Top

बेटी पढ़ाओ के हिमायती हैं इकराम कस्सार

बेटी पढ़ाओ के हिमायती हैं इकराम कस्सार

सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ आवाज बुलन्द करने व वर्तमान में सरकार द्वारा चलाये गये महिला सशक्तिकरण की मंशा के अनुरूप बालिका पढ़ाओ, बालिका बचाओं अभियान के सशक्त हस्ताक्षर बने जमीतुल उलेमा-ए-हिन्द के विगत बीस सालों से जिला कोषाध्यक्ष मौहम्मद इकराम कस्सार ने हाईस्कूल तक ही शिक्षा प्राप्त करने के बावजूद अपनी तीनों बेटियों को उच्च शिक्षा दिलायी है। बालिका शिक्षा के प्रबल हिमायती मौहम्मद इकराम कस्सार ने अपनी बड़ी बेटी को बीएड़, मंझली बेटी को बीएससी और छोटी बेटी को इंटर तक की शिक्षा दिलायी है।






व्यवसायी घराने में पैदा हुए मौहम्मद इकराम कस्सार ने हमेशा सामाजिक कुरीतियों की खिलाफत की है। उन्होंने अपने संगठन जमीतुल उलेमा हिन्द सहित सेकुलर फ्रंट व पैगामे इंसानियत के साथ मिलकर समाज मे शिक्षा का प्रसार करने और सामाजिक कुरीतियों का सफाया करने का बीड़ा उठा रखा है। समाज में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए उन्होंने बच्चों की निशुल्क शिक्षा के लिए एक मदरसा भी अपने खर्च पर ही संचालित कर रखा है, इसके लिए वे किसी सरकारी सहायता, चन्दे या फीस पर आश्रित नहीं हैं। उन्होंने बताया कि मदरसे में दीनी और दुनियावी तालीम का निःशुल्क इंतजाम किया गया है, जिसमें लगभग 50 बच्चे शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि वे इस मदरसे को जूनियर हाईस्कूल के रूप में उच्चीकृत करना चाहते हैं और इसके लिए उन्होंने प्रयास भी आरम्भ कर दिये हैं।






विगत 40 वर्षों से जमीतुल उलेमा हिन्द के सक्रिय पदाधिकारी व वर्तमान में 20 वर्षों से संगठन के जिला कोषाध्यक्ष मौहम्मद इकराम कस्सार ने खोजी न्यूज को बताया कि समाजसेवा उनके खून में है। उनके परिवार के लोग समाजसेवा में अग्रणी रहे हैं। उनके भाई चौधरी के यासीन कस्सार बिरादरी के सदर हैं। वे बताते हैं कि उनका रूझान राजनीति में भी है।






राजनीति में जनपद के प्रख्यात् राजनीतिज्ञ, समाजसेवी और उद्योगपति सोमांश प्रकाश उनके आदर्श हैं और विगत 20 वर्षों से वे उनके ही साथ है। राजनीति की एबीसीडी उन्होंने सोमांश प्रकाश से ही सीखी है और वर्तमान में शहर कांग्रेस के उपाध्यक्ष पद पर आरूढ़ हैं। एक प्रश्न के जवाब में मौहम्मद इकराम कस्सार ने बताया कि कांग्रेस का संगठन विभिन्न कारणों से कमजोर हो गया है, जिस कारण आज पार्टी वर्तमान हालत में पहुंच गयी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस संगठन में जमीनी स्तर के जुझारू लोगों को जोड़ने की जरूरत है। वे बताते हैं कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में राहुल गांधी सबसे उपयुक्त चेहरा हैं। मौहम्मद इकराम कस्सार का कहना है कि राहुल गांधी बेहद अच्छे, जुझारू और एक्टिव नेता हैं और पार्टी को ऐसे ही अध्यक्ष की जरूरत है। उन्होंने खोजी न्यूज के माध्यम से राहुल गांधी से अपील की है कि वे पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद पुनः ग्रहण करें।




गंगा-यमुना के दोआब में मुजफ्फरनगर की जिस जमीन पर पैदा हुए लोग पडौसी देश पाकिस्तान के उच्च पदों पर आसीन हुए और देश में अपने नाम का परचम फहरा रहे हैं। उस उर्वर जमीं पर पैदा हुए मौहम्मद इकराम कस्सार आज समाज सेवा के क्षेत्र में जाना-पहचाना नाम है। वे बताते हैं कि उन्होंने 2013 के कवाल काण्ड़ के बाद बेखर हुए सैकड़ों लोगों को रहने का आश्रय देने का काम किया है। उन्होंने जमीयत के साथ मिलकर बुढ़ाना, शाहपुर व छपार के पास कालोनियां बनाकर दंगो पीड़ितों को बसाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है। इससे पूर्व वह गुजरात पीड़ितों के लिए भी जमीयत के द्वारा की गयी मदद में भी जमीयत के साथ रहे ।



दिवंगत मौलाना मेहरबान बरले वालो की प्रेरणा से समाजसेवा की ओर आकृष्ट हुए मौहम्मद इकराम कस्सार ने बताया कि उन्हें लोगों की मदद करने में संतोष प्राप्त होता है। उन्होंने कई वंचितों और जरूरतमंद गरीबों की बेटियों की शादी कराने में सहायता प्रदान की है। उन्होंने बताया कि अगर अंजाने में उनसे कोई गलती हो जाती है या किसी को दिल को ठेस पहुंचती है तो वे बिना झिझक उसे माफी मांग लेते हैं। वर्तमान मे आल इंडिया जमीतुल कस्सार के जिला प्रवक्ता पद पर कार्यरत मौहम्मद इकराम कस्सार ने बताया के समाजसेवा के क्षेत्र में सेकुलर फ्रंट के सदर गौहर सिद्दीकी व पैगाम-ए-इंसानियत के मुखिया आसिफ राही उनके प्रेरणास्रोत हैं।

epmty
epmty
Top