Top

वित्तीय प्रबन्धन का लाभ विभागीय कार्यों में परिलक्षित होना चाहिए : राजेश अग्रवाल

वित्तीय प्रबन्धन का लाभ विभागीय कार्यों में परिलक्षित होना चाहिए : राजेश अग्रवाल

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने वित्त एवं लेखा अधिकारियों का आहवान किया है कि वे विभागों में वित्तीय अनुशासन एवं वित्तीय प्रबन्धन बनाये रखने पर विशेष जोर दें। इसके साथ ही अपने दायित्वों का इस प्रकार निर्वहन करें, जिससे कार्यों में पारदर्शिता सुनिश्चित हो और किसी स्तर पर वित्तीय अनियमितता की सम्भावना न हो। उन्होंने कहा कि इन अधिकारियों की वित्तीय मामलों में विशेषज्ञता हासिल होती है, इसलिए उन्हें वित्तीय प्रबन्धन में भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण हो जाती है। इसका लाभ सरकारी कामकाज में परिलक्षित होना चाहिए।
वित्त मंत्री उ0प्र0 वित्त एवं लेखा सेवा के वार्षिक अधिवेशन को गन्ना संस्थान में मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित कर रहे थे। इस अधिवेशन में उ0प्र0 वित्त एवं लेखा सेवा के प्रदेश भर से आये अधिकारियों ने भाग लिया। उन्होंने वित्त एवं लेखाधिकारियों के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि उन्हें वित्तीय अनुशासन बनाये रखते हुए बिना दबाव के अपने दायित्वों का निर्वाह करना चाहिए। इसके साथ ही विभागीय कार्यों में हर स्तर पर पारदर्शिता तथा शुचिता बनाये रखने पर जोर देना चाहिए।
अधिवेशन के विशिष्ट अतिथि वित्त आयुक्त एवं प्रमुख सचिव, वित्त संजीव मित्तल ने वित्त एवं लेखाधिकारियों के कार्यों को अति महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि वित्तीय अनुशासन बनाये रखने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने वित्त एवं सेवा संघ के मांग पत्र पर सहानुभूतिपूर्वक विचार किये जाने का अश्वासन दिया। इसके साथ ही विभागीय पदोन्नतियों के संबंध में घोषणा करते हुए कहा कि आगामी चयन वर्ष 2018-19 की डी.पी.सी. मई-जून 2018 तक सम्पन्न कराई जायेगी।
प्रमुख सचिव वित्त ने कहा कि वित्त विभाग में आधुनिक सूचना एवं संचार का अधिक से अधिक प्रयोग किया जाना चाहिए। इसके अलावा वित्त एवं लेखाधिकारियों को इस नवीनतम तकनीकी से लैश होना चाहिए। उन्होंने इस सेवा के अधिकारियों की व्यावहारिक कठिनाईयों को दूर करने का आश्वासन देते हुए कहा कि उनके दायित्व निर्वहन में आने वाली विभिन्न प्रकार की कठिनाईयों को दूर करने के लिए पूरी सुरक्षा एवं संरक्षण दिया जायेगा। उन्होंने इस सेवा के समस्त अधिकारियों को सचिवालय का स्थायी प्रवेश पत्र जारी कराये जाने का भी आश्वासन दिया।
उक्त अधिवेशन में संघ के अध्यक्ष श्री मुकुल अग्रवाल, महामंत्री संजय सिंह, प्रकाशन सचिव ×± निवास त्रिपाठी सहित अन्य पदाधिकारियों ने मंत्री सहित प्रमुख सचिव वित्त का स्वागत किया। इस मौके पर वित्त एवं लेखा संघ के अधिकारियों ने वित्तीय दायित्वों, अधिकारों, कर्तव्यों आदि कार्यों पर प्रकाश भी डाला गया तथा अपने सेवा संबंधी मामलों को भी रखा।

epmty
epmty
Top