कमिश्नर और डीआईजी ने पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के साथ कानून व्यवस्था सम्बन्धी समीक्षा बैठक कर दिये दिशा निर्देश

कमिश्नर और डीआईजी ने पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के साथ कानून व्यवस्था सम्बन्धी समीक्षा बैठक कर दिये दिशा निर्देश

अयोध्या प्रकरण पर उच्च न्यायालय के फैसले के दृष्टिगत कानून व्यवस्था हेतु जनपद में 4 सुपर जोन, 8 जोन व 20 सैक्टर,67 सब जोन में बनाये गये


अधिकारी दिन रात भ्रमणशील रहेगे, फुट पैट्रोलिग, नाईट पैट्रोलिंग व चैकिंग अभियान तत्काल शुरू करे


एसडीएम व सीओ सभी ग्रामों का भ्रमण करे, बैठक करे और अराजकतत्वों को मुचलका पाबन्द करे


सोशल मीडिया पर भ्रामक प्रचार, टिप्पणी जो वर्गो को प्रभावित करती हो


उस पर तत्काल कडी कार्यवाही कर जेल की हवा खिलाई जायेगी


मुजफ्फरनगर अयोध्या प्रकरण पर उच्चतम न्यायालय के आने वाले फैसले के दृष्टिगत आज जिला पंचायत सभागार में आयुक्त सहारनपुर संजय कुमार व डीआईजी उपेन्द्र अग्रवाल ने पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के साथ कानून व्यवस्था सम्बन्धी समीक्षा बैठक कर अधीनस्थों को दिशा निर्देश दिये।





आयुक्त संजय कुमार ने स्पष्ट निर्देश दिये कि किसी भी स्तर पर फैसला आने के बाद क्षेत्र में माहौल बिगड़ने ना दिया जायेगा। यदि कहीं पर कोई घटना होती है तो वहां पर तैनात किये गये अफसरों की जिम्मेदारी तय करतेे हुए कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि हर छोटी से छोटी घटना और मामले को लेकर भी सतर्कता बरती जाये। सबसे संवेदनशील सोशल मीडिया है, इसके लिए सतर्क दृष्टि बनायी रखी जाये। क्षेत्र के जिम्मेदार लोगों को साथ लेकर काम किया जाये। सभी को इस बात के लिए तैयार किया जाये कि उच्चतम न्यायालय का जो भी फैसला हो उसका सभी सम्मान करेगे। किसी भी स्तर पर संयम नहीं खोयेंगे।


उन्होने निर्देश दिये कि अयोध्या प्रकरण में आने वाले फैसले के दृष्टिगत शांति और कानून व्यवस्था को पुलिस प्रशासन कायम रखेगा और पूरी तरह से अलर्ट रहेगा। उन्होने पुलिस प्रशासन की ओर से की जा रही तैयारियों को परखा और आवश्यक दिशा निर्देश दिये। दोनों आला अफसरों ने स्पष्ट किया कि किसी भी सूरत में माहौल ना बिगड़ने दिया जाये। सोशल मीडिया पर सतर्क दृष्टि बनाने के साथ ही लोगों को सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ सुप्रीम कोर्ट से आने वाले हर फैसले का सभी सम्मान करेगे, इसके लिए भी गांव गाव, शहर कस्बों में जनसंवाद किया जाये। शांति समिति की बैठक की जाये। लोगो को इसके लिए जागरूक किया जाये, खासकर युवाओं को समझाया जाये। उन्होने कहा कि खुराफात करने वालों से सख्ती से निबटा जायेगा। आयुक्त ने कहा कि कहा कि जनपद में कहीं पर भी उक्त फैसले के आने के बाद कोई हर्ष व शोक का सार्वजनिक आयोजन न होने दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि यदि कोई सोशल मीडिया पर भ्रामक प्रचार किया जाता है तो सम्बंधित के विरुद्व तत्काल एफआईआर दर्ज करायी जाये और जेल की हवा खिलाई जाये। उन्होने कहा कि सभी एसडीएम व सीओ भ्रमणशील रहे और गांव गावं जाकर बैठक करें।





डीआईजी उपेन्द्र अग्रवाल ने कहा कि उच्चतम न्यायाालय के निर्णय को लेकर गलत मैसेज डालने वालों पर कड़ी कार्यवाही की जाये। सोशल मीडिया के अलावा छोटे से छोटे ग्रुपों पर भी निगरानी रखी जाये। सोशल मीडिया में आने वाले मैसेजों चाहे वह हिन्दी, अंग्रेजी, उर्दू में हो अथवा किसी भाषा में डाली जा रही हो सभी पर नजर रखी जाये। निर्णय आने पर चैराहों पर जश्न नही मनाया जायेगा। न ही कोई विजय जुलूस निकाला जायेगा। कोई भी व्यक्ति किसी के पक्ष में आपत्तिजनक पोस्टर, बैनर नही लगायेगा। सभी समुदाय के लोग उच्चतम न्यायालय के फैसले का सम्मान करेंगे। उन्होने कहा कि जनपद में किसी भी दशा में साम्प्रदायिक सौहार्द न बिगडने पाये। निर्णय चाहे जो भी हो, जनपद में कंही पर भी किसी तरह की कोई समस्या न होने पाये।






जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव ने समीक्षा बैठक में अवगत कराया किया फैसले को लेकर सतर्कता के दृष्टिगत जनपद को 4 सुपर जोन, 8 जोन, 20 सैक्टर तथा 67 सब सेक्टर में बांटा गया है। उपस्थित सभी जोनल और सैक्टर प्रभारियों को निर्देशित किया गया है कि वह अपने अपने क्षेत्रों को लगातार भ्रमणशील रहेगे। जिलाधिकारी ने अधिकारियेां को हिदायत देते हुए कहा कि सोशल मीडिया पर कोई भी व्यक्तिगत टिप्पणी न की जाये। इस बात का विशेष रूप से ध्यान रखा जाये।

बैठक में जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे.एसएसपी अभिषेक यादव, एडीएम प्रशासन अमित सिंह, एडीएम वित्त एवं राजस्व आलोक कुमार, सीओ सिटी डाॅ. दीक्षा शर्मा, सीओ मण्डी हरीश भदौरिया सहित सभी एसडीएम, सीओ, प्रशासनिक और जिला स्तरीय अधिकारी तथा थाना व चौकी इंचार्ज उपस्थित रहे।

Top