Top

पानी जैसी धरोहर को हमें भविष्य के लिए संचय करना होगा : जिलाधिकारी

पानी जैसी धरोहर को हमें भविष्य के लिए संचय करना होगा : जिलाधिकारी

मुजफ्फरनगर । जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने जिला पंचायत सभागार मे जल शक्ति अभियान के सम्बन्ध मे अधिकारियों, ग्राम प्रधानों व ग्राम पंचायतों के साथ समीक्षा बैठक करते हुए निर्देश दिये कि जल शक्ति अभियान केा महाअभियान के रूप में मनाया जाये। उन्होने कहा कि किसी भी स्तर पर जनपद की रैंकिग अगर विभागो की शिथिलता से कम होती है तो सम्बन्धित विभागीय अधिकारी के विरूद्व कडी कार्यवाही की जायेगी। उन्होने कहा कि जल सचंयन जैसे कार्य को हल्के में न ले। जो निर्देश दिये जा रहे है उनका शतप्रतिशत अनुपालन सुनिश्चत कराया जाये।

पानी की संचयन बहुत जरूरी है ।

जिलाधिकारी ने कहा कि पानी की संचयन बहुत जरूरी है क्योकि पीने केा पानी बहुत कम हो रहा है। गिरते भू जल स्तर को ऊपर लाने के लिए हम सबको संयुक्त प्रयास करने होगे। तभी हम आने वाली पीढी को पीने का पानी सुलभ करा पायेगे। उन्होने कहा कि स्थिति बहुत गम्भीर है सबको मिलकर प्रयास करने होगे।

जिला पंचायत सभागार में अधिकारियेां, ग्राम प्रधानों व ग्राम पंचायत सचिवों को प्रोजेक्टर के माध्यम से जल संरक्षण के उपायो व इस अभियान के अन्तर्गत किये जाने वालों कोर्या को समझाया गया।



जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने आज जनपद की पाईप पेय जल परियोजनाओं के सम्बन्ध में समीक्षा बैठक करते हुए अधिशासी अभियन्ता जल निगम को निर्देश दिये कि जनपद की सभी पेयजल परियोजनाओं की डीपीआर सम्बन्धित ग्राम प्रधानों को उपलब्ध करायी जाये।

जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे आज जिला पंचायत सभागार में ग्राम प्रधानों, ग्राम पंचायत सचिवों व अधिकारियेां के साथ पेय जल परियोजनाओं के सम्बन्ध में समीक्षा बैठक कर रही थी।

प्रधान ग्राम की पेयजल परियोजना की डीपीआर जल निगम से अवश्य प्राप्त करे।

जिलाधिकारी ने जिन ग्रामों में पेयजल परियोजनाए चल रही है उन ग्राम प्रधानों से उनके चलने के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होने कहा कि अगर कोई दिक्कत आर रही है तो वो भी बताये। ग्राम प्रधानों द्वारा पेयजल परियोजनाओं के सम्बन्ध में जानकारी देते हुए बताया कि कुछ ग्रामों में पाईप पेयजल परियोजना चल रही और कुछ ग्रामों में पूर्ण रूप से नही चल रही है। जिस पर जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता जल निगम से कहा कि ग्राम प्रधानो की समस्याओं का निराकरण कराये उन्होने कहा कि बन्द पडी पेयजल योजनाओ को तत्काल संचालित कराया जाये। उन्होने प्रधानों से कहा कि अपने अपने ग्राम की पेयजल परियोजना की डीपीआर जल निगम से अवश्य प्राप्त करे। डीपीआर चैक करने के बाद ग्राम प्रधान लिखित में पेय जल परियोजना के बारे में अवगत कराये। समीक्षा बैठक में ग्राम प्रधान सूजडू, गोयला, खांजापुर,गढी नौआबाद, सढेडी,रियावली नंगला, जडोदा, मडांवली बांगर आदि ग्रामों के प्रधानों ने अपनी अपनी बातों केा जिलाधिकारी के समक्ष रखा। ग्राम प्रधानों द्वारा काली नदी के पास के ग्रामों के पीने के पानी की जांच कराये जाने की मांग रखी गयी। जिस पर जिलाधिकारी ने जल निगम केा निर्देश दिये कि पानी की जांच कराई जाये। उन्होने कहा कि इन ग्रामों में स्वंय भ्रमण भी करेगीं। उन्होने कहा कि जहां आवश्यकता न हो वहां पेयजल परियोजना का प्रस्ताव न बनाया जाये।

जिलाधिकारी ने ग्राम प्रधानों से कहा कि जल शक्ति अभियान में अपनी पूर्ण सहभागिता करना सुनिश्चत करे। उन्होने कहा कि प्रत्येक गांव में जल शक्ति अभियान चल रहा है उसमे बढचढ कर कार्य करे।

जिलाधिकारी ने निर्देश दिये किये जाने वाले कार्यों की फीडिंग अवश्य कराई जाये। उन्होने कहा कि आपके द्वारा जो कार्य कराये जा रहे उसे दिखाया जाये। गांव में भू-जल स्तर में सुधार एवं निकट भविष्य में जलापूर्ति, भूजल स्तर को ऊपर उठाने एवं वर्षा जल संचयन के यह कार्य आवश्यक है। उन्होने कहा कि अच्छे कार्य करने वाले ग्राम पंचायत सचिव को पुरूस्कृत भी किया जायेगा।

जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने आज जनपद की पाईप पेय जल परियोजनाओं के सम्बन्ध में समीक्षा बैठक करते हुए अधिशासी अभियन्ता जल निगम को निर्देश दिये कि जनपद की सभी पेयजल परियोजनाओं की डीपीआर सम्बन्धित ग्राम प्रधानों को उपलब्ध करायी जाये।

जिलाधिकारी ने जिन ग्रामों में पेयजल परियोजनाए चल रही है उन ग्राम प्रधानों से उनके चलने के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होने कहा कि अगर कोई दिक्कत आर रही है तो वो भी बताये। ग्राम प्रधानों द्वारा पेयजल परियोजनाओं के सम्बन्ध में जानकारी देते हुए बताया कि कुछ ग्रामों में पाईप पेयजल परियोजना चल रही और कुछ ग्रामों में पूर्ण रूप से नही चल रही है। जिस पर जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता जल निगम से कहा कि ग्राम प्रधानो की समस्याओं का निराकरण कराये उन्होने कहा कि बन्द पडी पेयजल योजनाओ को तत्काल संचालित कराया जाये। उन्होने प्रधानों से कहा कि अपने अपने ग्राम की पेयजल परियोजना की डीपीआर जल निगम से अवश्य प्राप्त करे। डीपीआर चैक करने के बाद ग्राम प्रधान लिखित में पेय जल परियोजना के बारे में अवगत कराये।


इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अर्चना वर्मा, डीपीआरओ, पीडी सहित सभी सम्बन्धित अधिकारीगण, बीडीओ, ग्राम प्रधान व ग्राम पंचायत सचिव उपस्थित थे।

epmty
epmty
Top