए चुनाव आयोग के फैसले को बरआम आदमी पार्टी इस मामले को लेकर अब सुप्रीम कोर्ट जाएगी।करार रखा। चुनाव आयोग ने इन विधायकों को अयोग्य घोषित कर दिया है।
अब मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल कहते हैं कि छत्तीसगढ़ के 11 संसदीय सचिव अयोग्य क्यों नहीं घोषित किये जा रहे हैं। आम आदमी पार्टी के सदस्यों ने गत 21 जनवरी को छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में प्रदर्शन कर राज्यपाल बलराम दास टंडन को ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन में कहा गया कि जब दिल्ली के 20 संसदीय सचिवों को चुनाव आयोग ने अयोग्य घोषित कर दिया है तो छत्तीसगढ़ के 22 संसदीय सचिव अयोग्य क्यों नहीं घोषित किये जाते हैं
आम आदमी पार्टी के प्रदेश संयोजक डा. संकेत ठाकुर के नेतृत्व में पार्टी के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों ने प्रदर्शन कर संसदीय सचिवों को अयोग्य ठहराने और मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह से इस्तीफे की मांग की है।

epmty
epmty
Top