Top

सांसद एवं विधायक तथा जिलाधिकारी ने किया पीओएस मशीन का उद्घाटन

सांसद एवं विधायक तथा जिलाधिकारी  ने किया पीओएस मशीन का उद्घाटन

मुजफ्फरनगर। सांसद डाॅ0 संजीव बालियान ने कहा कि जिन तालाबों के सुदृढीकरण/सौन्दर्यकरण का कार्य हुआ है उनका विधानसभा वार सूची बनाकर विधायको एवं सांसद का उपलब्ध करायी जाये। उन्होने कहा कि गांवों मे विकास कार्यो के लिए जो पैसा भेजा जा रहा है उसका पूर्ण विवरण दीवारों पर अंकित कराया जाये। इसके अतिरिक्त मनरेगा में कार्य कर चुके पंजीकृत मजदूरों की सूची भी चस्पा करायी जाये। उन्होने निर्देश दिये कि सोलर लाईट लगाये जाने में शिकायतें प्राप्त हुई है। उन्होने कहा कि अच्छे कार्यो की कार्य योजना बनायी जाये। उन्होने कहा कि ऐसी ग्राम पंचायतों जिनमें 70 प्रतिशत कार्य सोलर लाईट स्थापना का किया गया है उसकी जांच के लिए बनायी गयी तीन सदस्य समिति ने अभी तक 4 महीने बीत जाने के बाद भी अपनी रिपोर्ट उपलब्ध नही करायी। इसके सम्बन्ध में शासन केा पत्र लिखा जाये। सांसद ने निर्देश दिये कि सफाईकर्मी गांवो में जाये और सफाई व्यवस्था में सुधार हो। उन्होने कौशल विकास मिशन के संचालित केन्द्रों को देखने के लिए जनप्रतिनिधियों से जाने के अपेक्षा की।
सांसद डाॅ0 संजीव कुमार बालियान आज यहां विकास भवन में जिला विकास समन्वय व निगरानी समिति (दिशा) की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होने कहा कि मनरेगा में पैसे की कोई कमी नही है मनरेगा के पैसे से जनपद में तालाबों का जीर्णोद्धार/खुदाई, वृक्षारोपण,भूमि समतलिकरण आदि के कार्य कराये जाये। उन्होने बताया कि वर्ष 2017.18 में मनरेगा योजना के अन्तर्गत 201 तालाबों का चयन किया जा चुका है। जिनमंे 194 की वर्क आईडी जनरेट करते हुए 157 तालाबों पर कार्य किया जा रहा है। उन्होने बताया कि अभी तक 20 तालाबो का कार्य पूर्ण कराया जा चुका है। सांसद ने कहा कि ग्रामवासियांे को यह पता नही चल पाता है कि किस योजना के लिए गांव में कितनी धनराशि आयी है। उन्होने निर्देश दिये कि ग्रामसभा की बैठकों की फोटोग्राफी कराकर भेजे तथा वाॅल राईटिंग कराये।
सांसद एवं विधायक तथा जिलाधिकारी जी0एस0 प्रियदर्शी द्वारा पीओएस मशीन का भी उद्घाटन किया गया। उन्हेाने बताया कि जनपद में कुल 319 मशीनें स्थापित करायी गयी है। जनपद में पीओएस मशीन की आपूर्ति श्रीराम द्वारा 86 व पीपीएल द्वारा 253 व एक मशीन इफको द्वारा आपूर्ति की गयी है। इस प्रकार कुल 340 मीशन उपलब्ध हुई है। गन्ना समितियों द्वारा 32 केन्द्र संचालित है जिसमें 15 पर पीओएस मशीन उपलब्ध है। सकारिता विभाग द्वारा 51 केन्द्रो पर मशीनों की स्थापना की जा चुकी है। श्रीराम द्वारा 86 के सापेक्ष 68 मशीन निजी केन्द्रो पर स्थापित करायी गयी है जबकि 18 मशीन में स्टाफ फिडिंग का कार्य अपशेष है। पीपीएल द्वारा 253 के सापेक्ष 188 मशीन गन्ना ,सकारिता एवं निजी केन्द्रेा पर स्थापित करायी गयी है इनमंे 45 मशीनों में स्टाफ फिडिंग का कार्य अवशेष है।
सांसद ने समीक्षा में पाया कि कौशल विकास मिशन के अन्तर्गत सात केन्द्रो पर विभिन्न टेªडो में प्रशिक्षण दिया जा रहा है। उन्होने बताया कि 14 से 35 वर्ष आयु वर्ग के युवक/युवती अपनी मन चाही ट्रेड में प्रशिक्षण ले सकते है। उन्होने कहा कि इसका कोई लक्ष्य निर्धारित नही है आवश्यकता लक्ष्य बढाया जा सकेगा। उन्होने बताया कि दिसम्बर 2017 तक समूह गठन का लक्ष्य 135 के सापेक्ष 184 खाते खोलें गये और रिवाल्विंग फंड 90 के लक्ष्य के सापेक्ष 182 समूह को आर0एस0 दिया गया और सीसीएल के लक्ष्य 90 के सापेक्ष 102 सीसीएल हुआ जो लक्ष्य का 113 प्रतिशत है। उन्होने बताया कि पंडित दीनदयाल ग्रामीण कौशल योजना के अन्तर्गत भी डीपीएमयू कार्यालय द्वारा इच्छुक युवाआंे का पंजीकरण कराया जा रहा है। उन्हेाने बताया कि 3 प्रशिक्षण प्रदाताओ को जनपद मेें प्रशिक्षण केन्द्रो खोलने हेतु आवंटित किया गया है इसमे दो प्रशिक्षण केन्द्र खोल दिये गये है जिनमें युवाओ का प्रशिक्षण कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है। जिलाधिकारी जी0एस0 प्रियदर्शी ने बताया कि एक लाख से ऊपर के कार्य के लिए ई-टेण्डर की व्यवस्था है। उन्हेाने बताया कि भारत सरकार के जैम पोर्टल के माध्यम से बिना किसी परेशानी के सामान क्रय किया जा सकता है। उन्होने डीपीआरओ को ग्राम प्रधानों की एक बैठक भी आयोजित करने के निर्देश दिये। उन्होने ग्रामों मे विकास कार्यो का दीवार पर अंकन कराकर रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश डीपीआरओ को दिये। इसके अतिरिक्त गंावों में सफाई कर्मियों की उपस्थिति सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिये। उन्हेाने निर्देश दिये कि जनहित गारंटी कार्यक्रम के अन्तर्गत निर्धारित समय सीमा पर लोगो को सभी आवश्यक प्रमाण पत्र जनसेवा केन्द्रो के माध्यम से उपलब्ध कराये जाये। उन्हेानेे कहा कि यह भी शिकायत मिली है कि जनसेवा केन्द्रो द्वारा मनमानी फीस वसूली जा रही है। इस पर जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी एवं डीएफओ को निर्देश दिये कि शिकायत प्राप्त हेाने पर छापेमारी की जाये। जिलाधिकारी ने सांसद को अवगत कराया कि जनपद को ओडीएफ किया जा चुका है। स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत सराहनीय कार्य हुआ है। इसके अतिरिक्त अमृत योजना की भी समीक्षा की। बैठक में विधायक कपिल अग्रवाल, विधायक उमेश मलिक, विधायक विजय कश्यप, विधायक विक्रम सैनी, मुख्य विकास अधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल सहित चेयरमैन नगर पालिका परिषद सहित बडी संख्या में जनप्रतिनिधि एवं जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

epmty
epmty
Top