शहर की सफाई व्यवस्था को और अधिक दुरुस्त किया जाए : प्रमुख सचिव

प्रमुख सचिव ने शहर की सफाई व्यवस्था का किया निरीक्षण

मुजफ्फरनगर प्रमुख सचिव कृषि/नोडल अधिकारी अमित मोहन प्रसाद ने आज तहसील सदर का निरीक्षण करते हुए अभिलेखागार, भूलेख कक्ष का निरीक्षण करते हुए प्रार्थना पत्रों के निस्तारण की स्थिति की समीक्षा की। उन्होने राजस्व अभिलेखागार मे बस्ता खुलवाकर प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि में किसानों से प्राप्त घोषणपत्रों एवं खसरा, पेशानी का बारीकी से निरीक्षण किया। उन्होने ई कम्प्यूटर कक्ष, न्यायालय तहसीलदार न्यायिक कक्ष, न्यायालय तहसीलदार सदर कक्ष, संग्रह अनुभाग में जाकर बडे बकायेदारों की जानकारी प्राप्त की। उन्होने कहा कि बडे बकायेदारों से वसूली की जाये। इसके पश्चात उन्होने बीआरसी सैन्टर का निरीक्षण किया। उन्होने निर्देश दिये कि खतौली व विरासत के मामले लम्बित न रखे जाये तत्काल उनका निस्तारण कराया जाये। उन्होने कोर्ट रूम का निरीक्षण करते हुए कहा कि पुराने वादों का निस्तारण कराया जाये। उन्होंने कहा कि अदम पैरवी में खारिज मुकदमें का नया नम्बर नही होना चाहिएं। इसके पश्चात प्रमुख सचिव ने तहसील सदर के प्रांगण में जामुन का पौधा लगाकर वृक्षारोपण भी किया।




प्रमुख सचिव ने शहर की सफाई व्यवस्था का निरीक्षण करते हुए गाजीवाली पुलिया से रैदासपुरी वार्ड नम्बर 1 की गलियों में स्थानीय लोगो से सफाई व्यवस्था के बारे में बात की। उन्होने नागरिकों से प्लास्टिक व पाॅलिथिन प्रयोग न करने की अपील करते हुए कहा कि सभी अपने घर के आस पास स्वंय भी सफाई अभियान चलाये ताकि शहर स्वच्छ रहे। अनावश्क गंदगी न करे। गीले व सूखे कचरे के लिए अलग अलग डस्टबिन का प्रयोग करे। उन्होने ई ओ को निर्देश दिये कि शहर की सफाई व्यवस्था को और अधिक दुरूस्त कराया जाये। सभी जगह सफाई व्यवस्था ठीक होनी चाहिए।



इसके पश्चात उन्होंने सरवट ग्राम में जाकर पेयजल परियोजना का निरीक्षण किया। निरीक्षण में उन्होने ग्राम वासियों को दिये जा रहे पानी में क्लोरिन की मात्रा की जांच, कितनी क्लोरिन पानी में डाली जाती है और किस प्रकार की जाती है का परीक्षण अपने सामने कराया। जल निगम की अधिकारी ने निरीक्षण के दोरान बताया कि इस परियोजना से 6500 कनैक्शन दिये गये है। इस परियोजना का अभी थेाडा सा कार्य शेष है जो शीघ्र ही पूर्ण हो जायेगा। इसके पश्चात यह परियोजना ग्राम सभा केा हैण्डओवर कर दी जायेगी। प्रमुख सचिव ने कहा कि इसके रखरखाव के लिए यूजर चार्ज लिया जाये जिसे ग्राम प्रधान इक्कठा करे। उन्होने कहा कि पानी के मीटर भी लगाये जाये।


इस अवसर पर जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे, मुख्य विकास अधिकारी आलोक यादव, अपर जिलाधिकारी प्रशासन अमित सिंह, एसडीएम सदर अनुज मलिक, तहसीलदार पुष्कर नाथ चौधरी सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित थे।

सेहत

Top